breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराज्यों की खबरें
Trending

आखिरकार ट्रेनों का निजीकरण नहीं, रेल मंत्री ने कहा सिर्फ ट्रेनों का विस्तार

केंद्र सरकार ने 109 रूट्स पर प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से 151 आधुनिक ट्रेन चलाए जाने का फैसला सिर्फ रेलवे की सेवा में सुधार

piyush-goyal refutes claims-of-privatisation-of-indian-railways
नई दिल्ली (समयधारा) : पिछले कई दिनों से रेलवे के निजीकरण की चर्चा देश में जोरों शोरों से जारी है l
इन चर्चाओं को हवा तब मिली जब केंद्र सरकार ने 109 रूट्स पर प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से 151 आधुनिक ट्रेन चलाए जाने का फैसला किया l 
पर इन तमाम अफवाहों पर  केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने विराम लगते हुए साफ-साफ कहा है कि
रेलवे का निजीकरण (Privatisation) नहीं होगा। उन्होंने कहा है कि कुछ रूट्स पर प्लाइवेट प्लेयर्स को ट्रेन चलाने की मंजूरी से रेलवे की सेवा में सुधार होगा


और नए रोजगार के अवसर मुहैया होंगे। रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे की सभी सेवाएं पहले ही तरह सामान्य रूप से आगे भी चलती रहेंगी।
 पियूष गोयल ने ट्वीट कर लिखा है, “रेलवे की वर्तमान में चल रही सेवाओं में बिना कोई परिवर्तन किये,
निजी भागीदारी द्वारा आधुनिक सुविधाओं से युक्त 151 नई ट्रेनें चलेंगी।
piyush-goyal refutes claims-of-privatisation-of-indian-railways
इन ट्रेनों से रेलवे का निजीकरण नही होगा, बल्कि इस भागीदारी से आधुनिक सुविधा,
सुरक्षा सहित सीटों की उपलब्धता बढ़ेगी, जिसका लाभ यात्रियों को मिलेगा।”


गौरतलब है कि हाल ही में रेलवे द्वारा कुछ क्षेत्रों में निजी ट्रेन (Private Trains) चलाने की योजना का जिक्र होने के बाद से ही
सोशल मीडिया पर निजीकरण की बातें उठ रही हैं। दरअसल, केंद्र सरकार ने 109 रूट्स पर प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से 151 आधुनिक ट्रेन चलाए जाने का फैसला किया है।
सरकार के इस फैसले से रेलवे के निजीकरण (Railway Privatisation) को लेकर सोशल मीडिया पर पिछले कुछ समय से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है।
सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें वायरल हो रही हैं जिनमें दावा किया जा रहा है कि सरकार भारतीय रेल का निजीकरण करने जा रही है।
आखिरकार रेल मंत्री पियूष गोयल के इस बयान से यह साफ़ हो गया की रेलवे के विस्तार में प्राइवेट प्लेयर को जगह दी गयी है l 
piyush-goyal refutes claims-of-privatisation-of-indian-railways

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

Back to top button