breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराज्यों की खबरेंहेल्थ

इतिहास में पहली बार मुंबई की लाइफ लाइन "मुंबई लोकल" हो सकती है बंद..?

कोरोना के कहर से मुंबई में एक की मौत होने के बाद, शायद मुंबई लोकल को बंद करने का बड़ा निर्णय लिया जा सकता है l

corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed
नई दिल्ली, (समयधारा) : इतिहास में पहली बार मुंबई की लाइफ लाइन “मुंबईलोकल” हो सकती है बंद..?
कोरोना के कहर से मुंबई में एक की मौत होने के बाद, शायद मुंबई लोकल को बंद करने का बड़ा निर्णय लिया जा सकता है l 
देश भर में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार व राज्य सरकारें  कई बड़े निर्णय ले रही है l
इसीके चलते मुंबई में पहले ही स्कूल-कॉलेज-मॉल व सिनेमा हाल सभी पहले ही बंद किये जा चुकें है l
वही मुंबई का प्रसिद्द सिद्धि विनायक मंदिर भी अगले आदेश तक बंद किया जा चूका है,
और अब मुंबई लोकल के बंद होने से पूरी मुंबई ठप्प हो जायेगी l 
देश की आर्थिक राजधानी के लगभग बंद होने से कोरोना की भयावहता का अंदाजा लगाया जा सकता है l
इससे पहले,
महाराष्ट में 64 साल के मरीज की मौत की पुष्टि हो चुकी है।
मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में एडमिट हुए एक मरीज की मौत हो गई। भारत में कोरोनावायरस ने तीसरी जान ले ली है।
महाराष्ट्र में मंगलवार को 64 साल के एक कोरोनावायरस पेशेंट की मौत हो गई है। देश में इसके साथ ही तीन मरीजों की मौत हो चुकी है।
मंगलवार को महाराष्ट्र में पांच नए मामले सामने आए हैं, जिनमें सभी विदेशी नागरिक हैं।
corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed
राज्य में कुल मामले 44 हो चुके हैं। बता दें कि भारत के 125 मामलों में से 22 विदेशी पेशेंट हैं।
भारत में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है, यहां अब तक 44 मामले मिले हैं। अधिकतर मामले केरल, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक से भी हैं।
वही, गौतमबुद्ध नगर के चीफ मेडिकल ऑफिसर अनुराग भार्गव ने जानकारी दी है कि यहां सेक्टर 78 और सेक्टर 100 में एक-एक केस सामने आए हैं।
यहां दो लोग कोरोनावायरस टेस्ट में पॉजिटिव निकले हैं। दोनों की ट्रैवल हिस्ट्री फ्रांस की रही है। दोनों को क्वैरेन्टाइन किया गया है।
उधर, महाराष्ट्र के शिरड़ी साईं मंदिर को अनिश्चितकालीन समय तक के लिए बंद कर दिया गया है।
मंगलवार, 17 मार्च तक देश में कुल  कोरोना के 125 मामले हो चुके हैं l
corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed
उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की वेबसाइट के मुताबिक,
अब तक देश में 125 मामलों की पुष्टि हुई है, दो लोगों की मौत हो चुकी है,
वहीं 13 लोग रिकवरी के बाद घर जा चुके हैं। कर्नाटक में दो नए मामले सामने आए हैं।
सोमवार को राज्य के मेडिकल एजुकेशन मिनिस्टर (Medical Education Minister) डॉक्टर के सुधाकर ने बताया कि,
कलबुर्गी और बेंगलुरु में एक-एक मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कर्नाटक में वायरस के कुल मामले 10 हो गए हैं।
भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus in India) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।
corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed
भारत सरकार ने 31 मार्च तक अफगानिस्तान, फिलीपींस और मलेशिया से ट्रैवल पर तत्काल प्रभाव से बैन लगा दिया है।
World Health Organization (WHO) के आंकड़ों के मुताबिक,
दुनिया के 135 देश कोरोनावायरस के चपेट में हैं। यहां 1,53,517 लोग संक्रमित हैं और 7,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

Coronavirus symptoms and safety tips- स्वास्थ्य वो बीमा (health insurance) है जो ताउम्र आपके साथ रहता है।

आपकी सेहत को प्रभावित करने अब कोरोनावायरस (Coronavirus) दस्तक दे चुका है

कोरोनावायरस पहले ही विश्व में महामारी का रूप ले चुका है और अब भारत भी इससे अछूता नहीं रहा है।

