breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

BharatBandh:गृहमंत्री अमित शाह ने शाम को किसान नेताओं को मीटिंग के लिए बुलाया

गृहमंत्री अमित शाह और किसान नेताओं के बीच हो रही इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है...

bharat bandh:Amit Shah called farmers for meeting today

नई दिल्ली:आज राष्ट्रव्यापी भारत बंद था। किसानों ने नए कृषि बिलों का विरोध (Farmers Protest) करते हुए 8 दिसंबर को भारत बंद(Bharat Bandh)बुलाया।

बंद के दौरान ही गृहमंत्री अमित शाह ने आज शाम 7 बजे किसान नेताओं को मीटिंग के लिए(Amit Shah called farmers for meeting today)बुलाया है।

गृहमंत्री अमित शाह(Amit Shah)और किसान नेताओं(Farmers leader)के बीच हो रही इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है।

चूंकि यह अचानक से बुलाई गई है,विशेषकर तब जब सरकार और किसानों(Govt and farmer talk)के बीच छठे स्तर की बातचीत कल यानि 9 दिसंबर होनी है।

अमित शाह(Amit Shah) ने भारत बंद के दौरान भेजा बातचीत का प्रस्ताव भेजा, जब किसानों ने भारत बंद(Bharat Bandh) बुलाने के दौरान ट्रैफिक,दुकानें और कई सेवाओं इत्यादि को ठप्प कर दिया।

 इसलिए आज शाम सात बजे गृहमंत्री अमित शाह और किसान नेताओं के बीच बातचीत शुरू हो गई है।

हालांकि कहा जा रहा है कि यह अनौपचारिक मुलाक़ात होगी। सुबह अमित शाह की ओर से किसानों को प्रस्ताव भेजा गया था। इसके अंतर्गत कुल 13 सदस्य गृहमंत्री से मिलेंगे।

अमित शाह ने सिंघू, टिकरी और ग़ाज़ीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान नेताओं को बैठक में बुलाया (bharat bandh:Amit Shah called farmers for meeting today)है। राकेश टिकैत को भी बैठक में बुलाया गया है।

राकेश टिकैत ने बताया कि ‘मेरे पास फ़ोन आया था, गृहमंत्री अमित शाह ने बैठक के लिए बुलाया है।

हम जाएंगे बैठक में और नेता जाएंगे। उन्होंने 7 बजे बुलाया है।’

बता दें कि इसके पहले हुई कई राउंड की बातचीत असफल रही है। शनिवार को हुई आखिरी मीटिंग सात घंटों तक चली थी, लेकिन फिर भी कोई हल नहीं निकला था। सरकार ने 9 दिसंबर को फिर से मीटिंग बुलाई है।

हालांकि, किसानों ने साफ कर दिया है कि सितंबर में लाए गए इस कानून को वापस लिए जाने से कम उन्हें कुछ भी मंजूर नहीं है।

उनको डर है कि इस कानून से उनकी आय कम हो जाएगी, वहीं वो कॉरपोरेट कंपनियों के मोहताज हो जाएंगे।

किसानों के साथ बातचीत को आगे बढ़ा रहे कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने वार्ता के असफल रहने के बाद कहा था कि सरकार में ‘अहंकार का भाव नहीं है’ लेकिन उन्होंने यह भी साफ कर दिया था कि वो इन कानूनों को वापिस नहीं लेंगे।

किसानों ने इन कानूनों में खामियों को लेकर सरकार को 39 बिंदुओं का प्रेजेंटेशन दिया था

bharat bandh:Amit Shah called farmers for meeting today

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 5 =

Back to top button