Trending

Dhanteras 2022: 22 या 23 अक्टूबर?जानें क्या है धनतेरस की सही तिथि,किस समय पूजा और खरीदारी करना रहेगा शुभ

इस वर्ष धनतेरस(Dhanteras)की तिथि को लेकर लोगों में खासा कंफ्यूजन है कि आखिर धनतेरस कब है(Dhanteras-2022-date-kab-hai)22 अक्टूबर,शनिवार या फिर 23अक्टूबर,रविवार।चलिए बताते है धनतेरस की सही तिथि।

Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay-धनतेरस के दिन से ही दिवाली(Diwali)का पांच दिवसीय पर्व शुरु हो जाता है।धनतेरस के दिन ही धन्वंतरि भगवान का पृथ्वी पर आगमन समुद्र मंथन के दौरान हुआ था।

हिंदू पंचागानुसार,प्रतिवर्ष कार्तिक माह की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस मनाया जाता है।

इस वर्ष धनतेरस(Dhanteras)की तिथि को लेकर लोगों में खासा कंफ्यूजन है कि आखिर धनतेरस कब है(Dhanteras-2022-date-kab-hai)22 अक्टूबर,शनिवार या फिर 23अक्टूबर,रविवार।

चलिए बताते है धनतेरस की सही तिथि।

चूंकि कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि इस साल 22 अक्टूबर को शाम में 6 बजकर 3 मिनट से शुरू हो रही है और यह तिथि 23 अक्टूबर को शाम 6 बजकर 4 मिनट तक रहेगी।

इस लिहाज से धनतेरस 2022(Dhanteras-2022)का त्यौहार 23 अक्टूबर को मनाना ही श्रेष्ठ है। चूंकि हिंदू धर्म में कोई भी पर्व उदया तिथि में मनाया जाता है।

जो लोग धनतेरस का व्रत रखते है उन्हें भी धनतेरस 23 अक्टूबर(Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat)को ही रखना चाहिए।चूंकि 23 को शाम तक प्रदोष काल है।

मान्यता है कि इस दिन ही भगवान धन्वंतरि पृथ्वी पर समुद्र मंथन के दौरान प्रकट हुए थे।

चलिए अब बताते है कि धनतरेस (Dhanteras 2022) की सटीक तिथि और शुभ मुहूर्त क्या(Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay)है।

धनतेरस 2022 शुभ मुहूर्त (Dhanteras 2022 Shubh Muhurat)

धनतेरस के दिन धन के देवता कुबेर की पूजा का विधान है। इस दिन सोना, चांदी या बर्तन आदि की खरीदारी करना बेहद शुभ माना जाता है।

Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay

कार्तिक माह कृष्ण पक्ष त्रयोदशी तिथि आरंभ – 22 अक्टूबर 2022 को शाम 6 बजकर 02 मिनट से

कार्तिक माह कृष्ण पक्ष त्रयोदशी तिथि समाप्त – 23 अक्टूबर 2022 को शाम 6 बजकर 03 मिनट तक

 

पूजन का शुभ मुहूर्त – 23 अक्टूबर 2022 को रविवार शाम 5 बजकर 44 मिनट से 6 बजकर 5 मिनट तक

शुभ मुहूर्त की कुल अवधि  – 21 मिनट

 

प्रदोष काल: शाम 5 बजकर 44 मिनट से रात 8 बजकर16 मिनट तक।

वृषभ काल:  शाम 6 बजकर 58 मिनट से रात 8 बजकर 54 मिनट तक।

Dhanteras 2021:आज धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा

धनतेरस पर बना रहा शुभ योग

धनतेरस 2022 पर शुभ योग भी बन रहा है। इस साल 23 तारीख को शनि देव मार्गी हो रहे हैं। ऐसे में कई राशियों को लाभ मिलेगा। इसके अलावा धनतेरस के दिन सर्वार्थ सिद्धि और अमृत सिद्धि योग बन रहा है।

Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay

 

 

 

 

धनतेरस का महत्व

धनतेरस को धनत्रयोदशी के रूप में भी जाना जाता है। शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि समुद्र मंथन के दौरान धनतेरस के दिन ही भगवान कुबेर, देवी लक्ष्मी(Lakshami)और भगवान धन्वंतरि प्रकट हुए थे।

इसलिए इस दिन तीनों देवताओं की पूजा की जाती है। इसके साथ ही इस दिन खरीदारी करना भी शुभ माना जाता है।

Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay

Bhai Dooj 2021:आज भाई दूज पर इस शुभ मुहूर्त में करें टीका,जानें पूरी विधि

धनतेरस पर शॉपिंग का समय-Dhanteras-Diwali-shopping-time

Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay

त्रयोदशी तिथि 22 अक्टूबर को शाम में 6 बजकर 3 मिनट से शुरू हो रही है और यह तिथि 23 अक्टूबर को शाम 6 बजकर 4 मिनट तक रहेगी।

इस हिसाब से इस वर्ष आपके पास धनतेरस की खरीदारी के लिए, शनिवार 22 अक्टूबर शाम  6 बजे से लेकर, रविवार 23 अक्टूबर शाम 6 बजकर 4 मिनट तक भरपूर मुहूर्त है।

 

 

 

Deepawali 2021: जानें कब है दिवाली,क्या है लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त,विधि

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Note: ऊपर दी गई सभी जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं। समयधारा इसकी पुष्टि नहीं करता। उपरोक्त लेख सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Dhanteras-2022-kab-hai-puja-shubh-muhurat-dhanteras-diwali-kharidari-ka-shubh-samay

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button