breaking_newsHome sliderदेशराजनीति

भाजपा की नीति ‘फूट डालो, राज करो’ व कांग्रेस की नीति ‘प्रेम, सौहार्द और भाईचारा की विचारधारा’: राहुल गांधी

नई दिल्ली, 17 मार्च : राहुल गांधी का कांग्रेस के 84वें महाधिवेशन पर संबोधन

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने नफरत की विचारधारा का अनुसरण करते हुए ‘फूट डालो, राज करो’ नीति अपना ली है।

राहुल ने यहां कांग्रेस के 84वें महाधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा नफरत फैला रही है और समाज को बांट रही है। 

राहुल ने कहा, “देश को बांटा जा रहा है और लोगों को एक-दूसरे से लड़ाया जा रहा है।” 

उन्होंने अपनी पार्टी के पुरुष और महिला कार्यकताओं से कहा कि कांग्रेस लोगों को साथ लाने का काम करती है और जाति, धर्म या क्षेत्र के आधार पर बांटने का काम नहीं करती। 

उन्होंने कांग्रेस पार्टी के प्रतीक चिन्ह ‘हाथ’ का जिक्र करते हुए कहा,”यह ऐसा प्रतीक है, जो सारे देश को एकजुट रखता है, हमें रास्ता दिखाता है और यह देश को आगे ले जाएगा।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “हमारी पार्टी और सत्तारूढ़ पार्टी के बीच फर्क यह है कि वे नफरत की विचारधारा का अनुसरण करते हैं, जबकि हम प्रेम, सौहार्द और भाईचारा की विचारधारा का अनुसरण करते हैं।” 

उन्होंने देश में बेरोजगारी और किसानों की स्थिति को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश के करोड़ों परेशान युवाओं को रास्ता नहीं मिल रहा है। 

राहुल ने कहा, “वे यह नहीं समझते कि उन्हें कहां से राह मिलेगी।” 

राहुल ने सवालिया लहजे में कहा,”देश के किसानों को अपने उत्पादन की सही कीमत कब मिलेगी?” 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि वह सभी प्रतिनिधियों की मदद से मजबूत और नई ऊर्जा से भरपूर पार्टी का निर्माण करना चाहते हैं। राहुल ने यहां पार्टी के दो दिवसीय पूर्ण अधिवेशन का उद्घाटन करने के बाद अपने संबोधन में यह बात कही।

यह भारत की सबसे पुरानी पार्टी का 84वां अधिवेशन है। राहुल (47) ने दिसंबर 2017 में कांग्रेस के अध्यक्ष पद की कमान संभाली थी। 

राहुल ने ट्वीट कर कहा, “कांग्रेस के पूर्ण अधिवेशन में प्रतिनिधियों और प्रतिष्ठित अतिथियों का स्वागत है। अगले दो दिनों में मैं आपके साथ संवाद करने और अनुभवों व नजरियों को साझा करने के लिए उत्सुक हूं, जिससे मजबूत और ज्यादा जोश से भरपूर कांग्रेस पार्टी के निर्माण में मदद मिलेगी।”

इस अधिवेशन में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम, गुलाम नबी आजाद सहित पार्टी के वरिष्ठ नेतागण मौजूद थे। 

कांग्रेस पार्टी का यह पूर्ण अधिवेशन आठ साल बाद आयोजित हो रहा है। इस दौरान 2019 के लोकसभा चुनाव की रणनीति भी तैयार की जाएगी। 

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 3 =

Back to top button