breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूजविभिन्न खबरेंविश्व
Trending

Cryptocurrency : चीन ने लगाईं इस पर पाबंदी, Bitcoin में भारी गिरावट, भारत में मिल सकती हरी झंडी

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर आज का दिन काफी अहम है, चीन के सख्त कदम से इस बाजार में हडकंप मच गया.

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

नई दिल्ली (समयधारा)क्रिप्टोकरेंसी( Cryptocurrency) पर  चीन ने लगाईं पाबंदी, Bitcoin में भारी गिरावट,

तो दूसरी तरफ भारत में मिल सकती हरी झंडी l क्रिप्टोकरेंसी को लेकर आज का दिन काफी अहम है,

जहाँ एक और चीन के सख्त कदम से इस बाजार में हडकंप मच गया lवही दूसरी और भारत में  क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कुछ अच्छी खबरें सामने आई है l

सबसे पहले क्रिप्टोकरेंसी को लेकर चीन के सख्त कदम के बारें में बात करते है l 

चीन ने क्रिप्टोकरेंसी पर पूरी तरह रोक लगा दी है।

साथ ही सभी फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस और पेमेंट कंपनियों पर क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन से जुड़ी सभी सर्विस बंद कर दी है।

चीन की सरकार ने निवेशकों को चेताया है कि वे क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग से दूर रहें।

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

चीन सरकार की तरफ से लगाई गई इन पाबंदियों के तहत बैंक,

ऑनलाइन पेमेंट्स चैनल्स जैसे फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस ऐसी कोई सर्विस नहीं देंगे जिसमें क्रिप्टोकरेंसी जुड़ी होगी।

इस तरह की सर्विस में रजिस्ट्रेशन, ट्रेडिंग, क्लियरिंग और सेटलमेंट शामिल हैं।

इस मामले में मंगलवार को चीन की तीन इंडस्ट्री बॉडी ने एक ज्वाइंट स्टेटमेंट जारी किया था।

चीन के तीनों इंडस्ट्री बॉडी नेशनल इंटरनेट फाइनेंस एसोसिएशन ऑफ चाइना,

चाइना बैंकिंग एसोसिएशन और पेमेंट एंड क्लीयरिंग एसोसिएशन ऑफ चाइना ने अपने बयान में कहा गया है,

“क्रिप्टोकरेंसी में तेजी आने और  बड़ी गिरावट आने और स्पेकुलेशन ट्रेडिंग होने से इकोनॉमी को नुकसान हो रहा है।”

चीन ने यह फैसला ऐसे समय में लिया है जब हाल के दिनों में क्रिप्टोकरेंसी में भारी उतारचढ़ाव हो रहा है।

चीन में क्रिप्टोकरेंसी पर बैन से बिटक्वाइन में बड़ी गिरावट। बुधवार को क्रिप्टोकरेंसी गिरकर 40,000 डॉलर के नीचे आ गया।

मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) में भारी गिरावट आई है।

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

बिटकॉइन लगभग 14 प्रतिशत गिरकर इंट्राडे में 39,522 डॉलर पर पहुंच गया जो 9 फरवरी के बाद से इसका सबसे निचला स्तर है।

इसने अप्रैल में 64,829 डॉलर के साथ अभी तक का हाई छुआ था।

Ethereum जैसी अन्य क्रिप्टोकरेंसीज में भी बड़ी गिरावट आई है। Ethereum की कीमत 3,000 डॉलर से कम हो गई है, 

और यह एक दिन में लगभग 17 प्रतिशत गिरा है। Ethereum ने पिछले सप्ताह 4,000 डॉलर का स्तर पार किया था।

चीन ने फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस और पेमेंट कंपनियों पर क्रिप्टोकरेंसी ट्रांजैक्शंस से जुड़ी सर्विसेज देने पर प्रतिबंध लगाया है।

इसके साथ ही इनवेस्टर्स को क्रिप्टो ट्रेडिंग को लेकर सट्टेबाजी से बचने के लिए कहा गया है।

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

चीन तेजी से बढ़ रहे डिजिटल ट्रेडिंग मार्केट पर रोक लगाने की कोशिश कर रहा है।

चीन ने क्रिप्टो एक्सचेंजों पर प्रतिबंध लगाया है। हालांकि, इसने लोगों को पर क्रिप्टोकरेंसी रखने से रोक नहीं लगाई है।

2017 में चीन में क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों पर प्रतिबंध लगाया गया था। इससे ग्लोबल बिटकॉइन ट्रेडिंग पर बड़ा असर पड़ा था।

अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के मालिक एलन मस्क के आशंका जताने के बाद पिछले सप्ताह क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में गिरावट की शुरुआत हुई थी।

टेस्ला ने कार की कीमत बिटकॉइन में लेने से मना कर दिया है। भारत में क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य कैसा होगा, इस पर निवेशक अभी एकमत नहीं हो पाए हैं।

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

इसकी वजह ये है कि क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कभी सरकार आंखें तरेरने लगती है तो कभी इसको बढ़ावा देने के लिए विचार करने लगती है।

जाहिर है कि सरकार की इस दोधारी तलवार से निवेशक भी मजधार में लटके हुए हैं और वो कुछ भी फैसला लेने की स्थित में नहीं हैं।

अब अच्छी खबर यह सामने आ रही है कि केंद्र सरकार क्रिप्टोकरेंसी को रेगुलेट करने की सोच रही है।

सरकार इसके स्टडी के लिए पैनल का गठन भी कर सकती है। अगर सरकार की तरफ से क्रिप्टोकरेंसी को हरी झंड़ी मिल जाती है।

तो फिर इसकी ट्रेडिंग को कानूनी मान्यता मिल जाएगी निवेशक आराम से यहां भी निवेश कर सकते हैं।

केंद्र सरकार इस पर स्टडी करने के लिए RBI को कह सकती है।

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नई कमेटी इस बात की संभावना की तलाश करेगी कि क्या ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल टेक्नोलॉजिकल अपग्रेडेशन के लिए किया जा सकता है।

इसके अलावा यह कमिटी क्रिप्टो को डिजिटल असेट के रूप में रेग्युलेट करने को लेकर भी अपनी सलाह देगी।

फिलहाल केंद्र सरकार भरत में क्रिप्टो को नए सिरे से शुरू पर विचार कर रही है।

हालांकि, ये अभी शुरुआती चरण में हैं और इसके लिए अभी तक कोई औपचारिक घोषणा नहीं की गई है।

रिपोर्ट में सूत्र के हवाले से बताया गया है कि फाइनेंस मिनिस्ट्री देश में क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग की निगरानी कर रहा है। 

साथ ही स्टेकहोल्डर और जानकारों से इसके संभावित जोखिमों पर चर्चा की जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले दिनों राज्य मंत्री, अनुराग ठाकुर ने क्रिप्टो और बैंकिंग इंडस्ट्री फोरम के सदस्यों से मुलाकात की थी।

china bans cryptocurrency transactions in financial firms bitcoin drops below dollar 40000 cryptocurrency can get recognition as digital asset in india

इसके अलावा फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण और राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने हाल ही में सार्वजनिक रूप से कहा था कि,

सरकार क्रिप्टोकरेंसी पर रोक लगाने के बजाय उनको रेगुलेट और कंट्रोल करना चाहती है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − 3 =

Back to top button