breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबॉलिवुड-हॉलिवुडमनोरंजनराजनीति

कुत्तों की तरह भौंकने वाले नेता और समाचार चैनल, जिन्होंने मुंबई पुलिस को बदनाम किया माफी मांगे: शिवसेना

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत अब वह कहां छिपी हैं, कंगना ने हाथरस मामले में दो आंसू भी नहीं बहाए

sushant-singh-death-case shivsena-demanded-apology from-politicians-news-channels who-defamed-mumbai-police

मुंबई (समयधारा) : सुशांत सिंह राजपूत मौत मामलें में एम्स की रिपोर्ट आने के बाद सुशांत आत्महत्या मामलें में काफी कुछ साफ़ हो गया l 

एक तरफ सुशांत के परिवार वाले इसे ह्त्या का मामला बता कर मीडिया से लेकर सभी जगह इंसाफ की बात कर रहे थे l

तो दूसरी तरफ मुंबई पुलिस पर इस केस को लेकर सवाल भी उठाये थे l लगातार सुशांत का मामला देशभर में लोगों की  जबान पर रहा l 

अब जब  एम्स (AIIMS) की रिपोर्ट में ह्त्या की आशंका को ख़ारिज किया गया l

तो इस केस की वजह से निशाने पर आई शिवसेना ने  उनपर कई सवाल उठाने वाले को लेकर कई सारे जवाब दियें l  

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले (Sushant Singh Rajput Death Case) में हत्या की आशंका को एम्स (AIIMS) की रिपोर्ट में खारिज किए जाने की खबरों के बाद

शिवसेना (Shiv Sena) ने सोमवार को कहा कि इस मामले में मुंबई पुलिस (Mumbai Police) को बदनाम करने वाले नेताओं

और समाचार चैनलों (TV News Channels) को महाराष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए।

sushant-singh-death-case shivsena-demanded-apology from-politicians-news-channels who-defamed-mumbai-police

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा कि अभिनेता की मौत के मामले में अंतत: सच्चाई की जीत हुई है।

कुत्तों की तरह भौंकने वाले नेता और समाचार चैनल, जिन्होंने मुंबई पुलिस को बदनाम किया और उसकी जांच पर सवाल उठाए, उन्हें अब महाराष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए।

शिवसेना ने संपादकीय में आरोप लगाया गया कि इस घटना के जरिये महाराष्ट्र की छवि को खराब करने की साजिश थी।

महाराष्ट्र सरकार को इस साजिश में शामिल लोगों के खिलाफ मानहानि का मामला दायर करना चाहिए।

आपको बता दें कि एम्स के मेडिकल बोर्ड ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की हत्या होने की आशंकाओं को खारिज करते हुए इसे खुदकुशी (Suicide) का मामला ही बताया था।

sushant-singh-death-case shivsena-demanded-apology from-politicians-news-channels who-defamed-mumbai-police

शिवसेना ने कहा कि अब अंधे भक्त सुशांत की मौत के मामले में एम्स की रिपोर्ट को भी खारिज करेंगे। सुशांत की दुर्भाग्यपूर्ण मौत को 110 दिन गुजर गए हैं।

संपादकीय में किसी भी व्यक्ति या राजनीतिक पार्टी (Poltical Party) का नाम लिए बगैर कहा गया कि

जिन लोगों ने उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए कथित सामूहिक बलात्कार और मौत के मामले में चुप्पी साधे रखी, उन्हें महाराष्ट्र के पौरुष की परीक्षा नहीं लेनी चाहिए।

sushant-singh-death-case shivsena-demanded-apology from-politicians-news-channels who-defamed-mumbai-police

संपादकीय में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी आरोप लगाया गया कि उन्होंने इस मुद्दे को इसलिए उठाया,

क्योंकि बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए उनके पास प्रचार के लिए मुद्दों की कमी थी।

सामना में प्रकाशित संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि मुंबई पुलिस ने जांच के दौरान मोरल कोड ऑफ कंडक्ट का ध्यान रखा और गोपनीयता बनाए रखी,

ताकि सुशांत की मौत के बाद किसी की बदनामी नहीं हो। लेकिन, CBI ने अपनी जांच के 24 घंटे के भीतर कलाकारों के मादक पदार्थ संबंधी मामले को खोद निकाला।

इसमें बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) का जिक्र करते हुए पूछा गया कि अब वह कहां छिपी हैं। कंगना ने हाथरस मामले में दो आंसू भी नहीं बहाए।

sushant-singh-death-case shivsena-demanded-apology from-politicians-news-channels who-defamed-mumbai-police

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × four =

Back to top button