breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

दिल्ली सरकार ने सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ दर्ज कराई FIR,ये है वजह

आज ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निजी अस्पतालों को फटकार लगाई है और आरोप लगया है कि निजी अस्पतालों में बेड्स की कालाबाजारी हो रही है।

नई दिल्ली: Delhi govt files FIR against Sir Ganga Ram Hospital: दिल्ली के मशहूर निजी अस्पताल सर गंगाराम के खिलाफ दिल्ली सरकार ने एफआईआर दर्ज करवा दी (FIR against Sir Ganga Ram Hospital) है।

निजी अस्पताल सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ यह शिकायत कोविड-19 (COVID-19 Violation) नियमों में उल्लंघन के चलते सरकारी आदेश की अवहेलना के कारण दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी सेक्रेटरी ने दर्ज कराई (Delhi govt files FIR against Sir Ganga Ram Hospital)है।

सर गांगाराम अस्पताल (Sir Gangaram Hospital) दिल्ली (Delhi) के लोकप्रिय निजी अस्पतालों (Private hospital) में से एक है।

इस अस्पताल के खिलाफ दर्ज शिकायत में कहा गया है कि कोरोनावायरस (Coronavirus) के टेस्ट के लिए जरूरी है कि सैंपल RT PCR एप के द्वारा ही लिए जा सकते हैं।

लेकिन जांच में यह पाया गया कि सर गंगाराम अस्पताल में 3 जून को भी RT PCR एप का इस्तेमाल नहीं हो रहा था।

इसलिए IPC की धारा 188 के अंतर्गत  सरकारी आदेश की अवहेलना करने का मामला दर्ज किया (Delhi govt files FIR against Sir Ganga Ram Hospital) जाए।

लैब सैंपल RT-PCR एप के जरिए ही ले सकते है, जिससे कोरोना (Corona) संबंधित डाटा रियल टाइम में सरकार के डाटाबेस में आ सके और कोई दोहराव या गलती न हो।

गौरतलब है कि आज ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने निजी अस्पतालों को फटकार लगाई है और आरोप लगया है कि निजी अस्पतालों में बेड्स की कालाबाजारी (Beds black marketing) हो रही है।

केजरीवाल ने निजी अस्पतालों को चेतावनी (Kejriwal warns private hospitals) देते हुए कहा था कि आप गलत हरकतें कर रहे है।

पहले यह अस्पताल शिकायत करते थे कि बेड नहीं है लेकिन ज्यादा कहने पर 20 से 50 हजार की मांग करते थे।

हमने ऐसी शिकायतों के समाधान के लिए दिल्ली सरकार ने एप लॉन्च किया है। हमने इस एप में सारी जानकारी डाल दी है कि कहां बेड खाली है और कहां नहीं है,लेकिन लोग ऐसे टूट पड़े जैसे कि हमने यह जानकारी देकर गड़बड़ी कर दी।

दिल्ली(Delhi)के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने दिल्ली में कोरोना मरीजों (Corona positive) के साथ दुर्व्यवहार के मद्देनजर निजी अस्पतालों (private hospital) को चेताया है कि अस्पतालों को कोरोना मरीजो को एडमिट करना ही पड़ेगा।

आजकल दिल्ली के कई अस्पताल रोगियों को बेड देने के नाम पर ब्लैक मार्केटिंग कर रहे है।

ऐसे ही लोगों को चेताते देते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल (Kejriwal) ने कहा कि ‘मैं ऐसे लोगों को चेतावनी दे रहा हूं कि अगर ऐसे लोग सोचते है कि वे दूसरी पार्टी में बैठे अपने आकाओं के प्रभाव का प्रयोग करके अस्पताल में बेड्स की ब्लैक-मार्केटिंग (black marketing) करने में सक्षम होंगे तो ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘आप लोगों ने जो अस्पताल दिल्ली में बनवाया था,वो पैसे कमाने के लिए नहीं बनवाया था। आपका अस्पताल दिल्ली के लोगों की सेवा के लिए बनवाया गया था।

इस COVID-19 महामारी में अधिकतर अस्पताल मरीजों की सेवा कर रहे है, लेकिन दो-चार अस्पताल इस गुमान में है कि वह दूसरी पार्टियों के अपने अपने आकाओं से कुछ करवा लेंगे, ब्लैक मार्केटिंग करेंगे तो उनको चेतावनी देता हूं कि वो बख्शे नहीं जाएंगे।

कुछ लोगों ने माफिया बनाया हुआ था उसको तोड़ने में थोड़ा समय लग रहा है।’

Delhi govt files FIR against Sir Ganga Ram Hospital

केजरीवाल ने अपनी डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आज हम अस्पतालों के लिए ऑर्डर पास कर रहे है। अस्पताल किसी भी COVID-19 संदिग्ध मरीज को भर्ती करने से मना नहीं कर (COVID-19 patients admission refuse) सकते।

अस्पताल को मरीज को भर्ती करना ही होगा। साथ ही अस्पताल को उसकी टेस्टिंग के साथ-साथ इलाज भी करना होगा।

अगर अस्पताल मरीज को भर्ती करने से मना सकते है तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करने से हम हिचकिचाएंगे नहीं।

 

Delhi govt files FIR against Sir Ganga Ram Hospital

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve + 8 =

Back to top button