breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

Yes Bank के फाउंडर राणा कपूर के खिलाफ ED ने दर्ज किया मनी लॉन्ड्रिंग केस,लुक आउट नोटिस जारी

ईडी की टीम उनकी तलाशी के लिए मुंबई स्थित उनके आवास पर भी पहुंची। राणा कपूर के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी हुआ है।

मुंबई: Yes Bank crisis latest update: शुक्रवार को ED (ईडी) ने यस बैंक (Yes Bank) के पूर्व संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज कर लिया (ED registered money laundering case against Yes Bank founder Rana Kapoor)है

ईडी (ED) की टीम उनकी तलाशी के लिए मुंबई स्थित उनके आवास पर भी पहुंची। राणा कपूर के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी हुआ (Lookout notice against Rana Kapoor)है।

ईडी के एक अधिकारी ने घटनाक्रम की पुष्टि करते हुए कहा, “ईडी फिलहाल डीएचएफएल (दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड) (Dewan Housing Finance Ltd) को दिए गए ऋण के संबंध में उनके वर्ली (मुंबई) स्थित आवास पर खोजबीन कर रहा है।”

बकौल अधिकारी यह छापेमारी उनके समुद्र महल आवास पर की गई है। ईडी ने इस कार्रवाई को मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम के अंतर्गत की है और इसका मकसद और साक्ष्य जुटाना है।

ध्यान रहें कि प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक की माली हालत खराब होने के कारण आरबीआई (RBI) ने यस बैंक से पैसों की निकाली पर 50 हजार की लिमिट तय कर दी है।

यानी यस बैंक (Yes Bank) का कोई भी ग्राहक एक महीने में केवल 50 हजार रुपये की ही निकासी कर सकता है।

हालांकि यस बैंक से पैसों निकालने को लेकर अन्य शर्त यह भी है कि अगर किसी ग्राहक के यहां पर एक से ज्यादा अकाउंट हो तो भी वो अपने सभी खातों को मिलाकर महज 50 हजार ही निकाल सकेगा।


Yes Bank crisis latest update

यस बैंक (Yes Bank) से पैसों की निकासी की सीमा पर पाबंदी 5 मार्च से शुरू हो गई है और फिलहाल यह 3 अप्रैल तक जारी रहेगी। इतना ही नहीं, आरबीआई (RBI) ने बैंक के बोर्ड को 30 दिनों के लिए निलंबित कर दिया है।

इस समयावधि में यस बैंक के बोर्ड पर आरबीआई (RBI) का कब्जा रहेगा। भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने इसका फैसला सरकार से विचार-विमर्श करने के बाद लिया है।

सरकार ने शुक्रवार को यह भी कहा कि उसने आरबीआई से किसी भी कथित वित्तीय अनियमितता की विस्तृत मूल्यांकन रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है जिसने बैंक की बिगड़ती हालत में योगदान दिया है।

क्या है डीएचएफएल घोटाला? DHFL scam

गौरतलब है कि  डीएचएफएल (DHFL) पर 79 फर्जी कंपनियों और एक लाख फर्जी ग्राहकों की मदद से लगभग 13,000 करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप है। इसी मामले में राणा कपूर के घर की तलाशी ली गई है।

राणा कपूर देश छोड़कर भाग न जाएं,इसलिए राणा कपूर के खिलाफ लुक आउट नोटिस (Lookout notice against Rana Kapoor) जारी कर दिया गया है।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उस समय यस बैंक के पूर्व संस्थापक राणा कपूर (Yes Bank founder Rana Kapoor) के घर की तलाशी ली है जब यस बैंक में संकटकाल चल रहा है।

ईडी के अधिकारी ने कहा कि कुछ उदाहरणों में हमने पाया कि जो फंड डीएचएफएल द्वारा डायवर्ट किए गए थे, उनकी शुरुआत यस बैंक से हुई थी।

इन ऋणों की प्रकृति का पता लगाना है और क्या इसमें कोई अनियमितता थी।

 

यस बैंक डूबने की कगार पर-Yes Bank crisis latest update

वर्ष 2004 में में यस बैंक (Yes Bank) को राणा कपूर और अशोक कपूर द्वारा शुरू किया गया था। इन दोनों को उस वक्त हाई-फाई प्रोफेशनल्स माना जाता था।

गौरतलब है कि राणा कपूर ने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से पढ़ाई पूरी करने के बाद न्यूजर्सी के रटगर्स यूनिवर्स‍िटी से एमबीए किया था।

उन्होंने बैंक ऑफ अमेरिका में 16 साल तक नौकरी की थी। अब देश के हाई-फाई प्रोफेशनल्स के द्वारा शुरू किया गया यस बैंक आज संकट से जूझ रहा है।

हालांकि ग्राहकों की चिंता को देखते हुए सरकार ने मदद का पूरा भरोसा दिलाया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ग्राहकों से कहा है कि उनका पैसा पूरी तरह सुरक्षित है और जल्द ही यस बैंक के इस संकट का निवारण हो जाएगा।

इसके लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि आरबीआई ने यस बैंक के पुनर्गठन की योजना तैयार की है।

यस बैंक अपनी सभी जवाबदेहियों पूरा करेगा और सारी देनदारी निबटाएगा।

Yes Bank crisis latest update

यस बैंक की पुनर्गठन योजना (Yes bank restructuring plan) पर एक माह के भीतर अमल किया जाएगा। सरकार ने बताया है कि एसबीआई (SBI) ने यस बैंक (Yes Bank) में हिस्सेदारी खरीदने में अपनी दिलचस्पी दिखाई है।

इनवेस्टर बैंक आगामी तीन साल के लिए 49 फीसदी हिस्‍सेदारी ले सकता है और अपनी हिस्‍सेदारी 26 फीसदी से कम नहीं कर सकता है।

 
Yes Bank crisis latest update
 
 
 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × three =

Back to top button