breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

दिल्ली में 31 जुलाई तक होंगे 5,50,000 लाख केस,चाहिए होंगे 80 हजार बेड:सिसोदिया

जब हमने दिल्ली में कम्यूनिटी स्प्रेड की चर्चा करनी चाही तो उन्होंने कहा कि अभी इसकी जरूरत नहीं है...

Delhi to be 5.5 lakh COVID-19 cases by end July says Manish Sisodia

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Corona in Delhi) बहुत भयानक स्थिति की ओर है। कोरोनावायरस का कम्यूनिटी स्प्रेड दिल्ली में हुआ है या नहीं।
इस पर मंगलवार को उपराज्यपाल के निवास पर दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) की बैठक हुई। इसमें  केंद्र के अधिकारियों सहित दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन भी शामिल थे।

इस बैठक के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि जिस तेजी से दिल्ली में कोरोना संक्रमण के केस डबल हो रहे है। उसके हिसाब से 31 जुलाई तक दिल्ली में साढ़े पांच लाख से अधिक कोरोना केस हो जाएंगे और उनपर हमें 80 हजार बेड की आवश्यकता होगी।

Delhi to be 5.5 lakh COVID-19 cases by end July says Manish Sisodia

एलजी के साथ हुई DDMA की बैठक से बाहर निकलते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि  ‘मैंने दिल्ली के अस्पतालों को सभी मरीजों के लिए खोलने का मामला उठाया और एलजी (LG) साहब से पूछा कि आखिर सरकार के फैसले को क्यों पलटा गया। इस पर राज्यपाल साहब कोई जवाब नहीं दे पाए।’

मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि ‘LG साहब के इस फैसले से दिल्लीवालों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है। दिल्ली में कोरोना संक्रमण जिस तेजी से बढ़ रहे है। उससे तो यही लगता है कि 15 जून तक दिल्ली में 44000 केस होंगे और 6600 बेड की आवश्यकता होगी।

30 जून तक 1,00000 केस होंगे और 15 हजार बेड की जरूरत होगी, 15 जुलाई तक दिल्ली में 2.25 लाख केस होंगे और 33,000  बेड्स की आवश्यकता होगी और 31 जुलाई तक दिल्ली में 5,50,000 लाख केस होंगे तब  हमें 80 हजार बेड की जरूरत होगी।’

Delhi to be 5.5 lakh COVID-19 cases by end July says Manish Sisodia

उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने कहा कि इस बैठक में केंद्र के अधिकारी भी उपस्थित थे। जब हमने दिल्ली में कम्यूनिटी स्प्रेड की चर्चा करनी चाही तो उन्होंने कहा कि अभी इसकी जरूरत नहीं है। दिल्ली में अभी कम्यूनिटी स्प्रेड नहीं है।

लेकिन इस बात को उन्होंने भी माना कि दिल्ली में तेजी से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे है। उन्होंने कहा कि 15 जून तक दिल्ली में 44000 केस होंगे और 6600 बेड की आवश्यकता होगी।

गौरतलब है कि दिल्ली में कम्यूनिटी स्प्रेड (Delhi Community Spread) के सवाल पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि ,’हम यह तब कह सकते हैं (कम्यूनिटी स्प्रेड है) जब केंद्र स्वीकार करता है…

समुदायिक प्रसार तब होता है जब ऐसे मामले होते हैं जिनमें स्रोत (संक्रमण के) का पता नहीं लगाया जा सकता है…हमारे लगभग आधे मामले ऐसे हैं।’

Delhi to be 5.5 lakh COVID-19 cases by end July says Manish Sisodia

दिल्ली में आज 3 बजे होगी सर्वदलीय बैठक

दिल्ली में कोरोना संक्रमण की स्थिति अब भयानक स्तर पर धीरे-धीरे जा रही है। इसी को देखते हुए इस डिजास्टर मैनेजमेंट की बैठक के बाद अब दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 3 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है।

इस बैठक में दिल्ली में कोरोना की मौजूदा स्थिति (Delhi COVID-19 update) और इसकी रोकथाम पर चर्चा की जाएगी।

इस सर्वदलीय बैठक में  आम आदमी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता शामिल हो सकते हैं।

LG ने पलट दिया दिल्ली सरकार का फैसला

दिल्ली में कोरोनावायरस के संक्रमण पर भी सियासत उफान पर है। सोमवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने अचानक से महज 24  घंटे के भीतर ही दिल्ली सरकार के उस  फैसले को पलट दिया,

जिसमें रविवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि ‘फिलहाल कोरोना काल में दिल्ली सरकार को अस्पताल और निजी अस्पतालों में केवल दिल्ली के कोरोना मरीजों का ही इलाज होगा। लेकिन केंद्र के अस्पतालों में पहले ही की तरह सभी का इलाज होता रहेगा।

इस फैसले का एक अर्थ यह था कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में दिल्ली से बाहर के लोगों का इलाज नहीं होगा। इस पर विपक्ष ने केजरीवाल की तीखी आलोचना की थी।

इस फैसले को सोमवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने DDMA का चेयरपर्सन होने के नाते पलट दिया और आदेश दिया कि ‘एनसीटी दिल्ली के जितने भी अस्पताल या नर्सिंग होम हैं वो किसी भी दूसरे राज्य के कोविड 19 के मरीजों की भर्ती  से इंकार नहीं कर सकते हैं। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की भी तबियत ठीक नहीं है और उनका मंगलवार को कोरोना टेस्ट हुआ है। इससे पहले उन्होंने एलजी के फैसले पर कहा कि  LG साहिब के आदेश ने दिल्ली के लोगों के लिए बहुत बड़ी समस्या और चुनौती पैदा कर दी है।

देशभर से आने वाले लोगों के लिए करोना महामारी के दौरान इलाज का इंतज़ाम करना बड़ी चुनौती हैशायद भगवान की मर्ज़ी है कि हम पूरे देश के लोगों की सेवा करें। हम सबके इलाज का इंतज़ाम करने की कोशिश करेंगे।

Delhi to be 5.5 lakh COVID-19 cases by end July says Manish Sisodia

 

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 1 =

Back to top button