breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

6 से 19 जुलाई तक कोलकाता में नहीं उतरेगी मुंबई-दिल्ली-पुणे आदि 6 शहरों से कोई फ्लाइट

कोलकाता एअरपोर्ट ने दिल्ली, मुंबई, पुणे, नागपुर, चेन्नई और अहमदाबाद से कोलकाता आने वाली सभी फ्लाइट पर 6 जुलाई से 19 जुलाई तक रोक लगा दी है

kolkata-airport-ban-flights from–6-cities including-delhi-and-mumbai banned-from-july-6 to 19
कोलकाता : कोरोना वायरस से देश भर में हाहाकार मचा हुआ है l
देश की राजधानी दिल्ली सहित मुंबई और अन्य शहरों में कोरोना तेजी से अपना पाँव पसार रहा है l
इसी की चलते  कोलकाता एअरपोर्ट ने दिल्ली, मुंबई, पुणे, नागपुर, चेन्नई और अहमदाबाद से कोलकाता आने वाली
सभी फ्लाइट पर 6 जुलाई से 19 जुलाई तक रोक लगा दी है l 
अब अगर आप कोलकाता जाना चाहते हैं तो आपको लंबा इतंजार करना पड़ेगा।
पश्चिम बंगाल की सरकार ने इन शहरों में बढ़ते कोरोनावायरस (Covid-19) के मामलों को देखते हुए,
यहां से कोलकाता जाने वाली फ्लाइट पर रोक लगा दी है। इसका मतलब है कि इन 6 शहरों से कोलकाता जाने के लिए
जिन पैसेंजर ने 6 जुलाई से लेकर 19 जुलाई के बीच एयर टिकट लिया है उन्हें अपना प्लान रीशिड्यूल करना होगा।
पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने पहले केंद्र सरकार को लेटर लिखकर
इन 6 शहरों से कोलकाता फ्लाइट आने पर रोक लगाने की मांग की थी।
कोलकाता एयरपोर्ट के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से शनिवार को यह ट्वीट करके बताया गया कि
6 से 19 जुलाई तक दिल्ली, मुंबई, पुणे, नागपुर, चेन्नई और अहमदाबाद से कोई भी फ्लाइट कोलकाता नहीं आएगी।
सूत्रों के मुताबिक, सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने भी एयरलाइंस को इस बात की जानकारी दे दी थी।
ममता बनर्जी ने कोलकाता आने वाले प्लेन रोकने का फैसला ऐसे समय में किया है,
जब शुक्रवार को DGCA ने भी इंटरनेशनल प्लेन का कामकाज रोकने की बात कही थी।
DGCA ने शुक्रवार को कहा था कि इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट का कामकाज 31 जुलाई तक बंद रहेगा।
kolkata-airport-ban-flights from–6-cities including-delhi-and-mumbai banned-from-july-6 to 19

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 2 =

Back to top button