breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेस न्यूज

Alert! क्या आपके बच्चे की उम्र 5 और 15 साल है? तो Aadhaar में तुरंत करें ये अपडेट

आधार कार्ड से जुड़ा अपडेट UIDAI ने यह दिया है कि प्रत्येक माता-पिता या कानूनी अभिभावक को ध्यान रखना चाहिए कि अगर उन्होंने अपने बच्चे का भी आधार कार्ड बनवाया है तो इसमें दो बार अपडेट होना अनिवार्य है...

नई दिल्ली:Children Aadhaar card biometric update mandatory- इसमें कोई शक नहीं की आधार कार्ड (Aadhaar card) हमारे जीवन का आधार बन चुका है।

बैंक (Bank) में खाता खुलवाना हो, सब्सिडी चाहिए हो, पैन कार्ड (PAN Card) बनवाना हो, इनकम टैक्स (Income tax) भरना हो, प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन की बात हो या फिर किसी भी सरकारी योजना का लाभ लेना हो,लगभग हर जगह आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है।

इसलिए जरूरी है कि इससे जुड़े सभी दिशा-निर्देश और नए अपडेट आपको पता हो।

Children Aadhaar card biometric update mandatory:

-आधार मामलों को देखने वाली बड़ी संस्था भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के मुताबिक, अब आप अपने नवजात बच्चे का भी आधार कार्ड (Aadhaar Card) बनवा सकते है।

ऐसा करने के लिए कोई इंतजार करने की जरूरत नहीं है।

-बच्चों के आधार कार्ड से जुड़ा अपडेट UIDAI ने यह दिया है कि प्रत्येक माता-पिता या कानूनी अभिभावक को ध्यान रखना चाहिए कि अगर उन्होंने अपने बच्चे का भी आधार कार्ड (Aadhaar) बनवाया है तो इसमें दो बार अपडेट होना अनिवार्य है।

पहला, जब आप आपका बच्चा 5 साल का हो जाएं तब और दूसरा, जब आपका बच्चा 15 साल का हो जाएं,तो उसके आधार में बायोमीट्रिक अपडेट करवाना अनिवार्य है। यही बच्चों का बॉयोमीट्रिक अपडेशन कहलाता है।

UIDAI के मुताबिक, बच्चे के जन्म प्रमाण पत्र यानी बर्थ सर्टिफिकेट या हॉस्पिटल की ओर से जारी डिस्चार्ज कार्ड/पर्ची के द्वारा किसी भी आधार सेवा केंद्र पर जाकर माता-पिता अपने बच्चे का आधार कार्ड बनवा सकते हैं।

 

बच्चे की उम्र 5 और 15 साल की होने पर रखें इस बात का ध्यान:

Children Aadhaar card biometric update mandatory:

children-aadhaar-card-biometric-update-mandatory-at-age-of-5-and-15-years-uidai-alert-1_optimized

UIDAI के अनुसार, जब आपका बच्चा 5 साल का हो जाए तो उसकी बॉयोमेट्रिक डिटेल अपडेट करानी अनिवार्य है।

-ठीक इसी तरह, बच्चे की उम्र 15 साल होने पर भी बायोमेट्रिक डिटेल्स अपडेट करानी पड़ती है।

-असल में, जिन बच्चों का आधार कार्ड पांच वर्ष की आयु से पहले बन जाता है, उन बच्चो की बायोमेट्रिक्स अर्थात उंगलियों के निशान और आंखों की पुतलियां विकसित नहीं होती।

इसलिए इतने छोटे बच्चों के आधार इनरॉलमेंट के वक्त उनके बायोमेट्रिक डिटेल्स नहीं ली जाती है। यही कारण है कि UIDAI ने 5 साल पर इसे अपडेट कराना जरूरी किया है।

-ठीक इसी प्रकार, जब बच्चा ​ किशोरावस्था में आ जाता है तो उसके बायोमेट्रिक पैरामीटर में बदलाव होते हैं।

इसलिए UIDAI ने एक बार फिर 15 साल की उम्र होने पर बायोमीट्रिक डिटेल्स अपडेट कराना अनिवार्य किया है।

 

 क्या बच्चे का आधार अपडेट कराने पर आएंगा खर्च?

UIDAI के अनुसार, बच्चे के आधार में बॉयोमीट्रिक डिटेल अपडेट कराना पूरी तरह फ्री है।

-जी हां, आपको अपने बच्चे का आधार अपडेट कराने के लिए एक रुपया भी देने की जरूरत नहीं है,यह पूरी तरह फ्री है।

-इतना ही नहीं, इन दोनों आयु वर्गों के समय जब भी आप अपने बच्चे के आधारा की डिटेल अपडेट कराने जाएंगे तो किसी भी तरह का डॉक्यूमेंट या दस्तावेज नहीं देना होगा।

-माता-पिता अपने बच्चे के आधार कार्ड में बॉयोमीट्रिक डिटेल का अपडेशन अपने निकटतम आधार केंद्र पर जाकर करा सकते हैं।

-निकट के आधार केंद्र की जानकारी UIDAI की वेबसाइट पर उपलब्ध है। आप वहां से समय और केंद्र के विषय में संपूर्ण जानकारी ले सकते है।

 

Children Aadhaar card biometric update mandatory

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + seven =

Back to top button