राजनीतिक खबरें

पैगंबर मोहम्मद पर BJP नेताओं के बयान को भारत ने कतर में किया खारिज,कहा-अराजक तत्वों के विचार,भारत के नहीं

पाकिस्तान(Pakistan),कुवैत,ईरान सहित कतर(Qatar)के विदेश मंत्रालयल द्वारा भी सवाल उठाएं गए और भारतीय राजदूत(Indian Diplomat) को कतर में जवाबदेयी के लिए तलब किया गया।

Share

India-rejects-BJP-leaders-controversial-remark-over-Prophet-Muhammad-in-Qatar-says-not-Indian-ideology

दोहा:पैगंबर मोहम्मद(Prophet-Muhammad)पर भाजपा(BJP)नेता नुपूर शर्मा की विवादित टिप्पणी ने भारत सरकार(India Govt)को कतर में भी सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया।

मुस्लिम सम्प्रदाय के ईष्ट पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक बयान पर भारत ने रविवार को कतर(Qatar)में जवाब देते हुए कहा कि अल्पसंख्यकों के खिलाफ बीजेपी नेता की अमर्यादित टिप्पणी भारत की विचारधारा नहीं है,बल्कि अराजक तत्वों के विचार(India-rejects-BJP-leaders-controversial-remark-over-Prophet-Muhammad-in-Qatar-says-not-Indian-ideology)है।

दअसल,भाजपा नेता नुपूर शर्मा ने एक अंग्रेजी टीवी चैनल के डिबेट शो में पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक बयान दिया(BJP-leaders-controversial-remark-over-Prophet-Muhammad)था,जिसके बाद से भाजपा की सभी जगह किरकिरी हो रही है।

इसपर पाकिस्तान(Pakistan),कुवैत,ईरान सहित कतर(Qatar)के विदेश मंत्रालयल द्वारा भी सवाल उठाएं गए और भारतीय राजदूत(Indian Diplomat) को कतर में जवाबदेयी के लिए तलब किया गया।

इसपर कतर में भारतीय दूतावास के प्रवक्ता ने मीडिया के एक प्रश्न के जवाब में कहा कि “राजदूत दीपक मित्तल ने विदेश कार्यालय में एक बैठक की थी।

इसमें भारत में व्यक्तियों द्वारा धार्मिक व्यक्तित्व को बदनाम करने वाले कुछ आपत्तिजनक ट्वीट्स के संबंध में चिंता जताई गई। राजदूत ने बताया कि ट्वीट किसी भी तरह से भारत सरकार के विचारों को नहीं दर्शाते हैं।

यह तुच्छ तत्वों के विचार(India-rejects-BJP-leaders-controversial-remark-over-Prophet-Muhammad-in-Qatar-says-not-Indian-ideology)हैं।

प्रवक्ता ने कहा, “हमारी सभ्यतागत विरासत और विविधता में एकता की मजबूत सांस्कृतिक परंपराओं के अनुरूप भारत सरकार सभी धर्मों को सर्वोच्च सम्मान देती है। अपमानजनक टिप्पणी करने वालों के खिलाफ पहले ही कड़ी कार्रवाई की जा चुकी है।”

इस बीच भारतीय जनता पार्टी ने रविवार को अपनी प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया और अल्पसंख्यकों के खिलाफ कथित भड़काऊ टिप्पणी के बाद अपने दिल्ली मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को निष्कासित कर दिया।

प्रवक्ता ने कहा, “संबंधित लोगों द्वारा एक बयान भी जारी किया गया है जिसमें सभी धर्मों के सम्मान पर जोर दिया गया है, किसी भी धार्मिक व्यक्तित्व का अपमान करने या किसी धर्म या संप्रदाय को अपमानित करने की निंदा की गई(India-rejects-BJP-leaders-controversial-remark-over-Prophet-Muhammad-in-Qatar-says-not-Indian-ideology)है।”

प्रवक्ता ने कहा कि निहित स्वार्थी लोग जो भारत-कतर संबंधों के खिलाफ हैं, इन अपमानजनक टिप्पणियों का उपयोग करके लोगों को उकसा रहे हैं।

प्रवक्ता ने कहा, “हमें ऐसे शरारती तत्वों के खिलाफ मिलकर काम करना चाहिए, जिनका उद्देश्य हमारे द्विपक्षीय संबंधों की ताकत को कम करना है।”

इस बीच उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने तीन देशों के दौरे के दौरान एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ कतर की चार दिवसीय यात्रा शुरू की है। इस यात्रा में सेनेगल और गैबॉन की यात्रा भी शामिल है।

कतर के विदेश मंत्रालय ने रविवार को देश में भारत के राजदूत डॉ दीपक मित्तल को तलब किया और उन्हें एक आधिकारिक नोट सौंपा। उसमें कतर की ओर से विवादास्पद टिप्पणियों को लेकर निराशा, उस पर पूरी तरह से अस्वीकृति जताई गई और निंदा की गई।

इस बीच, कतर ने भारत में सत्तारूढ़ दल द्वारा जारी बयान का स्वागत किया जिसमें उसने पार्टी के अधिकारियों के निलंबन और निष्कासन की घोषणा की है।

India-rejects-BJP-leaders-controversial-remark-over-Prophet-Muhammad-in-Qatar-says-not-Indian-ideology
Ravi