पूरे भारत वर्ष में कोरोनावायरस (Coronavirus) के अभी तक 6 मामले सामने आ चुके है, जिसमें दिल्ली, जयपुर और तेलंगाना भी अब शामिल हो चुका है।

कोरोनावायरस दक्षिण कोरिया, अमेरिका, भारत समेत 60 से ज्यादा देशों में संक्रमण के रूप में फैल चुका है।

फिलहाल कोरोनावायरस से बचाव की कोई दवाई नहीं है। इसलिए कोरोनावायरस को रोकने का सबसे उत्तम उपाय है बचाव।

corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed

जी हां, बचाव और थोड़ी सी सावधानी की बदौलत ही आप कोरोनावायरस के संक्रमण (infection) से बच सकते है।

Coronavirus symptoms and safety tips

किसी भी बीमारी के बचाव के लिए जरूरी है कि आपको उसके लक्षण पता हो। इसलिए आज हम आपको  पहले कोरोनावायरस के लक्षण बताने जा रहे है।

ये है कोरोनावायरस के संक्रमण के लक्षण:

Coronavirus symptoms

नाक बहना

सिरदर्द

खांसी

गले में ख़राश

बुखार

अस्वस्थता का अहसास होना

निमोनिया, फेफड़ों में सूजन

छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना

थकान महसूस करना

गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन, पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड और नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) ने कोरोनावायरस से बचने या सुरक्षित रहने के कुछ उपाय बताए है ताकि इसके संक्रमण के खतरे से बचा जा सकें।

चलिए बताते है कोरोनावायरस से बचने के क्या है उपाय:

corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed

Coronavirussebachnekeupay_optimized

1.सबसे पहले प्रभावित इलाकों या लोगों के संपर्क में जाने से बचें। इसके लिए हाथ बार-बार साबुन से धोएं या हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें। ख़ासकर किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के फौरन बाद हाथ जरूर धोएं।

2.मास्क पहनें।

3.जिन लोगों को सांसों की परेशानी से संक्रमित मरीजों के नजदीक जाने से बचें।

4.पालतू या फिर जंगली जानवरों से दूर रहें और अधपका या कच्चा मांस न खाये।

5.छींकते समय नाक पर कपड़ा या टिशू रखें। साथ या सामने खड़े व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें।

6.अपने  घर, शरीर और कपड़ो की नियमित साफ-सफाई रखें और बीमार पड़ने पर घर में ही रहे।

7.स्वास्थ्य कर्मी खुद संक्रमण से ग्रस्त न हो, इसके लिए सभी एहतियाती उपाय किए जाएं।

8.गाउन, मास्क, दस्तानों के इस्तेमाल के अलावा अस्तपाल में संक्रमित मरीज़ों की गतिविधि पर नियंत्रण करने की भी सलाह दी गई

corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed

गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) को ऐसे सबूत मिले हैं जिनमें क़रीब के लोगों के संक्रमित होने के मामलों की पुष्टि हुई है।

इसका कारण यह भी है कि परिवार में अगर एक व्यक्ति संक्रमित हुआ है तो उसकी देखभाल करने वाले दूसरे सदस्य को भी कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा ज्यादा बन जाता है।

भारत में नेशनल सेंटर फ़ॉर डिज़ीज़ कंट्रोल के डायरेक्टर डॉ. सुजीत कुमार सिंह के मुताबिक़, यह वायरस मर्स और सार्स वायरस की तरह जानवरों से ही आया है।

दस से बीस दिनों के भीतर ही यह वायरस 40 से 550 लोगों को संक्रमित कर चुका है। जो वायरस अब तक चीन तक ही सीमित था वो अब 5-6 देशों तक भी पहुंच चुका है।

हां, भारत ने एक ट्रैवल अडवाइज़री जारी की है। चीन और ईरान के लिए जारी सभी वीज़ा रद्द कर दिए गए हैं।

सरकार ने इटली, कोरिया और सिंगापुर जाने को लेकर भी दिशानिर्देश जारी किए हैं। सरकार हालात को देखते हुए अन्य देशों को लेकर भी ऐसे क़दम उठा सकती है।

corona-effect-first-time-in-history-mumbais-lifeline-mumbai-local-can-be-closed

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two − two =

Back to top button