breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले से देश में रोष, SGPC प्रतिनिधिमंडल जायेगा पाकिस्तान

भारत में विभिन्न सिख समूहों ने नई दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त के समक्ष गुरु नानक के जन्मस्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे में हुए हमले के खिलाफ प्रदर्शन किया

नई दिल्ली: Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara SGPC visit in Pakistanपाकिस्तान (Pakistan) स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारे (Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara) पर हमला हुआ है,इससे भारत में भी बेहद गुस्सा दिख रहा है।

इसलिए अब भारत में सिख समुदाय (Sikh community) की सर्वोच्च संस्था शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC visit in Pakistan) पाकिस्तान जाकर सिखों के साथ हुए इस अन्याय की समीक्षा करेगी।

इस बाबत शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (Shiromani  Gurdwara Parbandhak Committee) ने बताया है कि शीघ्र ही SGPC के चार सदस्यों का एक प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान (Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara SGPC visit in Pakistan) जायेगा और हालात का जायजा लेगा।

यह प्रतिनिधिमंडल गुरुद्वारे का निरीक्षण भी करेगा और पाकिस्तान में रह रहे सिखों से भी मिलेगा।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह लोंगोवाल ने कहा है कि यह प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान में स्थित पंजाब के मुख्यमंत्री और राज्यपाल से (Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara SGPC visit in Pakistan) मिलेगा

और उनसे अनुरोध करेगा कि सिखों के इस पवित्र स्थल पर हमले से विश्वभर में सिख समुदाय दुखी व आहत है। साथ ही पाकिस्तान सरकार से अनुरोध करेगा कि भविष्य में इस प्रकार के हमले न हो, इसके लिए पाक सरकार तुरंत कदम उठाये।

शनिवार को भारत में विभिन्न सिख समूहों ने नई दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त के समक्ष गुरु नानक (Nank ana Sahib) के जन्मस्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे में हुए हमले के खिलाफ प्रदर्शन किया।

भारतीय सिख समुदाय ने पाकिस्तान में हुए इस हमले की कड़ी निंदा की है।

इतना ही नहीं, अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने पीएम मोदी (PM Modi) से मिलकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) से मिलकर अल्पसंख्यकों पर हमले के मुद्दे को उठाने के लिए कहा है।

बादल ने कहा है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक बहुत ज्यादा असुरक्षित महसूस कर रहे है।

क्या है मामला?-Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara SGPC visit in Pakistan

शुक्रवार को पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर मुस्लिम समुदाय की एक बड़ी भीड़ ने हमला कर दिया (Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara)था।

इसके कारण सिख (Sikh) श्रद्धालु गुरुद्वारे के भीतर ही फंस गए थे। इस बाबत एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें दिख रहा था कि एक बड़ी भीड़ ने अल्पसंख्यक समुदाय के प्रति नफरत भरे और सांप्रदायिक नारेबाजी की और ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव किया।

हालांकि इस विषय में पाकिस्तानी सूत्रों ने कहा है कि गुरुद्वारे पर हमला करने वाली भीड़ का नेतृत्व मोहम्मद हसन के परिवार ने किया था।

आरोप है कि इस परिवार ने गुरुद्वारे के एक ग्रंथी की बेटी जगजीत कौर का अपहरण और धर्म परिवर्तन किया था और जब पुलिस ने इनके खिलाफ कार्रवाई की तो हसन के परिवार ने इसका विरोध किया था और इसी का बदला भीड़ का नेतृत्व करके गुरुद्वारे पर हमला करके लिया गया।

गौरतलब है कि ननकाना साहिब हमला 1955 के पंत-मिर्जा समझौते का उल्लंघन है। इसके अंतर्गत पाकिस्तान  (Pakistan) और भारत (India) इस बात को सुनिश्चित करने के लिए बाध्य है कि दोनों देश ऐसे पूजा स्थलों की पवित्रता को सुरक्षित व संरक्षित रखें,जिनमें कि दोनों देशों के श्रद्धालुगण जाते है।

आधिकारिक रुप से भारत ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले (Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara SGPC visit in Pakistan) की कड़े शब्दों में निंदा (India condemn )की है और देर रात प्रेस को संबोधित करते हुए सिख समुदाय की ओर से पाकिस्तान के गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सतपाल सिंह ने सरकार से शांति बहाल करने के लिए गुंडों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है।

इतना ही नहीं, भारत ने पाकिस्तान से आह्वान किया है कि वे सिख समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

Mob attack on Nankana Sahib Gurudwara SGPC visit in Pakistan

Tags

Reena Arya

रीना आर्य एक ज्वलंत और साहसी पत्रकार व लेखिका है। वे समयधारा.कॉम की एडिटर-इन-चीफ और फाउंडर भी है। लेखन के प्रति अपने जुनून की बदौलत रीना आर्य ने न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपने काम के बल पर अपनी पहचान बनाई बल्कि अपनी काबलियत को प्रूव करते हुए पत्रकारिता के पांच से छह साल के सफर में ही अपने बल खुद एक नए ब्रैंड www.samaydhara.com की नींव रखी।रीना आर्य हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने पर विश्वास करती है और अपने लेखन को लगभग हर विधा में आजमा चुकी है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: