breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

तूफान निसर्ग अपडेट: घरों में रहे,मोबाइल चार्ज,गैस बंद रखें,जानें BMC की चेतावनियां

निसर्ग तूफान के लैंडफॉल के साथ ही मुंबई-महाराष्ट्र में तेज हवाएं,भारी बारिश और कहीं-कहीं पेड़ उखड़कर गिर गए है

मुंबई:Cyclone Nisarga moving Mumbai-BMC alerts dos-don’ts-चक्रवाती तूफान बुधवार करीब 1 बजे तट महाराष्ट्र में तटों से टकरा चुका है। इसका असर अगले तीन घंटों तक रहेगा। फिर चक्रवाती तूफान निसर्ग धीरे-धीरे मुंबई (Mumbai) की ओर बढ़ेगा।

निसर्ग तूफान के लैंडफॉल (Cyclone Nisarga landfall) के साथ ही मुंबई-महाराष्ट्र में तेज हवाएं,भारी बारिश और कहीं-कहीं पेड़ उखड़कर गिर गए है।

महाराष्ट्र के तटों से चक्रवाती तूफान निसर्ग के टकराने के कारण आगामी 12 घंटों में 100 से 120 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से तेज हवाएं चलने और भारी बारिश के अलावा भूस्‍खलन भी हो सकता है।

हालांकि एनडीआरएफ (NDRF) की 30 टीमें मौके पर मौजूद है और तटीय क्षेत्रों में रहने वालों को राहत शिविरों में शिफ्ट किया जा रहा है।

राज्य में धारा 144 लगाई गई है। लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है। बीएमसी (BMC) का कंट्रोल रूम हाई अलर्ट पर है।

100 साल बाद मुंबई किसी चक्रवाती तूफान से जूझ रही है। पहले ही महाराष्ट्र और मुंबई में कोरोनावायस (Coronavirus) का कहर बरप रहा है।

निसर्ग तूफान को देखते हुए मुंबई को हाई अलर्ट पर रखा गया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी कल राज्य के निवासियों से घरों में ही सुरक्षित रहने की अपील की थी।

निसर्ग तूफान से होने वाले संभावित खतरे और परेशानियों को देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने नागरिकों के लिए चेतावनियां जारी की है और बताया है कि निसर्ग तूफान से बचने के लिए क्या सावधानियां बरतें:

Cyclone Nisarga moving Mumbai-BMC alerts dos-don’ts

 

निसर्ग तूफान से बचने के लिए जरूरी है सतर्कता,इसलिए यह करें

-BMC ने नागरिकों से कहा है कि वह अपने जरूरी कागज,डॉक्यूमेंट्स और जूलरी को प्लास्टिक के बैग में रखें।

-मोबाइल, टॉर्च चार्ज करके रखें। घरों में रहें।

-जो उपकरण बैटरी से चलते है उनके साथ रिजर्स पावर सिस्टम का निरंतर निरीक्षण करें।

-टीवी और रेडियों पर ऑफिशियली जो निर्देश दिए जा रहे है,उनपर ध्यान दें।

 -इमरजेंसी की सिचुएशन में उठाये जाने वाले कदमों का अभ्यास करें।

-अगर आपका घर मिट्टी या झोपड़ी नहीं है तो अपने घर के एक हिस्से को इमरजेंसी शेल्टर के रूप में चुनें और घर के मेंबर तूफान के दौरान कैसे करेंगे इस बात की प्रैक्टिस करें।

-एक इमरजेंसी किट हमेशा तैयार रखें।

-घरों की कुछ खिड़कियां खुली रखें और कुछ बंद रखें ताकि दबाव बना रहे। खिड़कियों से दूर रहें।

Cyclone Nisarga moving Mumbai-BMC alerts dos-don’ts

-अपने कमरे के कोनों से दूर रहें और केवल कमरे के केंद्र में रहें। चूंकि अक्सर चक्रवात के आने से कोनों में मलबा जमा हो जाता है।

भारी और मजबूत फर्नीचर जैसेकि भारी टेबल,स्टूल या डेस्क के नीच रहें।

 -अपने सिर और गर्दन की सुरक्षा के लिए अपने हाथों का इस्तेमाल करें।

 – शॉपिंग मॉल या ऑडिटोरियम जैसे स्थानों पर जाने से बचें।

 -प्रशासन निर्धारित या पूर्वनिर्धारित स्थानों पर जाए।

– घरो में गैर जरूरी उपकरणों और टूल्स की बिजली सप्लाई बंद करें।

-तूफान के कारण अगले सात-आठ घंटों में तबाही की संभावना है। इसलिए पीने का पानी को भरकर रखें।

-तूफान में फंसे या घायल लोगों की हेल्प करें। आवश्यकता पड़ने पर फर्स्ट एड दें।

-रसोई गैस के लीक होने की बदबू आती है या आवाज सुनाई देती है तो फौरन खिड़कियां खोल दें और बिल्डिंग से बाहर निकल जाए। संभव हो तो गैस वॉल्व बंद कर दें और अपनी गैस कंपनी को रिपोर्ट करें।

-बिजली के उपकरणों को जांचते रहे। अगर किसी तरह के स्पार्क,नंगे तार या रबड़ के जलने की बदबू आएं तो बिजली की सप्लाई बंद कर दें और इलेक्ट्रीशियन को बुलाएं।

शारीरिक रूप से विकलांग, बुजुर्ग, पड़ोसी और बच्चों की आवश्यकता पड़ने पर मदद करें।

 

निसर्ग तूफान के दौरान यह न करें-Cyclone Nisarga moving Mumbai-BMC alerts dos-don’ts

-बिल्कुल भी अफवाहों पर भरोसा न करें और न खुद अफवाहें फैलाये।

– निसर्ग चक्रवात के दौरान वाहनों को चलाने या फिर किसी वाहन में बैठकर जाने की कोशिश न करें।

-डैमेज बिल्डिंग से दूर रहें।

-लोगों के घायल होने की अवस्था में उन्हें तक तक दूसरी जगह शिफ्ट न करें जब तक की ऐसा करना सुरक्षित न हो वर्ना ज्यादा नुकसान हो सकता है।

– घायल लोगों को दूसरी जगह तब तक शिफ्ट नहीं

– तेल और अन्य ज्वलनशील पदार्थों को फैलाव को रोकें। फौरन साफ करें।

महाराष्ट्र सरकार ने निसर्ग तूफान को देखते हुए नागरिकों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए है।

निसर्ग तूफान के लिए हेल्पलाइन नंबर: तूफान को लेकर मुंबई और महाराष्ट्र के अन्य इलाकों के लिए जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर इस प्रकार हैं- 022 2202 7990, 022 2279 4229, 9321587143, 9321590561

मुंबईकर अगर तूफान से संबंधित कोई जानकारी लेना चाहते हैं तो उन्हें 1916 डायल करना होगा फिर 4 दबाना होगा।

इसके बाद वे तूफान से संबंधित जानकारी ले सकते हैं. सारी शंकाओं का समाधान इस हेल्पलाइन नंबर से हो सकता है।

Cyclone Nisarga moving Mumbai-BMC alerts dos-don’ts

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 − eight =

Back to top button