breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजराज्यों की खबरेंहेल्थ

भारत में आया Zika Virus..! क्या है यह बला..? नयी या पुरानीं..? जाने सब कुछ

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) में जीका वायरस के13 सैंपल जांच के लिए भेजे गए.

what is zika virus..? know the symptoms

नईं दिल्ली (समयधारा) भारत में अभी कोरोना वायरस का कहर कम होते-होते अब एक नए वायरस के चपेट में आने को तैयार है l

इस वायरस का नाम है जीका वायरस (Zika Virus), कोरोना महामारी के बीच केरल के तिरुवनंतपुरम जिले में गुरुवार को जीका वायरस (Zika Virus) के कुल 13 मामले सामने आए।

मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक, पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) में जांच के लिए 13 सैंपल भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

पति-पत्नी जोक्स : Wife – आज पहली बार आपसे कुछ मांग रही हूं…. 

केरल के स्वास्थ्य मंत्री ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि जीका वायरस संक्रमण के सभी मामले राजधानी तिरुवनंतपुरम में पाए गए हैं।

अब पहले यह बता दे की यह वायरस क्या है … और इसके लक्षण क्या है.. ? (what is zika virus..? know the symptoms )

जीका वायरस (Zika Virus) एडीज प्रजाति के मच्छरों के काटने से ही फैलता है जो दिन में ही काटते हैं।

जीका वायरस के लक्षण भी डेंगू और वायरल की तरह ही हैं जैसे कि बुखार, जोड़ों का दर्द,

शरीर पर लाल चकत्ते, थकान, सिर दर्द और आंखों का लाल होना। इस वायरस का आरएनए अलग तरह का होता है।

प्यारभरी शायरी : खामोशियों से मिल रहे है खामोशियों के जवाब, अब कैसे कहे की मेरी उनसे बाते नही होती

संक्रमित होने पर जीका वायरस आमतौर पर एक हफ्ते तक एक संक्रमित व्यक्ति के खून में रहता है।

आमतौर पर संक्रमित मच्छर के काटने के 3 से 14 दिन बाद इसके लक्षण दिखने शुरू होते हैं।

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने गुरुवार को कहा कि राज्य में जीका वायरस के मामलों का पता चला है।

आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि यह पहली बार है कि केरल में जीका वायरस की सूचना मिली है।

उन्होंने कहा कि राज्य की राजधानी जिले के एक अस्पताल में पिछले महीने 24 वर्षीय गर्भवती महिला को बुखार, सिरदर्द और चकत्ते के साथ रिपोर्ट किया गया था।

what is zika virus..? know the symptoms

पहले रिजल्ट में वायरस के माइल्ड पॉजिटिव संकेत दिखे और बाद में जांचे गए 19 सैंपल में से 13 सैंपल को भी जीका पॉजिटिव पाया गया। सभी सैंपल अब NIV, पुणे भेजे गए हैं।

जीका वायरस का इतिहास (Zika Virus History)

यह वायरस कोई नया वायरस नहीं है l जीका वायरस पहली बार 1947 में युगांडा में बंदरों में पाया गया था

और बाद में 1952 में युगांडा एवं संयुक्त गणराज्य तंजानिया में मनुष्यों में पहचाना गया।

इसके बाद एशिया, अफ्रीका, अमेरिका और प्रशांत द्वीपों में जीका वायरस के प्रकोप का पता चला है।

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − eight =

Back to top button