breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें
Trending

बड़ी खबर: उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की दर्दनाक मौत, ये थी अंतिम इच्छा

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता मौत के आगे हार गई जिंदगी की जंग, जलाया गया था जिंदा

नई दिल्ली:Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital-पहले गैंगरेप और फिर जिंदा जलाएं जाने के बावजूद भी उन्नाव गैंगरेप पीड़िता (Unnao gang rape victim) जिंदगी जीने की जंग लड़ती रही और फिर आखिरकार शुक्रवार रात 11.40 मिनट पर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसने अंतिम सांस ली (Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital)।

आरोपियों द्ववारा 95 फीसदी जलाये जाने के बावजूद भी सहासी उन्नाव पीड़िता जीने की चाह रखती थी लेकिन हैवानों की हैवानियत जीत गई और उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने दम तोड़ (Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital) दिया।

मरने से पहले ये थी पीड़िता की अंतिम  इच्छा-Unnao gang rape victim last wish

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता (Unnao gang rape victim) का शरीर 95 फीसदी जल चुका था फिर उसने जीने की आस नहीं छोड़ी थी और शुक्रवार को ही अपने भाई से इलाज के दौरान कहा था कि  ‘मैं मरना नहीं चाहती हूं… दोषियों को बिल्कुल भी छोड़ना नहीं है।’ इसके बाद शुक्रवार रात ही 11.40 पर पीड़िता ने दम तोड़ दिया। अपने दोषियों को सजा दिलाना ही पीड़िता की अंतिम इच्छा (Unnao gang rape victim last wish)थी।

गैंगरेप पीड़िता को 5 आरोपियों ने जिंदा जलाने की कोशिश की थी, जिसके बाद उसे लखनऊ (Lucknow) में भर्ती कराया गया, लेकिन बाद में दिल्ली ले आया गया।

उत्‍तर प्रदेश (Utter Pradesh) के उन्नाव (Unnao) में आग के हवाले की गई रेप पीड़िता की शुक्रवार देर रात 11.40 बजे दिल्‍ली (Delhi) के सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung Hospital) में कार्डियक अरेस्‍ट से मौत हो गई।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गैंगरेप का शिकार हुई पीड़िता को आरोपियों ने जिंदा आग में झोंक दिया था। उसकी हालत तभी से बहुत नाजुक बनी हुई थी चूंकि पीड़िता का पूरा शरीर 95 फीसदी तक जल चुका था।

गुरुवार शाम को ही पीड़िता को एयरलिफ्ट करके लखनऊ के श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्पताल से दिल्ली लाया गया था। पीड़िता को दिल्ली (Delhi) के सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung Hospital) में भर्ती कराया गया था।

सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि  ‘हमारे बेहतर प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा (Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital) सका।

उसकी हालत शाम में खराब होने लगी। रात 11.10 बजे उसे कार्डियक अरेस्‍ट आया। हम लोगों ने इलाज शुरू किया और उसे बचाने का भरसक प्रयत्न किया। लेकिन 11.40 मिनट पर उसकी मौत हो गई।’

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता (Unnao gang rape burnt victim) के शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

ध्यान दें 6 दिसंबर का दिन देश की दो गैंगरेप पीड़िताओं की जलाकर हत्या करने की घटनाओं के अंजाम को लेकर रहा।

एक ओर जहां हैदराबाद की पशु चिकित्सक डॉ. दिशा को गैंगरेप करके जिंदा जलाने (Hyderabad doc rape-burnt brutally murder)  वाले आरोपियों का हैदराबाद पुलिस ने एनकाउंटर करके किस्सा तमाम कर दिया,

तो वहीं दूसरी ओर, उन्नाव गैंगरेप पीड़िता (gang rape) आरोपियों द्वारा जिंदा जलाये जाने के कारण आखिरकार मौत की गोद में जाकर सो गई।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता मौत के आगे हार गई जिंदगी की जंग, जलाया गया था जिंदा

Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital

गौरतलब है कि यूपी के उन्नाव में एक 20 वर्षीय गैंगरेप पीड़ित युवती को गुरुवार तड़के पांच लोगों ने जिंदा जला दिया था।

एक और हैवानियत की मिसाल कायम करती इस घटना में शामिल सभी पांचों आरोपियों को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने थाने जाकर जो शिकायत दर्ज कराई थी उसमें बताया था कि शिवम त्रिवेदी नामक शख्स ने उसे अपने प्रेमजाल में फंसाकर उसका रायबरेली ले जाकर रेप किया था। त्रिवेदी ने पीड़िता का रेप करके वीडियो बना लिया था और

फिर वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसका लगातार रेप करता रहा था। बकौल पीड़िता शिवम ने कई शहरों में उसे ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया था। पीड़िता ने शिवम पर शादी के लिए दबाव बनाया लेकिन वो नहीं माना।

उन्नाव की गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने वाले एक अन्य आरोपी ने भी उसका रेप किया था और वो कुछ ही दिन पहले जमानत लेकर जेल से बाहर आया था।

पीड़िता ने बताया था कैसे जिंदा जलाया उसे-Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital

उन्नाव की पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया चूंकि आरोपियों ने उसे 90फीसदी तक जिंदा जला दिया था।

पीड़िता ने बताया था कि वो रायबरेली में अपनी बुआ के यहां रहती थी। गुरुवार तड़के चार बजे जब वो ट्रेन पकड़ने के लिए बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन पर जा रही थी तो उस दरम्यान मौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर, शुभम, शिवम और उमेश ने उसको घेरा और डंडे, चाकू से वार किए।

इससे वह चक्कर खाकर जमीन पर गिर गई और तब आरोपियों ने उसपर पेट्रोल डालकर उसे जिंदा जला दिया।

SIT कर रही है मामले की तफ्तीश

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को जलाकर हत्या करने के केस की जांच एसआईटी कर रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ ने पीड़ित युवती का इलाज सरकारी खर्चे पर करने की घोषणा की थी और गुरुवार सुबह उसे तकरीबन 10बजे बेहद नाजुक हालत में अस्पताल में एडमिट कराया गया था।

परिजनों को मिल रही धमकियां

गैंगरेप पीड़िता के चाचा-चाची को एक आरोपी के रिश्तेदार ने जान से मारने की धमकी दी है। इसके बाद पुलिस ने उन्हें सुरक्षा दी है। प्रवीण कुमार, आईजी लॉ ऐंड ऑर्डर, ने कहा है कि एहतियातन पीड़िता के घर पर एक सब इन्स्पेक्टर व 2 कॉन्स्टेबलों को तैनात किया गया है।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता (Unnao rape case) और जलाकर हत्या करने के पांचों आरोपियों को कोर्ट में पेश करके जेल में डाल दिया गया है।

Unnao gang rape burnt victim dies at Delhi hospital

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Reena Arya

रीना आर्य www.samaydhara.com की फाउंडर और एडिटर-इन-चीफ है। रीना आर्य ने पत्रकारिता के महज 6-7 साल के भीतर ही अपने काम के दम पर न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपनी पहचान बनाई बल्कि तमाम चुनौतियों और पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए समयधारा.कॉम की नींंव रखी। हर मुद्दे पर अपनी ज्वलंत और बेबाक राय रखने वाली रीना आर्य एक पत्रकार, कंटेंट राइटर,एंकर और एडिटर की भूमिका निभा चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 1 =

Back to top button