breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

Karnataka:भाजपा के पूर्व मंत्री ईश्वरप्पा को पुलिस से क्लीन चिट,40 फीसदी कमीशन का आरोप लगा ठेकेदार ने की थी खुदकुशी

केएस ईश्वरप्पा(KS Eshwarappa)पर आरोप है कि उन्होंने एक ठेकेदार से 40 फीसदी कमीशन मांगा था और वह ठेकेदार(Contractor) मंगलवार की सुबह उड्डपी के एक लॉज में मृत मिला। ठेकेदार ने अपनी मौत से पहले एक सुसाइड नोट लिखा है,जिसमें केएस ईश्वरप्पा को अपनी मौत का जिम्मेदार बताते हुए आरोप लगाया है कि उनसे(ठेकेदार) से 40 फीसदी कमीशन मांगा गया,जिसके कारण वह पूरी तरह बर्बाद हो गया है।

Karnataka-Police-gives-clean-chit-to-ex-BJP-minister-Eshwarappa-in-contractor-suicide-case

बेंगलुरू:बीजेपी के नेतृत्व वाली कर्नाटक(Karnataka)सरकार में पूर्व पंचायत राज मंत्री केएस ईश्वरप्पा को पुलिस ने क्लीन चिट दे दी है।

पुलिस ने सबूतों का अभाव बताकर ईश्वरप्पा को कॉन्ट्रैक्टर की आत्महत्या मामले में क्लीन चिट दे दी (Karnataka-Police-gives-clean-chit-to-ex-BJP-minister-Eshwarappa-in-contractor-suicide- case)है।

आपको बता दें कि कर्नाटक(Karnataka)सरकार में पंचायत राज मंत्री केएस ईश्वरप्पा के खिलाफ ठेकेदार की मौत के मामले में एफआईआर दर्ज हो गई(Karnataka-Fir-registered-against-BJP’s-Panchayati-Raj-Minister-KS-eshwarappa-in contractor-suicide-case)थी।

पहले उन्होंने अपने पद से इस्तीफा देने से इंकार कर दिया था लेकिन अंतत:विपक्ष के दबाव के आगे उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

कर्नाटक के पूर्व मंत्री के एस ईश्वरप्पा को ठेकेदार संतोष पाटिल आत्महत्या मामले में अपराध जांच विभाग (सीआईडी) से क्लीन चिट मिलने के बाद, राज्य कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार ने बुधवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार उनके नेताओं के रिश्वत मामले को कवर कर रही है और ‘बी रिपोर्ट’ सरकार की मर्यादा बनाए रखने की चाल है।

मीडियाकर्मियों से बात करते हुए, शिवकुमार ने कहा, “संतोष पाटिल आत्महत्या मामले की जांच के दौरान, तत्कालीन मुख्यमंत्री येदियुरप्पा और गृह मंत्री ने पहले ही एक प्रमाण पत्र दिया था कि उन्हें बरी कर दिया(Karnataka-Police-gives-clean-chit-to-ex-BJP-minister-Eshwarappa-in-contractor-suicide- case)जाएगा।

http://samaydhara.com/india-news-hindi/politics/droupadi-murmu-elected-new-president-of-india-wins-presidential-election-result-2022-against-yashwant-sinha/amp/

अगर सरकार कहती है कि वे जांच से पहले निर्दोष हैं, तो वहां होगा जांचकर्ताओं पर दबाव बनाएं। सरकार की गरिमा बनाए रखने के लिए आज बी रिपोर्ट पेश की गई है। इस मामले के तथ्य सभी जानते हैं।”

 

 

 

 

 

 

जानें क्या है पूरा मामला?

आपको बता दें कि केएस ईश्वरप्पा(KS Eshwarappa)पर आरोप है कि उन्होंने एक ठेकेदार से 40 फीसदी कमीशन मांगा था और वह ठेकेदार(Contractor) मंगलवार की सुबह उड्डपी के एक लॉज में मृत मिला।

ठेकेदार ने अपनी मौत से पहले एक सुसाइड नोट लिखा है,जिसमें केएस ईश्वरप्पा को अपनी मौत का जिम्मेदार बताते हुए आरोप लगाया है कि उनसे(ठेकेदार) से 40 फीसदी कमीशन मांगा (contractor-suicide-case-alleging-40-pr-commission)गया,जिसके कारण वह पूरी तरह बर्बाद हो गया है।

ठेकेदार ने अपने सुसाइड नोट में पीएम मोदी(PM Modi),कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस.येदियुरप्पा को टैग किया है और परिवार का ध्यान रखने का आग्रह किया है।

Karnataka:बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या में 6 लोग गिरफ्तार,सबका है आपराधिक रिकॉर्ड 

विपक्षी दल ठेकेदरा की मौत के बाद से ही केएस ईश्वरप्पा (KS Eshwarappa) पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। इसके बाद पुलिस ने ईश्वरप्पा के खिलाफआईपीसी (IPC) की धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का उडुपी थाने में मामला दर्ज किया है।

लेकिन अब बुधवार को भाजपा नेतृत्व वाली कर्नाटक सरकार में पुलिस ने ईश्वरप्पा को ठेकेदार की मौत मामले में क्लीन चिट दे दी(Karnataka-Police-gives-clean-chit-to-ex-BJP-minister-Eshwarappa-in-contractor-suicide- case)है।

यह शिकायत पीड़ित के परिवार ने मंत्री के खिलाफ दर्ज कराई है।

वहीं इस घटना में ईश्वरप्पा के दो सहयोगियों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज हुई है। पुलिस के अनुसार, बेलगावी जिले के संतोष के पाटिल का शव निजी लॉज के एक कमरे में मिला था।

Breaking News कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री होंगे बसवराज एस बोम्मई

उन्होंने बताया कि उसके दोस्त उसके बगल के कमरे में ठहरे हुए थे।

खुद को भाजपा कार्यकर्ता बताने वाले पाटिल ने 30 मार्च को आरोप लगाया था कि उसने आरडीपीआर विभाग में एक काम किया था और चाहते थे कि इसका भुगतान हो, लेकिन ईश्वरप्पा ने चार करोड़ रुपये के काम में 40 प्रतिशत कमीशन की मांग की(Karnataka-Police-gives-clean-chit-to-ex-BJP-minister-Eshwarappa-in-contractor-suicide-case)थी।

मंत्री ने न केवल आरोप का खारिज किया, बल्कि उसके खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी दायर किया।

हिंदू उत्तराधिकार कानून क्या महिलाओं से करता है भेदभाव? सुुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से तलब किया जवाब

 

 

 

 

Karnataka-Police-gives-clean-chit-to-ex-BJP-minister-Eshwarappa-in-contractor-suicide-case

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button