breaking_newsHome sliderक्रिकेटखेल

आस्ट्रेलिया के साथ दोस्ती में अब नहीं सुलझने वाली गांठ पड़ गई है : कोहली

धर्मशाला, 28 मार्च : भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेली गई चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला रोमांच, संघर्ष के साथ-साथ कई विवादों और छींटाकशी के लिए भी चर्चा में रही और इसका असर खिलाड़ियों के रिश्तों पर पड़ा है। श्रृंखला खत्म होने के बाद भी विवाद जारी रहे। आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने अपने व्यवहार पर माफी मांगी लेकिन साथ ही बीसीसीआई के एक कदम पर सवाल भी उठाया। श्रृंखला से पहले भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के साथ उनके अच्छे रिश्ते हैं, लेकिन इसका असर प्रतिस्पर्धा पर नहीं पड़ेगा। अब, कोहली ने श्रृंखला जीतने के बाद अपने शब्दों में बड़ा बदलाव किया है और संकेत दिया कि मेहमान टीम के खिलाड़ियों के साथ दोस्ती में अब नहीं सुलझने वाली गांठ पड़ गई है।

कोहली ने मंगलवार को कहा कि अब चीजें पहले जैसी नहीं रही हैं। 

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, कोहली ने संवाददाता सम्मेलन में आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों से रिश्तों के बारे में पहले कही गई उनकी बात के बारे में पूछे जाने पर कहा, “नहीं, इसमें बदलाव आया है। मुझे लगता था कि ऐसा नहीं होगा, लेकिन इसमें निश्चित तौर पर बदलाव आया है। जैसा मैंने कहा था, आप प्रतिस्पर्धी होना चाहते हैं, लेकिन मैं गलत साबित हुआ। मैंने पहले टेस्ट से पहले जो बात कही थी, अब वह निश्चित तौर पर बदली है। आप मुझसे दोबारा ऐसी बात नहीं सुनेंगे।”

आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा कि श्रृंखला में वह भावनाओं पर काबू पाने में कई बार नाकाम रहे और इसके लिए उन्होंने माफी भी मांगी।

मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में स्मिथ ने कहा, “मैंने अपने लिए कुछ पैमाने तय किए हैं और कप्तान होने के नाते मैं आगे बढ़कर अपने प्रदर्शन से नेतृत्व करना चाहता हूं। मैं अपने ही काम में थोड़ा अधिक तीव्रता से लगा हुआ था और इसी कारण इस श्रृंखला में मैंने कई बार अपनी भावनाओं को बहने दिया जिसके लिए मैं माफी मांगता हूूं।”

उन्होंने कहा, “यह अनुभव आगे जाने में मुझे मदद करेगा। यहां से मैं काफी कुछ सीख सकता हूं जो मुझे भविष्य में एक खिलाड़ी और कप्तान के तौर पर बेहतर होने में मदद करेगा।”

स्मिथ ने हालांकि मैथ्यू वेड और रवींद्र जडेजा के बीच हुई तकरार के वीडियो को अपनी वेबसाइट पर दिखाने के बीसीसीआई के फैसले पर नाखुशी जताई।

उन्होंने कहा, “हां, मैं बीसीसीआई से थोड़ा निराश हूं कि उन्होंने मैटी (वेड) और जडेजा के बीच हुई बातों के वीडियो को सबके सामने आने दिया। यह पूरी श्रृंखला में दोनों टीमों की तरफ से हुआ है। ऐसे में जो उन्होंने हमारे साथ किया, वह निराशाजनक है।”

उन्होंने कहा, “आमतौर पर मैदान पर जो होता है, वह मैदान पर ही रह जाता है। यह कड़ी श्रृंखला थी, खिलाड़ी कुछ न कुछ कह रहे थे। खिलाड़ियों की भावनाएं अपने चरम पर थीं, जो होनी भी चाहिए। बीसीसीआई ने इसे खींचा, इससे निराश हूं।”

कोहली का इस श्रृंखला में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा जिस पर उनकी आलोचना भी हुई। कोहली ने अपनी आलोचना करने वालों को जवाब देते हुए कहा, “मैं पहले ही कह चुका हूं कि यह मेरे बस में नहीं है। मैंने एक बहुत समझदार व्यक्ति को यह कहते हुए सुना है कि जब इनसान का बुरा समय होता है तो कमजोर लोग सामने आते हैं और उसके बारे में बात करते हैं।”

उन्होंने कहा, “जो शीर्ष पर हो उसके बारे में बोलने के लिए हिम्मत की जरूरत होती है। मैंने इस श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया और इसलिए मुझे व्यक्तिगत तौर पर आलोचना झेलनी पड़ी। मैंने अतीत में जब अच्छा प्रदर्शन किया तब लोगों ने मेरे बारे में बातें कीं। जब मैं अच्छी फॉर्म में नहीं हूं तो मुझे उम्मीद थी कि कुछ लोग अब सामने आएंगे और इसके बारे में बातें करेंगे। घर बैठकर ब्लॉग लिखना और माइक के पीछे से बोलना मैदान में मुकाबला करने से आसान होता है। इस बारे में मुझे, बस यही कहना है।”

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten + two =

Back to top button