breaking_newsदेशराजनीतिराज्यो की खबरें

#कर्नाटका वर्डिक्ट : रुझानों में कांग्रेस सबसे आगे (8.20am)

बेंगलुरू, 15 मई #कर्नाटका वर्डिक्ट : रुझानों में कांग्रेस सबसे आगे (8.20am)

गौरतलब है कि, संपन्न हुए चुनाव में भारी मतदान हुआ था l एग्जिट poll में भी कांटे की टक्कर की संभावना जताई गयी थी l 

इससे पहले, 

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए मतदान शनिवार शाम समाप्त हो गया।

सत्तारूढ़ कांग्रेस, भाजपा और जेडी (एस) के लिए महत्वपूर्ण इस चुनाव में लगभग 3.5 करोड़ मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।
मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, “वह बहुत आश्वस्त हैं कि उनकी पार्टी दोबारा सत्ता में आएगी।” 

एक निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि शाम छह बजे तक 5.06 करोड़ से अधिक मतदाताओं में से 70 प्रतिशत से ज्यादा मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, “अधिकतर जगहों पर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया, कहीं-कहीं ईवीएम में खराबी, मतदाता सूची में नाम नहीं होने और प्रक्रियात्मक देरी की शिकायतें सामने आईं।”

कांग्रेस, भाजपा और जेडी (एस) तीनों पार्टियों ने चुनाव जीतने का दावा किया है।

चिक्काबल्लापुर और रामानगर जिले में रिकार्ड 76 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया, वहीं बेंगलुरू में शाम छह बजे तक औसत मतदान केवल 48 प्रतिशत ही दर्ज किया गया।

राज्य में विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी.एस. येदियुरप्पा सबसे पहले वोट करने वालों में से रहे। उन्होंने शिवमोगा जिले के शिकारीपुरा में वोट किया। उन्होंने कहा कि भाजपा 140-150 सीटें जीतेगी और वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने शपथ ग्रहण समारोह में बुलाएंगे।

सिद्धारमैया ने शनिवार को मतदान करने के बाद येदियुरप्पा पर तंज कसते हुए कहा कि भाजपा नेता मानसिक रूप से विक्षिप्त हैं, कांग्रेस 120 से ज्यादा सीटें जीतने में कामयाब रहेगी।

जनता दल (सेकुलर) प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगौड़ा और उनकी पत्नी चेनम्मा और बेटे एच.डी. रेवन्ना ने हासन जिले के होलेनारसिपुर में मतदान किया।

देवेगौड़ा ने संवाददताओं से कहा, “हमें सरकार बनाने की उम्मीद है, क्योंकि हमने बहुमत हासिल करने के लिए काफी काम किया है।”

बेंगलुरू में सुबह 6.30 बजे से ही मतदाता मतदान केंद्रों के बाहर कतारों में खड़े देखे गए।

बेंगलुरू के राजा राजेश्वरी नगर में बड़ी संख्या में फर्जी मतदाता पहचान-पत्र मिलने की वजह से इस सीट पर मतदान स्थगित कर दिया गया है। अब इस सीट पर मतदान 28 मई को होगा। वहीं, भाजपा उम्मीदवार बी.एन. विजय कुमार के निधन की वजह से जयनगर सीट पर भी मतदान स्थगित कर दिया गया है।

राज्य में 5.06 करोड़ मतदाता हैं, जिनमें से 2.6 करोड़ पुरुष, 2.5 करोड़ महिला मतदाता हैं। 18 से 19 वर्ष आयु समूह के नए मतदाताओं की संख्या 15.42 लाख है।

सबसे ज्यादा मतदाता बेंगलुरू दक्षिण में 6.03 लाख और सबसे कम मतदाता चिकमंगलूरू जिले के श्रृंगेरी में 1.7 लाख हैं।

राज्य के 30 जिलों के 58,008 मतदान केंद्रों पर मतदान हुआ है, जिनमें से 600 मतदान केंद्र गुलाबी रंग के थे, जिन्हें महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया था। इन मतदान केंद्रों पर सभी महिला सुरक्षाकर्मी ही तैनात रहे। 

चुनाव के लिए राज्य में 1.5 लाख से अधिक कर्मियों को तैनात किया गया था। 

मतदान प्रक्रिया शाम छह बजे समाप्त हो गई, लेकिन इस समय तक कतार में खड़े हो चुके लोगों को मतदान की अनुमति दी गई। मतगणना 15 मई को होगी।

चुनावी मैदान में कुल 2,654 उम्मीदवार आमने-सामने हैं, जिनमें 219 महिलाएं हैं। कांग्रेस के कुल 222, भाजपा और जेडी (एस) के 201-201, अन्य पार्टियों के 800 और 1,155 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में हैं।

बेंगलुरू से लगभग 450 उम्मीदवार चुनाव मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं।

मुख्यमंत्री सिद्धारमैया मैसूर के चामुंडेश्वरी और विजयपुरा जिले के बादामी से चुनाव लड़ रहे हैं।

बेल्लारी से भाजपा के लोकसभा सदस्य बी.आर.श्रीरामुलू भी दो सीटों (बादामी और मोलाकामुरु) से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने शनिवार को मत डालने से पहले गाय की पूजा की और मंदिरों के दर्शन किए।

जेडी (एस) कर्नाटक के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी भी रामनगर और चन्नापटना सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार येदियुरप्पा शिवमोगा के शिकारीपुरा से चुनाव लड़ रहे हैं। वह भाजपा की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष भी हैं।

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + 17 =

Back to top button