breaking_newsHome sliderदेशराज्यों की खबरें

यूपी: देश में आईएस का पहला आतंकी हमला, लखनऊ में एटीएस व आतंकी के बीच मुठभेड़ जारी; दिल्ली से एनआईए टीम रवाना

लखनऊ, 8 मार्च : उत्तर प्रदेश में चल रहे विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच राजधानी के ठाकुरगंज इलाके के हाजी कॉलोनी में एक घर में छिपे इस्लामिक स्टेट (आईएस) के संदिग्ध आतंकी सैफुल और राज्य के आतंकवाद-रोधी दस्ते के बीच मुठभेड़ मंगलवार की देर शाम से जारी है। 

शुरुआती गोलीबारी के बाद काफी समय से गोलीबारी रुकी हुई है। इस बीच एटीएस के जवानों ने घर के अंदर मिर्ची बम फेंके, लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ।

वरिष्ठ अधिकारियों ने अभियान की कमान संभालते हुए घर के बाहर डेरा जमा लिया है और केंद्रीय गृह मंत्रालय भी अभियान निगरानी कर रहा है।

पुलिस ने दोपहर से ही इलाके की घेरेबंदी कर रखी है और स्थानीय निवासियों को अपने-अपने घरों के अंदर ही रहने की हिदायत दी है। संदिग्ध आतंकवादी जिस घर में छिपा हुआ है, उससे सटे हुए घरों को खाली करवा लिया गया है।

अभियान के रात में भी जारी रहने की आशंका को देखते हुए रात में देखे जा सकने वाले चश्मे, एंबुलेंस, अग्निशमन दल और अतिरिक्त सुरक्षा बलों को भी बुला लिया गया है।

एटीएस को खुफिया विभाग से संदिग्ध आतंकवादी सैफुल के इलाके में छिपे होने की सूचना मिली, जिसके बाद सुरक्षा बल उसे गिरफ्तार करने पहुंचा, लेकिन आतंकवादी ने एटीएस दस्ते पर गोलीबारी शुरू कर दी।

सैफुल के मंगलवार को ही मध्य प्रदेश में एक ट्रेन में हुए विस्फोट में भी शामिल होने की शंका है। एटीएस के जवानों ने भी घर की पहली मंजिल पर छिपे आतंकवादी सैफुल के हमले का जवाब दिया। मौका एक वारदात पर मौजूद एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि उनकी पूरी कोशिश है कि संदिग्ध को जीवित गिरफ्तार कर लिया जाए, साथ ही कोई अन्य क्षति न हो, क्योंकि यह एक रिहायशी इलाका है।

मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले के जबड़ी स्टेशन के पास भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में मंगलवार की सुबह लगभग 10 बजे विस्फोट हुआ, जिसमें कम से कम आठ यात्री घायल हुए हैं।

सूत्रों ने बताया कि संदिग्ध आतंकवादी जिस घर में छिपा हुआ है वह मलीहाबाद के रहने वाले बादशाह खान का है और संदिग्ध आतंकवादी पिछले दो दिनों से दो साथियों के साथ रह रहा है।

घटना से जुड़े मामले में एक अन्य संदिग्ध को एटीएस ने कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) दलजीत चौधरी और पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने घटना की पुष्टि की है।

खुद एटीएस के महानिरीक्षक असीम अरुण अभियान की निगरानी कर रहे हैं। असीम अरुण के नेतृत्व में आतंकियों से निपटने के लिए एटीएस के 20 एक्सपर्ट कमांडो मोर्चा संभाले हुए हैं। उनके साथ कई एटीएस प्रभारी टीम के साथ मौजूद हैं। दलजीत चौधरी सहित राजधानी की भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच चुकी है।

दलजीत चौधरी ने बताया, “उप्र एटीएस ने मंगलवार की दोपहर यह अभियान शुरू किया। संदिग्ध आतंकवादी ने एटीएस पर हमला किया था, जिसके बाद फोर्स ने हमला किया। हम लोग उसको पकड़ने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।”

उधर भोपाल से खबर है कि मध्यप्रदेश में हुए ट्रेन विस्फोट के मामले में गिरफ्तार किए गए तीन संदिग्धों से मिली जानकारी साझा किए जाने पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने लखनऊ में संदिग्ध आतंकी को घरने में कामयाबी हासिल की।

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान स्वीकार किया कि होशंगाबाद के पिपरिया में गिरफ्तार किए गए तीन संदिग्धों से मिली जानकारी केंद्रीय जांच एजेंसियों से साझा की गई। केंद्रीय जांच एजेसी ने वह सूचना उत्तर प्रदेश पुलिस को दी और लखनऊ में पुलिस ने एक संदिग्ध आतंकी को घेर लिया।

गृहमंत्री सिंह के मुताबिक, इस ट्रेन विस्फोट के बाद वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर भेजा गया। उनसे मिले इनपुट के आधार पर होशंगाबाद के पिपरिया में बस से तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया। इन संदिग्धों की सूचना से केंद्रीय एजेंसी को अवगत कराया गया। उसी के आधार पर लखनऊ में संदिग्ध आतंकी तक पहुंचा गया।

लखनऊ में जारी मुठभेड़ के बीच लखनऊ अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे और राज्य के महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों को अलर्ट जारी कर दिया गया है। राज्य के पुलिस एवं खुफिया अधिकारियों को सचेत रहने के निर्देश दिए गए हैं और व्यस्ततम इलाकों, मॉल व बाजार की सुरक्षा बढ़ाने और नजर रखने के लिए कहा गया है।

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − fifteen =

Back to top button