breaking_newsअन्य ताजा खबरेंटेक न्यूजटेक्नोलॉजीदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

Chandrayaan 3:चांद की सतह पर भारत ने रचा इतिहास,दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला बना पहला देश

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान(ISRO) ने चार सालों की कड़ी मेहनत के बाद अब चांद पर चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के साथ अपने देश का तिरंगा लहरा दिया(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole)है।

Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole

नई दिल्ली:भारत ने चांद(Moon)की सतह पर इतिहास रच दिया है। भारत का अंतरिक्षयान चंद्रयान-3(Chandrayaan-3)बुधवार,23 अगस्त चंद्रमा की सतह पर सफलता पूर्वक उतर गया है।भारत के इसरो का मून मिशन चंद्रयान-3 आज बुधवार को सफल हो गया(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful)है।

इसी के साथ चांद पर पहुंचने वाले देशों की सूची में विश्व में अब भारत चौथा देश बन गया है और चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला विश्व का पहला देश बन गया(India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole)है। 

भारत के लिए आज बुधवार का दिन अंतरिक्ष की दुनिया में सर्वाधिक ऐतिहासिक रहा है। भारत का तिरंगा अब चांद पर लहरा रहा है। भारत को यह गौरवशाली पल इसरो ने प्रदान किया है। 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान(ISRO) ने चार सालों की कड़ी मेहनत के बाद अब चांद पर चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के साथ अपने देश का तिरंगा लहरा दिया(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole)है।

भारत के चंद्रयान-3 की सफल लैंडिग चांद के दक्षिणी ध्रुव पर इसलिए भी खास है चूंकि अभी कुछ दिन पहले ही चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने के लिए रूस का मून मिशन फेल हो गया है।

चंद्रयान-3 की चांद पर सफल लैंडिंग के साथ सभी देशवासी गौरवांवित महसूस कर रहा(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole) है।

इसरो के हजारों वैज्ञानिकों की कड़ी मेंहनत को नमन कर रहा है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी(PM Modi)ने भी इसरो के वैज्ञानिकों को चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग की शुभकामनाएं दी है।

पीएम(PM Modi)ने इसरो प्रमुख को फोन पर चंद्रयान-3(Chandrayaan-3)की चांद की दक्षिणी छोर पर सफल लैंडिंग की शुभकामनाएं दी। 

प्रधानमंत्री ने आगे के लिए आदित्य एल-1 मिशन के लिए इसरो के वैज्ञानिकों को प्रोत्साहित करते हुए शुभकामनाएं दी।

चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के साथ भारत अंतरिक्ष में राष्ट्रीय महाशक्ति के रूप में अपना नया दावा प्रस्तुत कर दिया(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole)है।

चंद्रयान-3 अंतरिक्ष यान पिछले महीने लॉन्च किया गया था और सुबह लगभग 8:34 बजे चंद्रमा की सतह पर उतरा।

यह उपलब्धि भारत को रूस, अमेरिका और चीन के बाद चंद्रमा पर उतरने वाला चौथा देश और चंद्रमा के चंद्र ध्रुवों में से किसी एक पर उतरने वाला पहला देश बनाती है।

भारत ने इतिहास रच दिया है। चंद्रयान-3 ने चांद के साउथ पोल पर सफलतापूर्वक लैंडिंग कर ली है। चंद्रयान-3 के इसके साथ ही भारत चांद के साउथ पोल पर यान उतारने वाला पहला देश बन गया(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole) है।

जबकि चांद के किसी भी हिस्से में यान उतारने वाला भारत चौथा देश बन गया है। भारत से पहले अमेरिका, सोवियत संघ (अभी रूस) और चीन ही चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग कर पाए हैं।

चंद्रयान-3 की सफल सॉफ्ट लैंडिंग को पीएम मोदी ने साउथ अफ्रीका से वर्चुअली देखा। सफल लैंडिंग के बाद पीएम मोदी ने इसरो और देश को बधाई(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole) दी।

पीएम मोदी ने कहा कि चंदा मामा अब दूर के नहीं, टूर के हैं।

चंद्रयान-3(Chandrayaan-3)का लैंडर विक्रम सफलतापूर्वक चांद पर उतर चुका है। अब इसके अंदर से रोवर प्रज्ञान के निकलने का इंतजार है। इसमें करीब 1 घंटा 50 मिनट लगेगा। डस्ट सेटल होने के बाद विक्रम चालू होगा और कम्युनिकेट करेगा।
फिर रैंप खुलेगा और प्रज्ञान रोवर रैंप से चांद की सतह पर आएगा। इसके बाद इसके व्हील चांद की मिट्‌टी पर अशोक स्तंभ और ISRO के लोगो की छाप छोड़ेंगे। फिर ‘विक्रम’ लैंडर ‘प्रज्ञान की फोटो खींचेगा और प्रज्ञान विक्रम की तस्वीर लेगा। ये फोटो वे पृथ्वी पर भेजेंगे।

चंद्रयान-3 की सफल सॉफ्ट लैंडिंग से जहां भारत का स्पेस पावर के रूप में उभरा है। साथ ही ISRO का दुनिया की अन्य अंतरिक्ष एजेंसियों के मुकाबले कद कहीं ऊंचा हो गया(Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole)है।

देशवासी ISRO के वैज्ञानिकों को बधाई दे रहे हैं और उनके काम की जमकर सराहना कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर बधाई संदेशों का तांता लगा है। देशभर में मिठाई बांटकर और आतिशबाजी करके इस गौरव के क्षण का जश्न मनाया जा रहा है।

Chandrayaan-3-ISRO-moon-mission-successful-India-become-first-country-land-on-moon’s-south-pole

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button