breaking_newsअन्य ताजा खबरेंटेक न्यूजटेक्नोलॉजीदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज

OMG..! लग सकती है फ्रेश SALE पर रोक.? E-Commerce के नए नियम सख्त करने की तैयारी में सरकार

AMAZON-FLIPKART आदि ई-कॉमर्स वेबसाइट को लग सकता है तगड़ा झटका

amazon flipkart etc e-commerce flash sale may be banned

नई दिल्ली (समयधारा) : देश भर में केंद्र सरकार कई सारे नियमों में बदलाव कर रही है l यह बदलाव खासकर ऑनलाइन से जुड़े है l 

अगर सूत्रों की माने तो सरकार फ्रेश सेल पर रोक लगा सकती है l वही AMAZON-FLIPKART आदि ई-कॉमर्स वेबसाइट को लग सकता है तगड़ा झटका l 

सरकार के प्रस्तावित नए नियमों के मुताबिक,
ई-कॉमर्स कंपनियों को भारत में एक Chief Compliance Officer और एक निवासी शिकायत अधिकारी नियुक्त करना होगाl 

अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग कर कर रहे हैं  तो सरकार इसमें भी नियमों में बदलाव करने की तैयारी में है।

फ्री वैक्सीन को मिली रिकॉर्ड तोड़ सफलता, एक दिन में 80 लाख से ज्यादा वैक्सीनेशन

ऑनलाइन रिटेलर्स द्वारा बाजार में अपनी पैठ जमाने और भारी भरकम छूट की शिकायत छोटे कारोबारियों द्वारा की जाती रही है।

इस शिकायत के चलते भारत में एमेजॉन (Amazon) और फिल्पकार्ट जैसी ई-कॉमर्स मार्केट प्लेस पर सरकार सख्त रवैया अपनाने की तैयारी कर रही है।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय (consumer affairs ministry) द्वारा प्रस्तावित उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम 2020 {Consumer Protection (E-commerce) Rules, 2020} के मुताबिक, सरकार फ्लैश सेल को सीमित करने की तैयारी में है।

Tuesday Thoughts : कुछ-कुछ बातों को मुस्करा कर टाल देना चाहिए…

amazon flipkart etc e-commerce flash sale may be banned

हालांकि पारंपरिक तौर पर आयोजित होने वाली ई-कॉमर्स रियायती बिक्री पर पाबंदी नहीं लगेगी।

सिर्फ विशिष्ट तौर पर ग्राहकों को घेरने के लिहाज से की जाने वाली बिक्री या बार-बार फ़्लैश बिक्री (back-to-back sales),

कीमतों में इजाफा करती हैं। सबके के लिए एक समान अवसर वाला प्लेटफॉर्म मुहैया कराने से से रोकती है, ऐसी बिक्री की अनुमति नहीं होगी।

मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित ई-कॉमर्स नियमों में बदलाव के मुताबिक, ई-कॉमर्स फर्मों को पर्याप्त शिकायत तंत्र बनाने (dequate redressal mechanisms) और मुख्य अनुपालन अधिकारी (chief compliance officer) नियुक्त करना होगा।

Central Bank Of India & Indian Overseas Bank का होगा प्राइवेटाइजेशन

इसके अलावा इन कंपनियों को एक निवासी शिकायत अधिकारी (resident grievance officer) भी नियुक्त करना होगा।

यह अधिकारी भारत का निवासी होना चाहिए। साथ ही नोडल अधिकारी भी रखना होगा।

amazon flipkart etc e-commerce flash sale may be banned

सरकार स्थानीय उत्पादों की बिक्री को प्राथमिकता देना, ई-रिटेलरों का उद्योग और आंतरिक व्यापार विभाग (Department for Promotion of Industry and Internal Trade -DPIIT) के पास अनिवार्य रजिस्ट्रेशन जैसे नियम शामिल हैं।

केंद्र सरकार के इस कदम का मकसद ग्राहकों के प्रति कंपनियों को जवाबदेह बनाना और नियामकीय व्यवस्था को सख्त बनाना है।

प्रस्तावित संशोधनों में ई-कॉमर्स कंपनियों को किसी भी कानून के तहत अपराधों की रोकथाम,

जांच करने और सरकारी एजेंसी से आदेश मिलने के 72 घंटे के भीतर सूचना मुहैया करानी होगी।

7th International Yoga Day 2021 पर मोदी जी के संबोधन व M YOGA APP की जानकारी

उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 को पहली बार पिछले साल जुलाई में नोटिफाई किया गया था।

मंत्रालय ने कहा है कि उद्योग निकाय (Industry bodies) और ई-कॉमर्स फर्मों के लिए प्रस्तावित नियमों पर अपना सुझाव और टिप्पणी 6 जुलाई तक भेज सकते हैं। 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + six =

Back to top button