breaking_newsHome sliderअपराधदेश

शिवसेना सांसद की मुश्किलें बड़ी, एफआईआर(FIR) के बाद एयर इंडिया ने किया ‘ब्लैक लिस्ट’

मुंबई, 24 मार्च :  एयर इंडिया ने अपने कर्मचारी से मारपीट के आरोपी शिवसेना सांसद रविंद्र गायकवाड़ को शुक्रवार को काली सूची में डाल दिया। गायकवाड़ ने गुरुवार को एयर इंडिया कर्मचारी को ’25 बार’ चप्पल से मारने की बात स्वीकार की थी और यह भी कहा था कि वह उन्हें विमान से फेंक देना चाहते थे।

गायकवाड़ पुणे-दिल्ली उड़ान में बिजनेस क्लास का टिकट होने के बावजूद इकोनोमी क्लास में सीट मिलने से नाराज थे। उन्होंने नई दिल्ली में विमान से उतरने से इनकार कर दिया और विमानकर्मियों से अभद्रता शुरू कर दी। इस दौरान उन्होंने मारपीट भी की।

एयर इंडिया के एक अधिकारी ने आईएएनएस से इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि ‘उन्हें तत्काल प्रभाव से काली सूची में डालने का आदेश’ जारी किया गया है। इस बारे में अन्य जानकारी फिलहाल उपलब्ध नहीं है।

एयर इंडिया ने गुरुवार देर शाम कहा था कि वह ऐसे यात्रियों को विमानों में नहीं चढ़ने देने की सूची तैयार कर रहा है, जो नियमों को नहीं मानते। इसके लिए अन्य विमानन कंपनियों से भी बात की जा रही है।

इससे पहले एयर इंडिया ने गायकवाड़ के खिलाफ दो अलग-अलग एफआईआर भी दर्ज कराया। इनमें से एक मामला शिफ्ट मैनेजर की पिटाई और दूसरा गोवा के लिए निर्धारित विमान की उड़ान में देरी का मामला है।

वहीं, गायकवाड़ ने नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू तथा लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से इस मामले की जांच कराने की मांग की है।

इस बीच, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने गायकवाड़ से स्पष्टीकरण मांगा है। इससे पहले, 

शिवसेना के सांसद रवींद्र गायकवाड़ के खिलाफ गुरुवार को एयर इंडिया के एक कर्मचारी  के साथ मारपीट करने और विमान को उड़ान भरने में बाधित करने को लेकर दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए हैं। एयर इंडिया के एक प्रवक्ता ने बताया कि गायकवाड़ के खिलाफ दो अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई गई हैं, जिनमें से एक प्राथमिकी एयर इंडिया के एक कर्मचारी को चप्पल से मारने और उसे विमान से बाहर फेंकने की कोशिश करने के आरोप में दर्ज कराई गई है।

प्रवक्ता ने बताया कि गायकवाड़ एयर इंडिया के कर्मचारी को विमान से बाहर धक्का देने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वहां मौजूद अन्य कर्मचारियों ने उन्हें बचाया।

गायकवाड़ के खिलाफ दूसरी प्राथमिकी दिल्ली से गोवा जाने वाली 115 यात्रियों से भरे विमान को अपने बर्ताव के चलते उड़ान भरने में देरी करवाने के लिए दर्ज करवाई गई है।

गायकवाड़ के खिलाफ यह दोनों प्राथमिकी दिल्ली पुलिस में दर्ज कराई गई है।

प्रवक्ता ने बताया कि एयर इंडिया अन्य एयरलाइंस पर भी ऐसे उपद्रवी यात्रियों के खिलाफ एक ‘नो फ्लाई’ सूची बनाने की संभावना की भी तलाश कर रही है।

एयर इंडिया द्वारा बिठाई गई जांच के आधार पर उन्होंने घटना का ब्यौरा देते हुए कहा कि गायकवाड़ पुणे से दिल्ली के लिए एआई852 विमान में सफर कर रहे थे, जो सुबह 9.35 बजे दिल्ली पहुंची।

यही विमान गुरुवार की सुबह 10.55 बजे दिल्ली से गोवा के लिए उड़ान भरने वाली थी। दिल्ली पहुंचने के बाद विमान से सभी यात्री उतर गए, लेकिन गायकवाड़ नहीं उतरे।

पुणे हवाई अड्डे के प्रबंधक ने बताया कि जांच में पता चला है कि सांसद के पास ओपन बिजनेस क्लास का टिकट था, लेकिन वह उसी विमान में सफर करना चाहते थे, जो नियमित तौर पर इकॉनमी क्लास की उड़ान ही भरती है और उनके सहयोगी को इस संबंध में सूचित कर दिया गया था।

हालांकि गायकवाड़ ने जब उसी विमान से उड़ान भरने पर जोर दिया तो उन्हें विमान की पहली रो में एक सीट मुहैया कराई गई, क्योंकि उस विमान में अलग से बिजनेस क्लास है ही नहीं।

नई दिल्ली हवाई अड्डे पर सांसद विमान से एक घंटे तक नहीं उतरे, जबकि गोवा जाने वाले 115 यात्री विमान के उड़ान भरने का इंतजार करते रहे।

एयर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, “कर्मचारियों ने जब गायकवाड़ से विमान से उतरने के लिए कहा तो वह गालियां देने लगे और एयर इंडिया के कर्मचारी को चप्पलों से मारने लगे। गायकवाड़ ने उन्हें विमान से बाहर धक्का देने की कोशिश भी की, लेकिन अन्य कर्मचारियों ने उन्हें बचा लिया।”

–आईएएनएस

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

Back to top button