Trending

Thursday Thoughts – श्रृष्टि का नियम है, पहले देना पड़ता है फिर मिलता है 

और ये भी नियम है कि जो दोगे उसका सूत समेत वापस मिलेगा 

Status Thursday-thought good-morning-quote inspirational-motivation-quotes-in-hindi

श्रृष्टि का नियम है 

पहले देना पड़ता है फिर मिलता है 

और ये भी नियम है कि

जो दोगे उसका सूत समेत वापस मिलेगा 

Thursday-thought-status good-morning-quotes inspirational-motivation-quotes-in-hindi

जाति देखकर पानी पिने वाले लोग

खून की बोतल किसी से भी ले लेते है

Monday Thoughts:जब तालाब भरता है;तब मछलियाँ चीटियों को खाती हैं….

जब तालाब भरता है;
तब मछलियाँ चीटियों को खाती हैं;
और जब तालाब सूखने लगता है;
तब चीटियाँ मछलियों को खाती हैं;
यानि प्रकृति सभी को;
कभी न कभी मौका जरूर देती है;
बस अपनी बारी का इंतजार करो।

बार बार विफलता मिले तो निराश मत हो,
महान वैज्ञानिक एडीसन सफल होने से पहले 10,000 बार विफल हुये थे ।
प्रत्येक विफलता में लाभों के बीज होते हैं ।

 

 

 

 

 

 

 

 

यह आवश्यक नहीं कि;
हर लड़ाई जीती ही जाए।
आवश्यक तो यह है कि;
हर हार से कुछ सीखा जाए।

 

 

 

 

 

 

 

 

Status Thursday-thought good-morning-quote inspirational-motivation-quotes-in-hindi

पसीने की स्याही से जो लिखते है अपने इरादों को,
उनके मुक़द्दर के पन्ने कभी कोरे नहीं हुआ करते ।

 

 

 

 

 

यह भी पढ़े:

 

समझदारी की बात इसी में है की

आप कभी भी उस व्यक्ति पर पूरा विश्वास मत करे

जिससे आप एक बार भी धोखा खा चुके हो।

Sunday Thoughts : ‘समय’ वह है जिसे हम सबसे ज्यादा चाहते हैं…

 अगर आप में आत्मविश्वास है,

तो आप किसी काम को शुरू करने से पहले ही जीत चुके हो।

 सिर्फ़, ‘दिखावे’ के लिए अच्छा बनना’..!
“बुरे होने से भी ज़्यादा, “बुरा” है”…!!

Sunday Thoughts : सिर्फ अपनों के होने से कुछ नहीं होता, उन अपनों से अपनेपन का अहसास भी होना चाहिए

कल शीशा था,
सब देख-देख कर जाते थे।
आज टूट गया,
सब बच-बच कर जाते हैं।
समय के साथ,
देखने और इस्तेमाल का
नजरिया बदल जाता है।

Sunday Thoughts : उठाना खुद ही पड़ता है, थका हुआ बदन अपना 

 

 

Show More

Dropadi Kanojiya

द्रोपदी कनौजिया पेशे से टीचर रही है लेकिन अपने लेखन में रुचि के चलते समयधारा के साथ शुरू से ही जुड़ी है। शांत,सौम्य स्वभाव की द्रोपदी कनौजिया की मुख्य रूचि दार्शनिक,धार्मिक लेखन की ओर ज्यादा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button