breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Navratri 2022-जानियें कैसे-कब करें घटस्थापना, किन जरुरी बातों का रखें विशेष ध्यान

शारदीय नवरात्रि 2022-हिंदू पंचांग के अनुसार, शारदीय नवरात्रि  (shardiy Navratri) का पावन पर्व अश्विन मास में आता है।

shardiya Navratri Ghatasthapana shubh muhurat Navratri 2022 kab hai

हिंदू पंचांग के अनुसार, शारदीय नवरात्रि  (shardiy Navratri) का पावन पर्व अश्विन मास में आता है।

अब आप जानना चाहते होंगे कि इस साल नवरात्रि कब से शुरू हो रहे (Navratri 2022-shardiy Navratri kab hai) है?

इस वर्ष मां दुर्गा के नौ स्वरूपों का पवित्र उत्सव शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर सोमवार से शुरू हो रहे है l 

दुर्गा मां के नौ तेजस्वी स्वरूपों की पूजा नवरात्रि में की जाती है और धूमधाम से दुर्गा पूजा(durga puja) की जाती है।

नवरात्रि 2022-जाने कैसे माँ दुर्गा आपके भविष्य को बना सकती है सुनहरा

नवरात्रि 2022-जाने कैसे माँ दुर्गा आपके भविष्य को बना सकती है सुनहरा

नवरात्रि(Navratri) के पहले दिन घटस्थापना की जाती है और इसी दिन से शारदीय नवरात्रिका पावन पर्व शुरू हो जाता है। घटस्थापना को ही कलश स्थापना भी कहते है।

शारदीय नवरात्रि की शुरुआत अश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से होती है l 

पुराणों में शारदीय नवरात्रि का विशेष महत्व बताया गया हैl तभी लोग इन नवरात्रि का इंतजार बेसब्री से करते हैंl 

भक्तजन शुभ मुहूर्त में घटस्थापना(Ghatasthapana) करते है।

शारदीय नवरात्रि के लिए घटस्थापना का शुभ मुहूर्त (गुरूवार) 
शुभ समय – सुबह  6:20 से 10:28 तक ( विद्यार्थियों के लिए अतिशुभ)
स्थिर लग्न ( वृश्चिक)- प्रात: 6.22 से 10.28 बजे तक ( शुभ चौघड़िया, व्यापारियों के लिए श्रेष्ठ)

नवरात्रि 2022-जाने कैसे माँ दुर्गा आपके भविष्य को बना सकती है सुनहरा

नवरात्रि 2022-जाने कैसे माँ दुर्गा आपके भविष्य को बना सकती है सुनहरा

shardiya Navratri Ghatasthapana shubh muhurat Navratri 2022 kab hai

नवरात्रि में व्रत-नियमों का पालन व अनुसरण करना बहुत मायने रखता है।

हिंदू धर्मानुसार,नवरात्रि में पूरे विधि-विधान से शक्ति स्वरूपा मां दुर्गा की पूजा करने से न केवल सभी कष्टों से छुटकारा मिलता है, बल्कि आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

शारदीय नवरात्रि में नियमानुसार दुर्गा माता की पूजा करने से भक्तजनों को धन-दौलत,स्वास्थ्य और सुख का लाभ मिलता है। पवित्रता का पालन करने से जीवन शांतिपूर्ण बना रहता है।

हिंदू पंचांग के अनुसार, शारदीय नवरात्रि  से आरंभ हो रहे है। इसे ही नवरात्रि का आरंभ माना जाता है। 

navratri-2020-1_optimized

चलिए अब आपको बताते है कि शारदीय नवरात्रि में घटस्थापना का शुभ मुहूर्त क्या है?

shardiya Navratri Ghatasthapana shubh muhurat Navratri 2022 kab hai

जैसाकि हमने आपको पहले ही बताया कि घटस्थापना या कलश की स्थापना से ही नवरात्रि के पर्व का आरंभ माना जाता है।

ऐसे में आप किस मुहूर्त में घटस्थापना कर रहे है,यह बात बहुत मायने रखती है।

हिंदू पंचांगानुसार, शारदीय नवरात्रि में घटस्थापना 26 सितंबर सोमवार को की जाएगी।

घटस्थापना का प्रथम शुभ मुहूर्त- प्रात: 06 बजकर 20 मिनट से सुबह 10 बजकर 17 मिनट तक रहेगा।

घटस्थापना का दूसरा शुभ मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 55 मिनट से दोपहर 12 बजकर 40 मिनट तक।

जानें नवरात्रि से पहले बंपर कमाई कराने वाले शेयर्स

ऐसे करें घटस्थापना

-सबसे पहले एक मिट्टी के पात्र में 7 तरीके के अनाज बोएं लें। 

-फिर इस पात्र के ऊपर कलश को स्थापित कर लें।

-आप कलश में जल भर लें।

-साथ ही इस जल में गंगाजल भी मिला लें। 

shardiya Navratri Ghatasthapana shubh muhurat Navratri 2022 kab hai

-अब कलश पर कलावा बांध लें।

-कलश के मुख पर आम या अशोक के पत्ते रख दें।

-फिर जटा वाले नारियल पर कलावा को बांध दें।

-अब लाल कपड़े में नारियल को लपेट कर इस कलश के ऊपर रख दें।

Navratri WhatsApp Status:नौ दुर्गाओं का हाथ,नवरात्रि मनाएं साथ,भेजें ऐसे ही शुभकामना संदेश

शारदीय नवरात्रिकी तिथियां (shardiy Navratri 2022 Dates)

पहला दिन- 26 सितंबर 2022 सोमवार – शैलपुत्री

दूसरा दिन- 27 सितंबर 2022 मंगलवार – ब्रह्मचारिणी

तीसरा दिन- 28  सितंबर 2022 बुधवार- चंद्रघंटा

चौथा दिन- 29 सितंबर 2022 गुरूवार – कूष्मांडा

पांचवां दिन- 30 सितंबर 2022 शुक्रवार – स्कंदमाता

छठा दिन- 1 अक्टूबर 2022 शनिवार – कात्यायनी

सातवां दिन- 2 अक्टूबर 2022 रविवार – कालरात्रि

आठवां दिन- 3 अक्टूबर 2022 सोमवार – महागौरी

नौवां दिन- 4 अक्टूबर 2022 मंगलवार – सिद्धिदात्री 

5 अक्टूबर 2022 बुधवार – दशहरा  

नवरात्रि में यूं दिखें आकर्षक, फैशनेबल

 

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button