breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति

Babri verdict:28 साल बाद बाबरी मस्जिद विध्वंस पर आज आएगा फैसला,कड़ी सुरक्षा

इस केस में भाजपा नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह पर आपराधिक साजिश और शत्रुता को बढ़ावा देने के आरोप हैं...

लखनऊ: Babri Masjid Demolition Case verdict today-आज 30 सितंबर, बुधवार का दिन भारतीय इतिहास में बहुत अहम होने जा रहा है। पूरे 28 साल बाद आज, 30 सितंबर 2020 को बाबरी मस्जिद विध्वंस केस (Babri Masjid Demolition Case) पर लखनऊ की एक स्पेशल CBI कोर्ट अपना फैसला सुनाने जा रही है।

गौरतलब है कि CBI की स्पेशल कोर्ट आज भाजपा के वरिष्ठ नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी जोकि पूर्व उप प्रधानमंत्री भी रहे है, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह सहित अन्य लोगों की किस्मत का फैसला करने (Babri Masjid Demolition Case verdict today) वाली है।

यह सभी बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में मुख्य आरोपी है। कोर्ट ने सभी को हाजिर रहने को कहा है लेकिन सूत्रों से पता चला है कि आज फैसले के समय लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी मौजूद नहीं रहेंगे।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को विवादित बाबरी मस्जिद को ध्वस्त कर दिया गया था। इसी केस पर आज सीबीआई की विशेष अदालत (special cbi court) अपना फैसला सुनाने वाली है।

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में सभी मुख्य आरोपी बहुत हाई प्रोफाइल है, जिनमें भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती,कल्याण सिंह और राम मंदिर ट्रस्ट के प्रमुख नृत्य गोपालदास व अन्य है।

bjp-ministers-lk-advani,-murli-manohar-joshi,uma-bharti,-kalyan-singh_optimized

चूंकि यह केस काफी हाईप्रोफाइल है इसलिए अयोध्या(Ayodhya)और लखनऊ(Lucknow) में कड़ी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है।

आज पूरी अयोध्या में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।डीआईजी दीपक कुमार के मुताबिक, सीआईडी और एलआईयू की टीमें सादी वर्दी में तैनात कर दी गई हैं।

बाहरी लोग अयोध्या में आकर माहौल न बिगाड़ने पाएं इसको लेकर खास सतर्कता बरती जा रही है।

उन्होंने बताया कि पूरे जिले में चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचने के लिए अयोध्या को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

यूपी के अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को 16 शताब्दी की मस्ज‍िद को ढहाए जाने के करीब 28 साल बाद लखनऊ की विशेष सीबीआई अदालत बुधवार को अपना फैसला(Babri Masjid Demolition Case verdict today) सुनाएगी।

babri-masjid-demolition-case-1_optimized

इस केस में भाजपा नेताओं (BJP ministers) लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह पर आपराधिक साजिश और शत्रुता को बढ़ावा देने के आरोप हैं।

अदालत ने सभी आरोपियों को कोर्ट में मौजूद रहने को कहा है लेकिन कोरोना महामारी और स्वास्थ्य कारणों से सभी ऐसा कर पाने में समर्थ नहीं हैं।

92 वर्षीय लालकृष्ण आडवाणी और 86 वर्षीय मुरली मनोहर जोशी ने कथित रूप से पेशी से छूट मांगी है।

उमा भारती कोरोना से पीड़ित हैं और अस्पताल में हैं जबकि कल्याण सिंह का भी कोरोना का इलाज जारी है।

एक अन्य हाई प्रोफाइल आरोपी राम मंदिर ट्रस्ट के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास हैं।

अदालत यह तय करेगी कि क्या भाजपा नेताओं और अन्य लोगों ने बाबरी मस्जिद को गिराने के लिए हजारों हिंदू कार्यकर्ताओं या “कार सेवकों” को उकसाया था।

Babri Masjid Demolition Case verdict today

हालांकि पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती जो कि इस केस में आरोपी हैं, उन्होंने पत्र लिखकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को साफ़ कर दिया है कि अगर उन्हें दोषी ठहराया जाता है तो वो बेल लेने की बजाय जेल जाएंगी।

उमा भारती की ही तरह ही बाबरी विध्वंस केस के आरोपी और शिवसेना के पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी संतोष दुबे ने कहा कि हमने किसी भी तरह की मस्जिद नहीं गिराई बल्कि मंदिर के स्थान पर बनी ‘महाजिद’ को गिराया था।

उन्होंने कहा कि हमें इस बात का गर्व है। संतोष ने कहा कि कोर्ट क्या फैसला सुनाती है यह तो नहीं पता, लेकिन जो भी फैसला होगा हमें वह मंजूर होगा क्योंकि अब तो हमारा सपना साकार होने जा रहा है।

Babri Masjid Demolition Case verdict today

 

दोषियों को मिले कड़ी सजा-हाजी महबूब

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में पक्षकार रहे हाजी महबूब का कहना है कि सीबीआई कोर्ट (CBI Court) के पास पुख्ता सबूत हैं।

ऐसे में आडवाणी सहित सभी आरोपियों को सजा मिलनी चाहिए। राम मंदिर का फैसला कैसा आया है? फिर भी उसको हमने मान लिया है, मगर संतुष्ट नहीं हैं।

मुस्लिम समाज को हक नहीं मिला। केवल 5 एकड़ जमीन दे दी गई है।

जिन्होंने मस्जिद तोड़ी थी उन पर दोष सिद्ध होने पर सजा मिले, कोर्ट से मेरी यही अपील है।

उन्होंने कहा कि आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी समेत सभी मेरे सामने से गुजरकर मंच पर गए थे और वहां से उत्तेजक भाषण दिए थे।

Babri Masjid Demolition Case verdict today

 

 

 

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × two =

Back to top button