breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

COVID-19 मरीजों को भर्ती न करना,बेड्स की कालाबाजारी बख्शेंगे नहीं: केजरीवाल

अस्पताल को मरीज को भर्ती करना ही होगा। साथ ही अस्पताल को उसकी टेस्टिंग के साथ-साथ इलाज भी करना होगा...

Delhi CM Arvind Kejriwal warns private hospitals beds black marketing

नई दिल्ली:दिल्ली(Delhi)के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने दिल्ली में  कोरोना मरीजों (Corona positive) के साथ दुर्व्यवहार के मद्देनजर निजी अस्पतालों (private hospital) को चेताया है कि अस्पतालों को कोरोना मरीजो को एडमिट करना ही पड़ेगा।

आजकल दिल्ली के कई अस्पताल रोगियों को बेड देने के नाम पर ब्लैक मार्केटिंग कर रहे है।

ऐसे ही लोगों को चेताते देते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल (Kejriwal) ने कहा कि ‘मैं ऐसे लोगों को चेतावनी दे रहा हूं कि अगर ऐसे लोग सोचते है कि वे दूसरी पार्टी में बैठे अपने आकाओं के प्रभाव का प्रयोग करके अस्पताल में बेड्स की ब्लैक-मार्केटिंग (black marketing) करने में सक्षम होंगे तो ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘आप लोगों ने जो अस्पताल दिल्ली में बनवाया था,वो पैसे कमाने के लिए नहीं बनवाया था। आपका अस्पताल दिल्ली के लोगों की सेवा के लिए बनवाया गया था।

इस COVID-19 महामारी में अधिकतर अस्पताल मरीजों की सेवा कर रहे है, लेकिन दो-चार अस्पताल इस गुमान में है कि वह दूसरी पार्टियों के अपने अपने आकाओं से कुछ करवा लेंगे, ब्लैक मार्केटिंग करेंगे तो उनको चेतावनी देता हूं कि वो बख्शे नहीं जाएंगे। कुछ लोगों ने माफिया बनाया हुआ था उसको तोड़ने में थोड़ा समय लग रहा है।’

Delhi CM Arvind Kejriwal warns private hospitals beds black marketing

केजरीवाल ने अपनी डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आज हम अस्पतालों के लिए ऑर्डर पास कर रहे है। अस्पताल किसी भी COVID-19 संदिग्ध मरीज को भर्ती करने से मना नहीं कर (COVID-19 patients admission refuse) सकते।

अस्पताल को मरीज को भर्ती करना ही होगा। साथ ही अस्पताल को उसकी टेस्टिंग के साथ-साथ इलाज भी करना होगा।

अगर अस्पताल मरीज को भर्ती करने से मना सकते है तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करने से हम हिचकिचाएंगे नहीं।

उन्होंने मीडिया के उस वर्ग की भी तारीफ की जो इस बात का खुलासा निरंतर कर रहे है कि असल में अस्पताल कोरोना मरीजों के साथ कैसा दुर्व्यवहार कर रहे है और बेड्स की कालाबाजारी कर रहे है।

Delhi CM Arvind Kejriwal warns private hospitals beds black marketing

दिल्ली में सरकारी और निजी मिलाकर कुल 42 लैब हैं, उनमें से 36 लैब अच्छे से काम कर रही है। 6 लैब ठीक से काम नही कर रही थी, उनको चेतावनी दे दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देकर उन्होंने कहा कि कुछ लोग खबरें चला रहे है कि दिल्ली में टेस्टिंग बंद हो गई है। ऐसे 6 ने बदमाशी की तो हमनें उन पर कार्रवाई की है।

आप ‘फ्लू क्लिनिक’ या ‘COVID-19 टेस्टिंग सेंटर’ में भी टेस्ट करा सकते हैं। सरकारी और निजी अस्पतालों में फ्लू क्लीनिक बनाएं गए है जहां पर टेस्ट हो रहे है।

इसके अतिरिक्त दिल्ली सरकार के 17 सेंटर में टेस्ट हो रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि सबसे ज्यादा टेस्ट दिल्ली में हो रहे हैं। हमारी प्राथमिकता लोगों को बचाने की है। उन्होंने यह भी कहा कि बिना लक्षण वाले लोग भी अगर टेस्ट कराने पहुंच जाएंगे तो सिस्टम धराशायी हो जाएगा।

बिना लक्षण वाले और हल्के लक्षण वाले लोग तो ठीक हो ही जाएंगे।

 

मरीजों की सहूलियत के लिए दिल्ली कोरोना एप लॉन्च किया

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कह कि अस्पतालों में बिस्तरों की कालाबाजारी रोकने के लिए हमने एक मोबाइल एप लॉन्च किया।

हमने सोचा कि अस्पतालों में बेड और वेंटिलेटर की संख्या को पारदर्शी बनाया जाए। इस पर भी हंगामा हुआ मानो हमने कोई अपराध किया हो।’

 

रोकेंगे मनमानी

केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा कि अस्पतालों की मनमानी पर लगाम लगाने के लिए ही हमने फैसला किया है कि दिल्ली सरकार का एक प्रोफेशनल अस्पताल के अंदर मौजूद होगा जो जानकारी देगा कि बेड है या नहीं है।

अस्पताल में बेड की उपलब्धि की सही जानकारी Delhi Corona एप पर देना और जरूरतमंदों का एडमिशन करवाना उनकी जिम्मेदारी होगी।’

Delhi CM Arvind Kejriwal warns private hospitals beds black marketing

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 − one =

Back to top button