breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

1st January 2022 rules change:आज 1 जनवरी से महंगा हुआ ATM कैश निकालना,ऑनलाइन फूड,फुटवियर की खरीद,जानें नए नियम

आज 1 जनवरी 2022 से काॅमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत में कटौती कर दी गई है।यह कटौती 19 किलोग्राम के काॅमर्शियल गैस सिलेंडर पर की गई है।

1st-January-2022-rules-change

नई दिल्ली:नए साल का आज पहला दिन है।कैलेंडर में सिर्फ तारीख और साल ही नहीं बदला बल्कि आज 1जनवरी 2022(New Year 2022)से आपकी जिंदगी से जुड़े कुछ बहुत अहम नियम बदल गए(1st-January-2022-rules-change)है,जिनके बारे में जानना आपके लिए जरुरी है।

नए साल के पहले दिन 1 जनवरी 2022 से बहुत से नए नियम एटीएम से कैश निकालने,जूते-चप्पल की खरीद पर जीएसटी,ऑनलाइन फूड(Online food) और बैंक लॉकर(bank locker)को लेकर जारी कर दिए गए(1st-january-2022-rules-change-for-atm-cash-withdrawal-gst-on-footwear-online-food-ippb-charges)है।

इनमें सबसे प्रमुख है कि अब आपको एटीएम से कैश निकालने(atm-cash-withdrawal) पर ज्यादा चार्ज देना पड़ेगा।

जी हां,1जनवरी 2022 से बैंको ने एटीएम कैश विदड्रॉल चार्ज(atm-cash-withdrawal-charges-increase)बढ़ा दिया है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया(Reserve Bank of India)ने इसकी अनुमति बैंकों को दे दी है।

इसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ने वाला है। चूंकि एटीएम कैश विदड्रॉल चार्जेस बढ़ाने की परमिशन मिलने के बाद सिर्फ प्राइवेट बैंकों ने ही नहीं,

बल्कि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ने भी अपने मंथली विदड्रॉल चार्जेस में वृद्धि कर दी है जोकि आज,1 जनवरी 2022 से लागू हो गई(rules-2022-change) है।

आगे फेस्टिव सीजन की बहार है इसलिए जरुरी है कि आप समय रहते जान लें कि नए साल में आपकी जिंदगी से जुड़ी और कौन-कौन सी जरुरी सेवाओं में बदलाव हो गया है।

New Rules: 1जुलाई से बदल रहे है ये नियम,आपकी जेब पर डालेंगे असर,जानें सबकुछ

1st-January-2022-rules-change:चलिए बताते है नए नियम

ATM से पैसा निकालना आज से हुआ महंगा

1 जनवरी, 2022 से महीने की लिमिट से ज्यादा बार ट्रांजैक्शन करने पर अब ग्राहकों को हर ट्रांजैक्शन पर 20 रुपये नहीं बल्कि 21 रुपये का भुगतान करना पड़ेगा।

-देश के तीन प्राइवेट बैंकों ने भी ट्रांजैक्शन के नियमों में बदलाव किया है,जिनमें ICICI बैंक(ICICI Bank)के नए नियमों के मुताबिक पहले पांच ट्रांजैक्शन फ्री होंगे, जबकि इसके बाद के हर ट्रांजैक्शन पर 21 रुपये की फीस वसूली जाएगी।

हर वित्तीय लेनदेन पर फीस 21 रुपये होगी जबकि गैर वित्तीय लेनदेन पर ये फीस हर बार 8 रुपये 50 पैसे होगी।

HDFC बैंक ने शहरों के मुताबिक, विभिन्न नियम तय किए हैं।

मुंबई, नई दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु और हैदराबाद के लिए शुरुआती तीन लेन-देन फ्री है। इसके बाद फ्री लिमिट से ज्यादा लेनदेन करने पर प्रति लेनदेन 21 रुपये प्लस टैक्स देना होगा।

– Axis बैंक का नियम भी कुछ ऐसा ही है। एक्सिस बैंक ने फ्री लिमिट के बाद रुपये निकालने पर 20 रुपये प्लस टैक्स का प्रावधान रखा है।

वित्तीय लेनदेन पर 5 फ्री लिमिट के बाद ये फीस लागू होगी। गैर वित्तीय लेनदेन के लिए दस रुपये फीस तय की गई है।

आपके डेबिट/क्रेडिट कार्ड से पेमेंट हो सकती है फेल,आज से बदल गए auto-debit-payment के नियम

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक(IPPB) ने भी बढ़ा दिया शुल्क

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (India Post Payment Bank) ने भी अपने ट्रांजैक्शन नियमों में बदलाव का फैसला किया है।

जिसके बाद इस बैंक से सिर्फ 4 ट्रांजैक्शन ही फ्री किए जा सकेंगे।

चार के बाद सभी ट्रांजैक्शन पर फीस अदा करनी होगी। हो सकता है ट्रांजैक्शन करने वाले को 25 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन जमा करने पड़े।

 

 

फुटवियर उद्दोग पर आज से बढ़ा जीएसटी-चप्पल-जूता अब महंगा

आज 1 जनवरी 2022 से फुटवियर उद्योग पर जीएसटी की दरें बढ़ा दी गई हैं। टेक्सटाइल उद्योग पर भी दरों को पांच फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी किया गया था, लेकिन विरोध के चलते शुक्रवार को जीएसटी परिषद काउंसिल में इस बढ़ोतरी को टाल दिया गया।

वैसे, फुटवियर उद्योग पर जीएसटी(Footwear GST) दरें पांच फीसदी से बढ़कर 12 फीसदी कर दी गई(1st-January-2022-rules-change)हैं। ऐसे में जूते-चप्पल खरीदना अब महंगा होगा।

GSTR-1 फाइलिंग के लिए GST भरना जरूरी

जीएसटी परिषद की घोषणा है कि जो भी कारोबारी अपना मासिक जीएसटी रिटर्न(GST Return) या समरी रिटर्न नहीं भरते हैं, उन्हें 1 जनवरी, 2022 से GSTR-1 सेल्स रिटर्न नहीं भरने दिया जाएगा।

Bank लॉकर से जुड़े नियम हुए सख्त

रिजर्व बैंक ने बीते वर्ष अगस्त में बैंक लॉकर से जुड़े नियमों को सख्त कर दिया था।

नई गाइडलाइन के मुताबिक,आग लगने की घटना, चोरी, इमारत ढहने तथा बैंक कर्मचारियों द्वारा धोखाधड़ी के मामलों में लॉकर को लेकर बैंक का दायित्व उसके सालाना किराये के 100 गुना तक सीमित रहेगा

लॉकरों(Bank locker)के बारे में संशोधित दिशानिर्देश 1 जनवरी, 2022 से लागू हो रहे(1st-January-2022-rules-change) हैं।

-बैंकों को लॉकर करार में एक प्रावधान शामिल करना होगा जिसमें तहत लॉकर किराये पर लेने वाला व्यक्ति उसमें कोई भी गैरकानूनी या खतरनाक सामान नहीं रख सकेगा।

1 अगस्त से बदल गए ये नियम,ATM कैश,IPPB महंगा,हॉलिडे में सैलरी-पेंशन,जानें यहां

कमर्शियल LPG Cylinder की कीमतें घटी लेकिन घरेलू में बदलाव नहीं

-हर महीने की शुरुआत में देश में कुकिंग और कॉमर्शियल एलपीजी सिलिंडरों(LPG Cylinder) की कीमतों में संशोधन होता है।

पिछले महीने घरेलू कुकिंग गैस सिलिंडर के दाम स्थिर रखे गए थे, लेकिन कॉमर्शियल सिलिंडरों की कीमत 100.50 रुपये प्रति सिलिंडर की कीमत बढ़ा दी गई थी,

लेकिन अब आज 1 जनवरी 2022 से काॅमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत में कटौती(Commercial LPG Cylinder price slash)कर दी गई है।

यह कटौती 19 किलोग्राम के काॅमर्शियल गैस सिलेंडर पर की गई है।

IOCL के अनुसार 1 जनवरी 2022 को दिल्ली में काॅमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 102 घटकर 1998.5 हो गई(1st-January-2022-rules-change) हैं।

बता दें, 31 दिसंबर तक 19 किलोग्राम वाले गैस सिलेंडर के लिए दिल्ली वालों को 2101 रुपये देने होते थे। जहां चेन्नई में अब 19 किलोग्राम एलपीजी सिलेंडर के लिए 2131 रुपये तो वही मुंबई में 1948.50 रुपये देने होंगे।

नई कीमतें जारी होने के बाद कोलकाता में काॅमर्शियल गैस सिलेंडर अब आज से 2076 रुपये में खरीदा जा सकता है। 

नये साल पर घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमतों(LPG Cylinder Price)में कोई बदलाव नहीं देखने को मिला है।

यही वजह है कि राष्ट्रीय राजधानी में रहने वाले लोगों को घरेलू गैस सिलेंडर बिना सब्सिडी के 900 रुपये में मिलता रहेगा। 

आम आदमी सावधान…! क्या आपको भी लग रही है रसोई गैस महंगी..? अभी और भी बढ़ेगें दाम..!

 

ऑनलाइन फूड होगा महंगा

कपड़ों और जूतों के अतिरिक्त अगर आप भी ऑनलाइन खाना मंगाने के शौकीन हैं तो आपकी जेब पर भारी असर पड़ने वाला है।

क्योंकि 1 जनवरी 2022 से ऑनलाइन फूड डिलीवरी एप जोमैटो (Zomato App) और स्विगी (Swiggy App)से खाना ऑर्डर करने पर कंपनियों को टैक्स का भी भुगतान करना (1st-January-2022-rules-change)होगा।

नए साल से फूड डिलीवरी एप्स पर भी 5% GST लगेगा।

हालांकि, यूजर्स पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है क्योंकि यह पहले ही क्लियर किया जा चुका है कि सरकार यह टैक्स ग्राहकों से नहीं, बल्कि एप कंपनियों से वसूलेगी,

लेकिन यह तो हमेशा से ही होता रहा है कि अगर सरकार की ओर से किसी कंपनी पर कोई बोझ पड़ता है तो एप कंपनियां किसी न किसी तरीके से उसे ग्राहकों से ही वसूलती हैं।

ऐसे में अब नए साल में ऑनलाइन फूड ऑर्डर करना आपकी जेब के लिए भारी होने जा रहा है।

 

 

1st-January-2022-rules-change

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three + four =

Back to top button