breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंविभिन्न खबरेंविश्वहेल्थ
Trending

CoronaVirus : जरुरी दवाओं के एक्सपोर्ट पर रोक..! सरकार Alert..!

कोरोना वायरस से चीन में छुट्टियां हो सकती है लंबी, भारत पर होगा सीधा गलत असर

coronavirus-impact ban-on-export-of-essential-medicines companies-fear-china-holiday-extension

नयी दिल्ली, (समयधारा) : कोरोना वायरस (Corona Virus) से पूरा विश्व आतंकित है l

इस महामारी ने न सिर्फ चीन बल्कि समस्त विश्व में हाहाकार मचा हुआ है l  इसकी वजह से पूरा विश्व डरा हुआ है l 

भारत सरकार भी इस मामले में कोई जोखिम नहीं लेना चाहती l सरकार ने संसद में कोरोना वायरस को लेकर जवाब दिया

कोरोना वायरस से चीन में अब तक 811 लोगों की मौत हो चुकी है और भारत में अब तक 1 हजार से ज्यादा फ्लाइट्स की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

भारत सरकार कोरोना वायरस के लिए जरुरी दवाओं की किल्लत उनकी कमी को रोकने के लिए जरुरी कदम उठा रही है l

सूत्रों के अनुसार कोरोना वायरस की चिंता के चलते जरूरी दवाओं के एक्सपोर्ट पर सरकार रोक लगा सकती है।

coronavirus-impact ban-on-export-of-essential-medicines companies-fear-china-holiday-extension

देश में दवाओं की किल्लत हो सकती है। दवाओं की किल्लत के मद्देनजर सरकार एक्शन में आ गई है।

सरकार दवाओं की सप्लाई पर रोक लगा सकती है। एंटीबायोटिक, डायबिटीज जैसी दवाओं पर रोक लगाई जा सकती है।

WHO ने कोरोनावायरस को घोषित किया ग्लोबल इमरजेंसी,जानें क्या है Coronavirus,लक्षण,बचाव के उपाय 

what is Coronavirus-symptoms-prevention tips

उच्च स्तरीय कमिटी इस पर विचार कर रही है। सरकार एंटीबायोटिक्स, विटामिन और डाइबिटीज जैसी दवाओं के एक्सपोर्ट पर रोक लगा सकती है।

DOP ने उच्च स्तरीय कमिटी गठित की है। एंटीबायोटिक्स, विटामिन के एक्सपोर्ट पर रोक लगाई जा सकती है।

कमिटी ने फार्मा कंपनियों से जानकारी मांगी है। सप्लाई पर कोरोना के संभावित असर की जानकारी मांगी गई है।

coronavirus-impact ban-on-export-of-essential-medicines companies-fear-china-holiday-extension

कमिटी, चीन से API इंपोर्ट की समीक्षा कर रही है। दूसरी तरफ चीन ने मैन्युफैक्चरिंग यूनिट बंद किए हैं।

देशी फार्मा कंपनियां करीब 90 फीसदी API इंपोर्ट करती हैं जबकि सरकार हालात की रोजाना समीक्षा कर रही है।

लूनर न्यू ईयर के बाद से ही चीन के शहरों में कामकाज ठप है जिसका असर ग्लोबल ऑटो मार्केट पर भी हो रहा है।

इस हफ्ते से लोगों के काम पर दोबारा लौटने की उम्मीद है लेकिन दूसरी तरफ कंपनियों को डर है कि,

सरकार न्यू ईयर की छुट्टी को फिर बढ़ा सकती है।

माना जा रहा है कि चीन की सरकार कुछ प्रांतों में लूनर न्यू ईयर की छुट्टियां बढ़ाकर 17 फरवरी तक कर सकती है।

चीन के जिन इलाकों में कामकाज चल रहा है वहां भी हर दिन कर्मचारियों का बुखार चेक किया जा रहा है।

कामकाज के इलाके को सैनिटाइज करते हुए सुरक्षा के सारे उपाय किए जा रहे हैं।  

इस बात की गारंटी भी नहीं है कि इन छुट्टियों को 17 फरवरी के बाद नहीं बढ़ाया जाएगा।

coronavirus-impact ban-on-export-of-essential-medicines companies-fear-china-holiday-extension

अगर चीन छुट्टियों को और बढ़ाता है तो इससे संकट का स्तर बढ़ जाएगा।

ऑटो, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स और इलेक्ट्रॉनिक्स की कंपनियों के लिए चीन सप्लाई हब है।

ऐसे में अगर वहां शटडाउन रहता है तो इसका नुकसान सिर्फ चीन ही नहीं बल्कि दुनिया भर की कंपनियों को उठाना पड़ सकता है।

कोरोना वायरस को लेकर भारत सहित पूरा विश्व हाई अलर्ट पर है l भारत ने इस वायरस को भारत में फैलने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठायें है l 

coronavirus-impact ban-on-export-of-essential-medicines companies-fear-china-holiday-extension

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: