breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

जवानों से मिलने लद्दाख पहुंचे पीएम मोदी,चीन को ललकारा-विस्तारवाद का युग खत्म…

मोदी ने कहा- लद्दाख भारत का मस्तक है। वीरता शांति की पूर्व शर्त होती है। निर्बल शांति की पहल नही करता....

PM Modi meets soldiers in Ladakh and speech: Hightlights

नई दिल्ली: भारत-चीन सीमा विवाद (India-China border tension) के दौरान शुक्रवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi)सेना के जवानों से मिलने लद्दाख के लेह पहुंचे। यहां पर उन्होंने सैनिकों से मुलाकात (PM Modi meets soldiers in Ladakh) की।

पीएम मोदी की यह आकस्मिक यात्रा थी। पीएम मोदी ने जवानों से मिलकर अपने संबोधन में उनके अदम्य सहास को प्रोत्साहित किया और चीन का नाम लिए बिना उसपर गरजे।

pm-modi-meets-soldiers-in-ladakh-and-speech--hightlights--2_optimized

गौरतलब है कि लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने 15 जून की रात भारतीय सैनिकों के साथ हिंसक झड़प की थी, जिसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे।

उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी आज पहली बार लद्दाख के लेह (Modi visit Leh today) पहुंचे और जवानों की हौसला अफजाई की।

pm-narendra-modi-visit-ladakh-1_optimized
PM Modi meets soldiers in Ladakh and speech: Hightlights:

लद्दाख में पीएम मोदी के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) भी मौजूद रहे।

मोदी यहां की स्थिति की समीक्षा करने के लिए इस दौरे पर गए हैं। यहां सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें स्थिति से अवगत कराया।

जवानों से मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने लेह में जवानों और देश को संबोधित किया। उन्होंने नाम लिए बिना चीन पर निशाना साधा और कहा कि विस्तावाद का युग समाप्त हो चुका है और अब विकासवाद का युग है।

पीएम ने कहा कि जब भी वे भारत के हित में कोई फैसला लेते है तो दो मांओं के बारे में सोचते है। एक भारत माता और दूसरा भारतीय जवानों की माता।

मोदी ने लेह में दिए अपने भाषण में चीन को सांकेतिक रूप से जवाब दिया कि विस्तारवाद को विश्व ने नकार दिया है।

PM Modi meets soldiers in Ladakh and speech: Hightlights
pm-modi-meets-soldiers-in-ladakh-and-speech--hightlights-3_optimized

पीएम मोदी ने लेह में जवानों से कहा कि आपका यह हौसला, शौर्य और मां भारती के मान-सम्मान की रक्षा के लिए आपका समर्पण अतुलनीय है।

आपकी जीवटता भी जीवन में किसी से कम नहीं है। जिन कठिन परिस्थितियों में जिस ऊंचाई पर आप मां भारती की ढाल बनकर उसकी रक्षा, उसकी सेवा करते हैं,उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता है। 

यहां पीएम सेना, वायु सेना एवं आईटीबीपी के जवानों के साथ बातचीत कर रहे हैं। नीमू समुद्र तल से 11, 000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

लद्दाख में पीएम मोदी के भाषण की प्रमुख 11 बातें:

PM Modi meets soldiers in Ladakh and speech: Hightlights

1.आप उसी धरती के वीर हैं, जिसने हजारों वर्षों से आक्रांताओं के हमलों और अत्याचारों का मुंहतोड़ जवाब दिया। हम वो लोग हैं, जो बांसुरी धारी कृष्ण की पूजा करते हैं तो हम वो ही लोग हैं, जो सुदर्शनधारी कृष्ण को भी आदर्श मानकर चलते हैं। इसी प्रेरणा से हर आक्रमण के बाद भारत और सशक्त होकर उभरा है। 

2- राष्ट्र, दुनिया और मानवता की प्रगति के लिए शांति और मित्रता हर कोई मानता है कि जरूरी है। लेकिन हम यह भी जानते हैं कि कमजोर शांति की पहल नहीं कर सकता। वीरता ही शांति की पहली शर्त होती है। 

3- भारत आज जल, नभ और अंतरिक्ष तक, अपनी ताकत बढ़ा रहा है तो उसके पीछे का लक्ष्य मानव कल्याण ही है। भारत आज आधुनिक शस्त्र का निर्माण कर रहा है। सेना के पास आधुनिक तकनीक लाई जा रही है, जिसके पीछे की भावना भी यही है। भारत अगर आधुनिक इंफ्रास्ट्रचर का निर्माण कर रहा है तो उसके पीछे का संदेश भी यही है।

PM Modi meets soldiers in Ladakh-4

4- विश्व युद्ध हो या फिर शांति की बात, जब भी जरूरत पड़ी है, दुनिया ने हमारे वीर जवानों का पराक्रम देखा है और उसे महसूस किया है। हमेशा ही मानवता के लिए काम किया है। आप सभी भारत की इस परंपरा को स्थापित करने वाले लीडर हैं।

5- 14 कोर की जांबाजी के किस्से हर तरफ है। दुनिया ने आपका अदम्य साहस देखा है। आपकी शौर्य गाथाएं घर-घर में गूंज रही है। भारत के दुश्मनों ने आपकी फायर भी देखी है और आपकी फ्यूरी भी।

6- मैं गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों को आज पुनः श्रद्धांजलि देता हूं। उनके पराक्रम, उनके सिंहनाद से धरती अब भी, उनका जयकारा कर रही है। आज हर देशवासी का सिर, आपके सामने आदरपूर्वक नमन करता है। आज हर भारतीय की छाती आपकी वीरता और पराक्रम से फूली हुई है।

PM Modi meets soldiers in Ladakh and speech: Hightlights

7- विस्तारवाद का युग समाप्त हो चुका है। यह युग विकासवाद का है। तेजी से बदलते हुए समय में विकासवाद ही प्रासंगिक है। विकासवाद के लिए ही, अवसर है और विकासवाद ही भविष्य का आधार भी है। 

8- बीती शताब्दियों में विस्तारवाद ने ही मानवता का सबसे ज्यादा अहित किया और मानवता को विनाश करने की कोशिश की। विस्तारवाद की जिद जब किसी पर सवार होती है तो उसने हमेशा ही विश्व शांति के लिए खतरा पैदा किया है। इतिहास गवाह है कि ऐसी ताकतें मिट गई हैं या मुड़ने के लिए मजबूर हो गई हैं।

9- आज लद्दाख के लोग हर स्तर पर चाहे वो सेना हो या सामान्य नागरिक के कर्तव्य हों, राष्ट्र को सशक्त करने के लिए अद्भुत योगदान दे रहें हैं।

10- लद्दाख भारत का मस्तक है। वीरता शांति की पूर्व शर्त होती है। निर्बल शांति की पहल नही करता।

मैं हमेशा दो माताओं को नमन करता हूं। एक भारत माता और दूसरी आप जैसे योद्धाओं की माता। सेना की मेहनत की बदौलत देश सभी आपदाओं से लड़ रहा है। उन्होंने कहा कि हमें आत्मनिर्भर भारत बनाना है।

 इसके बाद पीएम मोदी ने भारत माता की जय! नारे लगाएं। जवानों ने भी भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाएं।

PM Modi meets soldiers in Ladakh and speech: Hightlights

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × four =

Back to top button