Trending

शायरी – निकले हैं वो लोग, हमारी शख्शियत बिगाड़ने !

जिनके खुद के किरदार... मरम्मत मांग रहे हैं !

latest-trending-shayri indian-shayaris sayari-ki-duniya izzat-shayari

निकले हैं वो लोग

हमारी शख्शियत बिगाड़ने !

जिनके खुद के किरदार

मरम्मत मांग रहे हैं !

दर्द शायरी : दर्द के बाजार में खूब तरक्की कमा रहा हूँ….

दर्द के बाजार में

खूब तरक्की कमा रहा हूँ….

पहले छोटी से दूकान थी

अब शोरूम चला रहा हूँ….

शायरी : शिकायतें तो बहोत थी ज़िन्दगी से मगर, कोरोना ने मुझे खामोश कर दिया..!!!

कदम कदम पर इम्तिहान रखती है..

ऐ जिंदगी तू मेरा कितना ध्यान रखती है..!!

खुद से जीतने की जिद है मुझे,खुद को ही हराना है..

मैं भीड़ नहीं हूँ दुनिया की,मेरे अन्दर एक जमाना है..!!

शायर की शायरी : जला हुआ जंगल.. छिप कर रोता रहा..

कभी मैं तो कभी 
वक्त मुझसे जीत गया…
इस खेल में एक साल
और बीत गया…

latest-trending-shayri indian-shayaris sayari-ki-duniya izzat-shayari

वो पूछते हैं इतने गम में भी खुश कैसे हो 

मैने कहा, प्यार साथ दे न दे, यार साथ हैं 

यह शायरियां भी पढ़े : 

दिलवालों की शायरी : नजरअंदाजी शौक बडा़ था उनको हमने भी तोहफे में उनको..

मोहब्बत शायरी : ऐ मोहब्बत… तुम्हारे मुस्कुराने का असर मेरी सेहत

जिंदगी-शायरी : मिलो किसी से ऐसे कि ज़िन्दगी भर की पहचान बन जाये…..

शायरी : कल शीशा था, सब देख-देख कर जाते थे….

मोहब्बत-शायरी : कुछ इस अदा से निभाना है किरदार मेरा मुझको….

कभी मैं तो कभी वक्त मुझसे जीत गया…, इस खेल में एक साल और बीत गया…

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button