breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति

राजनीति-वरुण गांधी की कांग्रेस में एंट्री..?राहुल-‘मैं उन्हें गले लगा सकता हूं,लेकिन…

वरुण गांधी की कांग्रेस में एंट्री के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, "वरुण गांधी ने उस (BJP-RSS की) विचारधारा को स्वीकार किया है। मैं उनसे मिल सकता हूं, उन्हें गले लगा सकता हूं, लेकिन मैं उस विचारधारा को स्वीकार नहीं कर सकता।

rahul-gandhi statement on bjp mp varun-gandhi entry in congress party

नयी दिल्ली (समयधारा) : आज देश अपना 74वां गणतंत्र दिवस मना रहा है l

वही दूसरी तरफ देश की दो बड़ी पार्टियों में नेताओं के आने-जाने का सिलसिला या यूँ कहे पार्टियों में उठापठक जोरों पर है l

पिछले दिनों कांग्रेस के कई बड़े नेता कांग्रेस को छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए है l वही दूसरी तरफ बीजेपी के भी कुछ नेताओं के बीच असंतोष की भावना पनप रही है l

इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद और चचेरे भाई वरुण गांधी (Varun Gandhi) का नाम भी आ रहा है l

जबसे उनकी कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से भारत जोड़ो यात्रा में मुलाक़ात की खबर आ रही है तब से उनकी बीजेपी से अलगाव की खबर भी लगातार सुर्खियाँ बटोर रही है l

इस बीच राहुल गांधी ने एक बार फिर साफ किया है कि दोनों की विचारधारा में मेल नहीं है।

rahul-gandhi statement on bjp mp varun-gandhi entry in congress party,
वरुण गांधी की कांग्रेस में एंट्री, राहुल ‘मैं उन्हें गले लगा सकता हूं.

वरुण गांधी की कांग्रेस में एंट्री के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, “वरुण गांधी ने उस (BJP-RSS की) विचारधारा को स्वीकार किया है।

मैं उनसे मिल सकता हूं, उन्हें गले लगा सकता हूं, लेकिन मैं उस विचारधारा को स्वीकार नहीं कर सकता।

‘भारत जोड़ो यात्रा’ में उनके आने की संभावनाओं के सवाल पर राहुल ने पंजाब के होशियारपुर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, “वो बीजेपी में हैं।

अगर वो यहां चलेंगे तो उन्हें प्रॉब्लम हो जाएगी, क्योंकि हमारी विचारधारा अलग है।

 

राहुल गांधी ने आगे कहा कि मेरी विचारधारा उनकी विचारधारा से नहीं मिलती है। मैं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के ऑफिस में कभी भी नहीं जा सकता।

आपको पहले मेरा गला काटना पड़ेगा। फिर भी मैं नहीं जा सकता हूं। उन्होंने आगे कहा कि मेरा जो परिवार है, उसकी एक विचारधारा है।

उसके सोचने का अपना एक तरीका है। वरुण गांधी ने एक समय, शायद आज भी उस (BJP की) विचारधारा को अपनाया है और मैं उस बात को स्वीकार नहीं कर सकता हूं।

राहुल गांधी ने कहा कि मैं उनसे जरूर प्यार से मिल सकता हूं। गले लग सकता हूं।

rahul-gandhi statement on bjp mp varun-gandhi entry in congress party

लेकिन उस विचारधारा को मैं स्वीकार नहीं कर सकता हूं। इससे पहले पिछले साल 31 दिसंबर को राहुल गांधी की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में

जब पत्रकारों ने सवाल किया कि क्या वरुण गांधी कांग्रेस में शामिल होंगे।

इस पर कांग्रेस नेता ने कहा था कि ये सवाल आपको पार्टी अध्यक्ष मलिकार्जुन खड़गे से पूछना चाहिए।

इस दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) तथा भारतीय जनता पार्टी (BJP) का देश की सभी संस्थाओं पर नियंत्रण है।

उन्होंने दावा किया कि देश के मीडिया, नौकरशाही, निर्वाचन आयोग और न्यायपालिका पर दबाव है।

गांधी ने पंजाब की आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार पर भी तंज कसते हुए कहा कि पंजाब का शासन पंजाब से ही चलाया जाना चाहिए, दिल्ली से नहीं।

राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाया, ‘आज RSS और BJP द्वारा सभी संस्थाओं को नियंत्रित किया जा रहा है।

सभी संस्थाओं पर दबाव हैं। प्रेस दबाव में है, नौकरशाही दबाव में है, निर्वाचन आयोग दबाव में है, वे न्यायपालिक पर भी दबाव डालते हैं।

राहुल ने कहा कि लड़ाई एक राजनीतिक दल की दूसरे राजनीतिक दल से नहीं है।

अब यह लड़ाई देश की संस्थाओं (जिन पर उन्होंने कब्जा कर लिया है) और विपक्ष के बीच है।

उन्होंने दावा किया कि देश में अब सामान्य लोकतांत्रिक प्रक्रियाएं गायब हैं।

rahul-gandhi statement on bjp mp varun-gandhi entry in congress party

उन्होंने यह भी कहा कि आर्थिक संकट, बेरोजगारी और महंगाई BJP के लिए ‘गंभीर झटका’ साबित होगा, यह एकदम स्पष्ट है।

भगवंत मान पर किए गए एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री से कहा था कि पंजाब केवल पंजाब से ही चलाया (शासन किया) जा सकता है।

राहुल ने कहा, ‘यह ऐतिहासिक तथ्य है। अगर इसे दिल्ली से चलाया जाएगा तो पंजाब के लोग इसे स्वीकार नहीं करेंगे।

(इनपुट एजेंसी से भी )

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button