Trending

Chaitra Navratri 2023:शुरू हो रही है चैत्र नवरात्रि,मां दुर्गा होगी नाराज जो करें ये काम

इस साल चैत्र नवरात्रि का आरंभ 22 मार्च,बुधवार  से हो रहा है और इसका समापन 30 मार्च,गुरुवार को होगा।

Chaitra-Navratri-2023-Date-avoidable things-हिंदू धर्म में नवरात्रि(Navratri)का विशेष महत्व है। मां दुर्गा को समर्पित नवरात्रि मां की अनुकम्पा पाने का श्रेष्ठ समय होता है।

यूं तो प्रतिवर्ष नवरात्रि चार आती है-दो गुप्त नवरात्रि(Gupt Navratri 2023), एक चैत्र नवरात्रि(Chaitra-Navratri)और दूसरी शारदीय नवरात्रि(Shardiya Navratri)।

गुप्त नवरात्रि को जहां तंत्र-मंत्र की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना गया है तो वहीं वैष्णव समुदाय यानि सांसारिक लोगों के लिए चैत्र नवरात्रि और शारदीय नवरात्रि की पूजा और व्रत का विधान है।

इस साल चैत्र नवरात्रि(Chaitra-Navratri-2023-Date)का आरंभ 22 मार्च,बुधवार  से हो रहा है और इसका समापन 30 मार्च,गुरुवार को होगा।

नवरात्रि की नौ रातें मां दुर्गा के नौ स्वरूपों को समर्पित होती है। भक्तगण इन नौ दिनों मां के कलश की स्थापना करते है।

शेरावाली माता के नाम के व्रत,पूजा पूर्ण विधि-विधान से करते है। 

सनातन धर्म के प्रति घर में इन दिनों सुबह और शाम आरती की जाती है। मां दुर्गा के आशीर्वाद के लिए उपाय किए जाते है और कुछ बातों का परहेज भी होता(Chaitra-Navratri-2023-Date-avoidable things)है।

दुर्गा अष्टमी पर छोटी कन्याओं को जमाया जाता है और उन्हें यथाशक्ति उपहार दिए जाते है।

नौवें नवरात्रि पर रामनवमी यानि नवमीं मनाई जाती है। लेकिन इस दौरान कुछ ऐसे कार्य है,जिन्हें आप जाने-अनजाने कर लेते है और मां दुर्गा खुश होने की जगह रुष्ट हो जाती(Chaitra-Navratri-2023-Date-avoidable things)है।

इसलिए जरूरी है कि आप जान लें कि नवरात्रि में वे कौन से काम है जिन्हें करना वर्जित बताया गया है।

 

Ram Navami 2022:राम नवमी पर आज इस दुर्लभ मुहूर्त में करें पूजा,जमाएं कंचक,मिलेगा धन-सम्मान

नवरात्रि में वर्जित है ये काम-Chaitra Navratri-mein-varjit-kaam

शराब न पिएं 

नवरात्रि में शराब बिल्कुल न पिएं। वहीं, व्रत के दौरान किसी को अपशब्द ना बोलें। बड़ों का सम्मान करें। जरूरतमंदों को दान करें। 

देर तक ना सोएं

नवरात्रि में देर तक नहीं सोना चाहिए। इसके अलावा चमड़े की चीजों से दूर रहना चाहिए। इस व्रत में आप चमड़े के पर्स, बेल्ट का धारण बिल्कुल ना करें।

 

Sheetala Ashtami 2023 – आज शीतलाष्टमी पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा,जानें विधि,मां का प्रसाद

 

मांस/तामसिक भोजन से करें परहेज

गुप्त नवरात्रि के दौरान शाम के समय मां दुर्गा की आरती करनी चाहिए। नवरात्रि के दौरान तामसिक भोजन नहीं करना चाहिए। व्रती को इस दौरान लहसुन-प्याज का भी सेवन नहीं करना चाहिए।

ब्रह्मचर्य का पालन करें

नवरात्रि की अवधि में ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए। साथ ही किसी के लिए बुरा नहीं सोचना चाहिए।गुप्त नवरात्रि के दौरान क्रोध आने पर किसी से विवाद ना करें। मान्यता है कि ऐसा करने से मां दुर्गा नाराज हो जाती हैं। गुप्त नवरात्रि के दौरान भक्तों को बाल और दाढ़ी नहीं बढ़ानी चाहिए। ये अच्छी नहीं माना  जाता है किसी त्योहार और व्रत में। नवरात्रि में मुंडन कराना भी अच्छा नहीं माना जाता है।

Chaitra Navratri 2022:कब है अष्टमी और राम-नवमी,क्या है कन्या पूजन का सबसे शुभ मुहूर्त?

 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। समयधारा इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Chaitra-Navratri-2023-Date-avoidable things

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button