Trending

Father’s Day 2023:आ्रज है फादर्स डे,जानें क्यों शुरू किया गया था फादर्स डे सेलिब्रेशन

यही वो दिन है जब आप अपने पिता के त्याग,समर्पण,मेहनत और दुलार को सराहते है और अपने पिता को अपनी जिंदगी में उनके योगदान के लिए शुक्रिया कहकर स्पेशल फील करवाते है।

Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day

नई दिल्ली:फादर्स डे(Father’s Day)यानि पितृ दिवस हर बच्चे की जिंदगी में सर्वाधिक अहम दिन होता है और हर पिता के लिए बेहद यादगार।

चूंकि यही वो दिन है जब आप अपने पिता के त्याग,समर्पण,मेहनत और दुलार को सराहते है और अपने पिता को अपनी जिंदगी में उनके योगदान के लिए शुक्रिया कहकर स्पेशल फील करवाते है।

 प्रतिवर्ष जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे(Father’s Day 3rd Sunday of June)धूमधाम से मनाया जाता है। अब आप जानना चाहेंगे कि इस वर्ष फादर्स डे कब(father’s day kab hai)है? तो चलिए बताते है कि इस साल पितृ दिवस यानि फादर्स डे की तारीख(Father’s Day 2023 date)क्या है।

इस वर्ष फादर्स डे रविवार,18 जून 2023(Father’s Day 2023)को है।

हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे (3rd Sunday of June) मनाया जाता है। इस साल फादर्स डे 18 जून (Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day)को मनाया जाएगा.

आइए इस मौके पर आपको बताते हैं कि फादर्स डे पहली बार कब मनाया गया था, किसने इस दिन को मनाने की शुरुआत की थी और इस दिन के लिए जून के तीसरे रविवार को ही क्‍यों चुना(Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day)गया।

यहां जानिए इस दिन से जड़ी तमाम दिलचस्‍प बातें।

 

 

 

 

किसने की थी फादर्स डे की शुरुआत (Why celebrates father’s day)

मान्यता है कि फादर्स डे की शुरुआत एक ऐसी बेटी ने की थी,जो अपने पिता को बेहद प्यार करती थी। फादर्स डे का सेलिब्रेशन सबसे पहले साल 1910 में किया गया था।

पहली बार अमेरिका (US) में फादर्स डे मनाया गया, जिसे सोनोरा स्मार्ट डॉड नामक महिला ने पहली बार सेलिब्रेट किया(Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day)था। 

सुनोरा की मां नहीं थीं. वे अपने पिता की इकलौती बेटी थीं. उनसे छोटे उनके भाई थे. बच्‍चों के भविष्‍य को बेहतर बनाने के लिए उनके पिता ने ही मां और बाप दोनों के रोल निभाए थे.

एक चर्च में मदर्स डे के बारे में उपदेश सुनते हुए, सोनोरा ने महसूस किया कि पितृत्व को भी मान्यता की आवश्यकता है.

इसके बाद उन्‍होंने फादर्स डे को सेलिब्रेट करने का फैसला किया और 19 जून 1910 को पहली बार फादर्स डे (Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day)मनाया।

तब उन्होनें अपने पिता के प्यार की सराहना करने और अपने पिता का परिवार के प्रति समर्पण ध्यान में रखते हुए इस दिन को मनाने के लिए कहा।

उन्होंने अुनरोध किया कि जिस प्रकार मदर्स डे(Mother’s Day) मां को समर्पित है, उसी प्रकार एक दिन पिता को भी समर्पित होना चाहिए.

