breaking_newsHome sliderदेशराजनीतिराज्यों की खबरें

गोवा परिणाम: 17 सीटों के साथ कांग्रेस बड़ी पार्टी लेकिन 13 सीटों के साथ बीजेपी भी पेश करेगी सरकार बनाने का दावा, अन्यों का रोल अहम

पणजी, 12 मार्च:  गोवा विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को घोषित परिणामों के बाद राज्य में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बन गई है। इस बीच कांग्रेस और भाजपा ने सरकार बनाने के दावे किए हैं। 

कांग्रेस 40 सदस्यीय विधानसभा में 17 सीटें जीत कर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। जबकि भाजपा को 13 सीटें मिली हैं। 

कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी जल्द ही सरकार बनाने का दावा पेश करेगी, जबकि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी घोषणा कर दी है कि उनकी पार्टी गोवा में सरकार बनाएगी।

वालपोई से कांग्रेस विधायक विश्वजीत राणे ने पणजी में आईएएनएस से कहा, “समान विचारधारा के कई लोग चुनाव जीते हैं, जिसमें मेरे मित्र (गोवा फॉरवर्ड के) विजय सरदेसाई शामिल हैं। पार्टी नेतृत्व के निर्णय के बाद निश्चित रूप से हम सरकार बनाएंगे।”

महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) और गोवा फॉरवर्ड को तीन-तीन सीटें और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) को एक सीट हासिल हुई है। तीन सीटें निर्दलीयों ने जीत ली है।

मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर मंद्रेम सीट से कांग्रेस के दयानंद सोप्टे से करीब 7,119 मतों के अंतर से चुनाव हार गए हैं। इस हार से सत्तारूढ़ भाजपा को करारा झटका लगा है।

पारसेकर ने अपनी हार के बाद राज्यपाल मृदुला सिन्हा को इस्तीफा सौंप दिया है।

इसके पहले पारसेकर संवाददाताओं से बात किए बिना ही पणजी में मतगणना केंद्र से बाहर निकल गए, वहीं दयानंद सोप्टे ने अपनी जीत का श्रेय अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को देते हुए कहा कि लोग पारसेकर के काम से नाखुश हैं।

सोप्टे ने कहा, “7,119 वोटों का अंतर दर्शाता है कि जनता मुख्यमंत्री के काम से खुश नहीं है।”

पोरियम सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस उम्मीदवार प्रताप सिंह राणे ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के विश्वजीत के. राणे को शिकस्त दी है।

उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा ने महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के अपने प्रतिद्वंदी विनोद फड़के को 6,828 वोटों के अंतर से हराकर मापुसा सीट जीत ली है।

वहीं, बेनॉलिम सीट से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के चर्चिल अलेमाओ ने आम आदमी पार्टी के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रोयला फर्नांडीस को 5,191 वोटों के अंतर से हरा कर जीत हासिल की है।

एमजीपी के अध्यक्ष दीपक धवलीकर को निर्दलीय उम्मीदवार गोविंद गावडे ने प्रिओल सीट से 4,686 मतों के अंतर से हरा दिया।

मत्स्य पालन मंत्री अवर्तानो फर्टाडो को कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष लुइजिन्हो फलेरो ने नवेलिम सीट से 2,478 मतों अंतर से हरा दिया। जबकि वन एवं पर्यावरण मंत्री राजेंद्र अर्लेकर को एमजीपी के मनोहर अजगांवकर के हाथों 6,030 मतों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा।

पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत के अनुसार, चुनाव परिणाम भाजपा नेतृत्व वाले गठबंधन के गाल पर करारा तमाचा है।

कामत ने कहा, “हर जगह मंत्री हार गए हैं, यहां तक कि मुख्यमंत्री चुनाव हार गए हैं। मंत्री प्रथम चक्र की मतगणना के साथ ही मतगणना केंद्र छोड़ कर भाग गए।”

तटीय राज्य में सत्ता हासिल करने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी (आप) को एक भी सीट हासिल नहीं हुई है और मुख्यमंत्री पद के उसके उम्मीदवार एल्विस गोम्स कंकोलिम सीट पर चौथे स्थान पर रहे और उन्हें केवल 3,336 वोट ही हासिल हो पाए।

कंकोलिम से कांग्रेस उम्मीदवार ने निर्दलीय प्रत्याशी जोआक्वि म अलेमाओ को मात्र 213 वोटों के मामूली अंतर से हराकर सीट हासिल कर ली।

गोम्स ने परिणाम आने के बाद संवाददाताओं से कहा, “हमें जनता की इच्छा का आदर करना चाहिए। आप ने गोवा में अपना प्रभाव जमाया है और हम अपना काम करते रहेंगे।”

आरएसएस के पूर्व नेता सुभाष वेलिंकर की पार्टी गोवा सुरक्षा मंच भी अपना खाता नहीं खोल पाई।

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × one =

Back to top button