breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

Exclusive: लॉकडाउन में शहदगढ़ी गांव ने बढ़ाया मदद का हाथ,बांटा गरीब-जरूरतमंदों को अनाज

शहदगढ़ी.... जिसने लॉकडाउन में मदद की मिसाल कायम की....

Lockdown: Shahad Ghadi gaon provided dry ration to poor migrants

(समयधाराडेस्क)शहदगढ़ी:कोरोनावायरस (Coronavirus) के कारण देश में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन है। इसकी सबसे ज्यादा मार गरीब दिहाड़ी मजदूरों पर पड़ी है। काम-धंधा बंद हो जाने से ये लोग दो जून रोटी जुटाने में भी असमर्थ हो गए है। सरकार व सामाजिक संस्थाओं सहित हर कोई अपने-अपने स्तर पर जरूरतमंद गरीब मजूदरों की मदद कर रहा है।

इन्हीं मददगारों की सूची में से एक अन्य नाम निकलकर आया है- शहदगढ़ी गांव (Shahad Ghadi gaon) का

जी हां, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का एक छोटा सा अनसुना गांव- शहदगढ़ी…. जिसने लॉकडाउन में मदद की मिसाल कायम करके न केवल अपने गांव को सुर्खियों में ला दिया बल्कि बल्कि गरीबों की सहायता करके मानवता की मिसाल भी पेश की है।

Lockdown-ShahadGhadigaon-1_optimized

रविवार, 19 अप्रैल को शहदगढ़ी गांव में गरीब और जरूरतमंद लोगों के बीच अनाज का वितरण किया गया।

shahadghadihelp-5_optimized

शहदगढ़ी गांव के थाना सुरीर के चौधरी हरि सिंह सुपुत्र श्री सियाराम जी ने रविवार को अपने गांव शहदगढ़ी में जरूरतमंद मजदूरों और गरीब लोगों के बीच 5 किलो गेहूं का आटा, 2.5 किलो आलू बांटकर इस मुश्किल वक्त में बहुत ही पुण्य और सराहनीय काम किया है।

shahadghadi-2_optimized.jpgand4_optimized

इस लॉकडाउन (Lockdown) में कोई भी जरूरतमंद भूखा न रहें इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए चौधरी हरि सिंह जी ने जरूरतमंदों के बीच खाद्द सामग्री का वितरण (Lockdown: Shahad Ghadi gaon provided dry ration to poor migrants)किया।

उनके इस कार्य से न केवल इंसानियत का सिर ऊंचा हुआ है बल्कि गरीब लोगों को भी एक बड़ी राहत मिली है। साथ ही इस गांव के पुलिस कर्मियों को भी उनकी कर्तव्यपरायणता व निष्ठा के चलते सम्मानित किया गया है। चूंकि यही है असली कोरोना वॉरियर्स।

shahadghadi-3_optimized
ब्रह्मदत्त शर्मा

इतना ही नहीं, शहदगढ़ी गांव के ही एक अन्य निवासी श्री ब्रह्मदत्त शर्मा सुपुत्र श्री चोखेलाल जी ने भी लॉकडाउन में गरीब लोगों की सहायता के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड (PM Care Fund) में अपनी ओर से 25,000 रुपये की अनुदान राशि भेजकर बहुत ही प्रशंसनीय व साहसिक कार्य किया है।

shahadghadihelp6_oओptimized

अक्सर शहरी लोगों के मस्तिष्क में गांववालों के लिए छवि होती है कि उन्हें मदद की दरकार ज्यादा रहती है और वे संभवत: इतने सक्षम नहीं होते की किसी और की मदद को आगे आये।

shahadghadihelp7_optimized

लेकिन ऐसे ही लोगों को गलत साबित करते हुए शहदगढ़ी गांव के उपरोक्त दोनों निवासियों और सभी ग्रामवासियों ने गरीब व जरूरतमंदों की मदद करके साबित कर दिया कि भाव अच्छा और देश के लिए प्रेम सच्चा हो तो गांववाले भी अपनी क्षमता से बढ़कर गरीब और बेसहारा लोगों की मदद के लिए आगे आ सकते (Lockdown: Shahad Ghadi gaon provided dry ration to poor migrants) है।

shahadghadihelp8_optimized

लॉकडाउन में जहां एक ओर चारों तरफ नकारात्मकता और भेदभाव से परिपूर्ण खबरों का भी बोलबाला है। वहीं दूसरी ओर, देश के एक छोटे से जिले से मदद की ऐसी खबरों का आना सच में दिल को सुकून देता है कि हां हमारे भारत में इंसानियत जिंदा है और रहेगी।

shahadghadihelp9_optimized

समयधारा विशेषतौर पर ग्राउंड जीरों से आपके लिए यह खबर लाई है ताकि शहदगढ़ी गांव की ही तरह आप भी अपने आसपास मौजूद गरीब जरूरतमंद की यथासंभव हो मदद करें।

कोरोना (Corona) को हराना है तो हम सभी का एकजुट होना अनिवार्य है और एकजुटता के लिए प्रत्येक बेसहारा की मदद करके इंसानियत का फर्ज निभाना सर्वोपरि है।

 
Lockdown: Shahad Ghadi gaon provided dry ration to poor migrants

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + 13 =

Back to top button