तब पहली बार इस दिन को जून के तीसरे रविवार को मनाया गया।

हालांकि बीते कुछ वर्षों से विश्व के साथ-साथ फादर्स डे को भारत में भी बहुत हर्षोउल्लास से सेलिब्रेटि किया जाने लगा(Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day)है।

बच्चे अपने पिता को इस दिन न केवल फादर्स डे की शुभकामनाएं देते है बल्कि उनके पिता के रूप को धन्यवाद देते हुए उन्हें गिफ्ट्स भी देते है।

जून के तीसरे रविवार को ही क्यों मनाया जाता है फादर्स डे (Why is Father’s Day celebrated on 3rd Sunday of June)

धीरे-धीरे सुनोरा को देखकर दूसरे लोगों ने भी फादर्स डे को मनाना शुरू कर दिया और इसका चलन बढ़ने लगा। साल 1916 में अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने फादर्स डे को मनाने के सुझाव को हरी झंडी दे दी।

साल 1966 में राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने इस दिन को जून के तीसरे रविवार को मनाए जाने की आधिकारिक घोषणा की। तब से हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है।

 

फादर्स डे का महत्व

रविवार 18 जून, 2023 को फादर्स डे(Father’s Day 2023)है।भारत में फादर्स डे प्रति वर्ष जून माह के तीसरे रविवार को धूमधाम से मनाया जाता है।

हमारी संस्कृति में पिता का दर्जा परम-पिता ब्रह्ममा के समान माना गया है,जोकि सृष्टि के रचयिता है।

ठीक इसी प्रकार किसी भी संतान की उत्पत्ति में उसके पिता का महत्व होता है। जहां मां को जगत-जननी का दर्जा दिया गया है,वहीं परम-पिता ब्र्ह्ममा जी को पिता का दर्जा दिया गया है।

किसी भी बच्चे के लिए, फिर चाहे वह बेटी हो या बेटा,उनके पिता उनके संरक्षक होते है। 

विश्वभर में फादर्स डे (Father’s Day) का दिन पिता के सम्मान में धूमधाम से मनाया जाता है।

यह दिन पिता को समर्पित है। पिता जोकि बेटियों के लिए संरक्षक,मार्ग-दर्शक और पालनहार होते है,तो वहीं बेटों के लिए उनके प्रथम गुरु,दोस्त और गाइड होते है।

कहा जाता है कि अक्सर बेटियां पिता के ज्यादा करीब होती है और बेटे अपनी मां के ज्यादा नजदीक। लेकिन सच तो यह है कि हर बच्चे के लिए उनके माता-पिता तकरीबन एक-समान ही होते है।

अपनी भावनाएं फिर चाहे वह प्यार हो या गुस्सा मां तो आसानी से जाहिर कर देती है लेकिन अक्सर पिता,ऐसा नहीं कर पाते।

लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं कि वह अपने बच्चों से प्यार नहीं करते।

एक पिता अपने परिवार,अपने बच्चों के पालन-पोषण के लिए दिनभर जो मेहनत करता है,बच्चे के साथ खूबसूरत पलों का उसके उज्जवल भविष्य की खातिर त्याग करता है,उसी जज़्बे को सलाम करता है फादर्स डे(Father-s-Day-2023).

लेकिन हर दिन मनाने के लिए पीछे कोई न कोई कारण तो होता ही है। इसलिए यहां यह जानना जरुरी है कि आखिर फादर्स डे की शुरुआत हुई कैसे। आखिर कैसे और क्यों इसे विश्वभर में सेलिब्रेट किया जाने (Why we celebrate father’s day)लगा?

अगर आप भी यह जानना चाहते है तो चलिए बताते है। फादर्स डे मनाने के पीछे कारण क्या(Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day) है।

जैसा कि हमने पहले भी बताया है कि हर साल जून के महीने में तीसरे रविवार को फादर्स डे सेलिब्रेट किया जाता है।

इस साल जून का तीसरा रविवार 18 जून 2023 को है और इसी दिन फादर्स डे 2023(Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day)है।

Happy fathers day:पापा का प्यार निराला है, पापा के साथ रिश्ता न्यारा है..भेजें ऐसे ही फादर्स डे संदेश

समयधारा की ओर से आप सभी को फादर्स डे की शुभकानमनाएं!

Happy Father’s day 2023!

 

Father’s-Day-2023-on-18June-Know-why-celebrates-father’s-day

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button