breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबॉलिवुड-हॉलिवुडमनोरंजन
Trending

Bollywood को लगा एक और झटका मशहूर अभिनेता विश्व मोहन बडोला का निधन

स्वदेश, जोधा अकबर, लगे रहो मुन्नाभाई सहित कई सुपरहिट फिल्मों में अभिनय करने वाले अभिनेता विश्व मोहन बडोला का देहांत हो गया

veteran-actor vishwa-mohan-badola-dies at-age-of-85

मुंबई (समयधारा) : स्वदेश, जोधा अकबर,लगे रहो मुन्नाभाई सहित कई सुपरहिट फिल्मों में अभिनय करने वाले अभिनेता विश्व मोहन बडोला का देहांत हो गया l 

Bollywood को कोराना काल के दौरान कई झटके लगे है और अब  एक और झटका मशहूर अभिनेता विश्व मोहन बडोला के  निधन से हुआ है l 

वह 85 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी के अलावा एक बेटा और दो बेटियां हैं।

बडोला ने कई टीवी धारावाहिकों और फिल्मों में काम किया था और वह थियेटर की दुनिया की भी जानी मानी हस्ती थे।

उनके परिवार के नजदीकी सूत्रों के अनुसार सोमवार की रात अभिनेता का उनके आवास पर निधन हो गया।

बडोला ने पेशेवर पत्रकार के रूप में अपनी यात्रा की शुरुआत की थी,

लेकिन बाद में उन्होंने कला जगत का रुख किया और दिल्ली के थियेटरों में काम करने लगे।

veteran-actor vishwa-mohan-badola-dies at-age-of-85

बडोला ने अपने पांच दशक के करियर में आकाशवाणी के लिए चार सौ से अधिक नाटक किए।

उन्होंने आशुतोष गोवारिकर की फिल्म स्वदेस समेत कई लोकप्रिय फिल्मों में भी काम किया था।

बडोला ने गोवारिकर की 2008 में आई फिल्म जोधा अकबर और राजकुमार हिरानी की लगे रहो मुन्नाभाई में भी अभिनय किया था।

उन्होंने जॉली एलएलबी 2 और प्रेम रतन धन पायो में भी काम किया था।

veteran-actor vishwa-mohan-badola-dies at-age-of-85

बडोला के बेटे और प्रसिद्ध अभिनेता वरुण बडोला ने मंगलवार को इंस्टाग्राम पर एक भावनात्मक पोस्ट लिखकर अपने पिता के निधन की पुष्टि की।

वरुण ने पिता को याद करते हुए एक भावुक नोट लिखकर श्रद्धांजलि दी है।

इंस्टाग्राम पर वरुण ने लिखा कि तमाम लोग यह शिकायत करते हैं कि उनके बच्चे उनकी नहीं सुनते।

कई लोग यह बात भूल जाते हैं कि बच्चे उन्हें देख रहे हैं। मेरे पिता ने कभी मुझे बिठाकर कुछ नहीं सिखाया।

उन्होंने मुझे सिखाने के लिए जीवन जीया। उन्होंने ऐसी मिसाल पेश की कि मेरे सामने उसे मानने के सिवा कोई दूसरा रास्ता नहीं था।

वरुण ने आगे लिखा है कि अगर आपको लगता है कि मैं अच्छा कलाकार हूं, तो इसके लिए वही जिम्मेदार हैं।

अगर मैं लिखता हूं तो इसका श्रेय उन्हें ही जाता है। अगर मुझमें गायकी का उनका दशांश हुनर भी होता तो मैं सिंगर बन जाता।

veteran-actor vishwa-mohan-badola-dies at-age-of-85

वरुण आगे लिखते हैं कि मैं दिल्ली छोड़कर मुंबई आया, क्योंकि शहर में उनके नाम का मुकाबला करना मेरे लिए बहुत बड़ी बात थी।

लोग मुझे जज करें, मैंने इसका विरोध किया। मुझे उनके नाम का फायदा मिले। उन्होंने मुझसे अपनी अलग पहचान बनाने के लिए कहा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − fourteen =

Back to top button