breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें

Hathras Rape Case: DM को हटाओ-मायावती, SIT फिर गयी पीड़िता के घर

जब तक इंसाफ नहीं तब तक अस्थियाँ विसर्जित नहीं करेंगे - सीबीआई से जांज नहीं हम सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में जांच हो

hathras-rape-case mayawati-said-remove-dm sit-went-again-victims-home-to-record-statement

नई दिल्ली (समयधारा) हाथरस केस का मामला दिन ब दिन उलझता ही जा रहा है l

विपक्ष इस मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार के साथ-साथ योगी सरकार पर भी तीखा हमला बोल रहा है l 

हाथरस केस में सियासत जितना तेजी से हो रही है, जांच एजेंसियां भी उतना तेजी से काम करना शुरू कर दिया है।

रविवार को एक फिर से स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (Special Investigation Team-SIT) टीम हाथरस पहुंची है।

शनिवार को पीड़िता के पिता का बयान नहीं हो पाए थे। जिसके चलते आज फिर टीम पहुंच गई है।

कल रात को SIT की टीम घर आई थी। टीम हाथरस में पीड़िता के घर पर परिवारवालों का बयान रिकॉर्ड कर रही है।

हाथरस मामले में चौतरफा घिरी योगी सरकार ने CBI  से जांच कराने का फैसला किया है।

hathras-rape-case mayawati-said-remove-dm sit-went-again-victims-home-to-record-statement

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़ित परिवार से मुलाकात करके लौटे अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी और DGP हितेश चंद्र अवस्थी की रिपोर्ट के बाद

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार की रात ट्वीट कर फैसले की जानकारी दी।

वहीं, BSP अध्यक्ष मायावती ने रविवार को एक ट्वीट कर कहा कि गैंगरेप कांड के पीड़ित परिवार ने जिले के डीएम पर धमकाने आदि के कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

फिर भी यूपी सरकार की रहस्मय चुप्पी दुःखद व अति-चिन्ताजनक है। मायावती ने कहा है कि सरकार CBI जांच के लिए राजी हुई है,

लेकिन मौजूदा DM के तैनात रहते इस मामले की निष्पक्ष जांच कैसे हो सकती है? इस बात को लेकर लोग आशंकित हैं।

hathras-rape-case mayawati-said-remove-dm sit-went-again-victims-home-to-record-statement

इससे पहले, 

Hathras Rape Case: हाथरस मामले में जब मीडिया को पीड़िता से मिलने की इजाजत मिली तो कई तस्वीर सामने आई है।

प्रशासन की लापरवाही और आनन फानन में शव का अंतिम संस्कार किए जाने से पीड़ित परिवार बेहद नाराज है।

हाथरस DM प्रवीण कुमार पर भी सवाल उठ रहे हैं। पीड़िता का परिवार पहले ही DM पर धमकी देने और दबाव डालने का आरोप लगा चुका है।

युवती के भाई ने कहा कि हमने ऐसा कौन सा गुनाह किया है जो हमारे परिवार के साथ इतनी बदसलूकी हो रही है।

उन्‍होंने डीएम प्रवीण कुमार को पद से हटाने की मांग भी की है। इस बीच, परिवार ने यह भी ऐलान कर दिया है कि

वे पीड़िता की अस्थियों को विसर्जित नहीं करेंगे क्‍योंकि उन्‍हें नहीं पता कि ये उसकी ही हैं।

मीडिया से बातचीत करते हुए पीड़िता के भाई ने कहा कि हम CBI से जांच नहीं कराना चाहते हैं। हम न्यायिक जांच की मांग कर रहे हैं।

हम चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में जांच हो। हम खुश तब ही होंगे जब हमारे सभी सवालों के जवाब मिलेंगे।

बिना हमारी मर्जी के शव को लाया गया। शव को एक बार दिखाया तक नहीं गया।

इतना ही नहीं हमारी बहन के शव को पेट्रोल से क्यों जलाया। बहन का बुरी तरह से अंतिम संस्कार किया गया है।

hathras-rape-case mayawati-said-remove-dm sit-went-again-victims-home-to-record-statement

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − 6 =

Back to top button