Alert..! कोरोना का नया वैरिएंट NeoCov अगर हुआ, तो 3 में से 1 की मौत

चीन (China) के वुहान (Wuhan) के वैज्ञानिकों ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में कोरोनावायरस (Coronavirus) के एक नए वेरिएंट 'नियोकोव' (NeoCov) की चेतावनी दी है l

alert if-coronas-new-variant neocov-happens then-1-out-of-3-will-die

नयी दिल्ली (समयधारा) : विश्व भर में पिछले 2 सालों से कोरोना का कहर जारी है l

पहले कोरोना फिर इसके नए-नए वैरिएंट विदेश ही नहीं देश भर में कहर बरपाया है l

और लो अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने जो चेतावनी जारी की थी,

और कहा था की ओमीक्रोन Covid-19 का आखिरी वेरिएंट नहीं हो सकता है अब वो बात सच होती नजर आ रही हैl 

कोरोना के दौरान शादियों के निमंत्रण पर जोक्स का पिटारा

कोरोना के दौरान शादियों के निमंत्रण पर जोक्स का पिटारा

रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक (Sputnik) की एक रिपोर्ट के अनुसार,

चीन (China) के वुहान (Wuhan) के वैज्ञानिकों ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में कोरोनावायरस (Coronavirus) के एक नए वेरिएंट ‘नियोकोव’ (NeoCov) की चेतावनी दी है,

alert if-coronas-new-variant neocov-happens then-1-out-of-3-will-die

जिसका डेथ रेट यानि मृत्यु दर और ट्रांसमिशन रेट बेहद ज्यादा बताई जा रही है।

हालांकि, रिपोर्ट के मुताबिक NeoCov वायरस नया नहीं है। MERS-CoV वायरस से जुड़ा,

यह वेरिएं 2012 और 2015 में मध्य पूर्वी देशों में प्रकोपों ​​​​में खोजा गया था और यह SARS-CoV-2 जैसा ही है, जो इंसानों में कोरोनावायरस का कारण बनता है।

मिडकैप 440 अंक ऊपर वही शेयर बाजार नीचे गिरकर हुआ बंद

जबकि NeoCoV को दक्षिण अफ्रीका में एक चमगादड़ों में गया था और केवल इन जानवरों के बीच फैलने के लिए जाना जाता है,

बायोरेक्सिव वेबसाइट पर प्रीप्रिंट के रूप में पब्लिश हुई एक नई स्टडी से पता चला है कि

NeoCoV और इसके करीबी वेरिएंट PDF-2180-CoV मनुष्यों को भी संक्रमित कर सकते हैं।

alert if-coronas-new-variant neocov-happens then-1-out-of-3-will-die

वुहान यूनिवर्सिटी और चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेज इंस्टीट्यूट ऑफ बायोफिजिक्स के शोधकर्ताओं के अनुसार,

इंसानों के सेल में घुसपैठ करने के लिए वायरस के लिए केवल एक म्यूटेशन की जरूरत होती है।

चुनावी व्यंग-कविता-उत्तर प्रदेश चुनाव पर एक सटीक नजरिया

रिसर्च के निष्कर्षों में कहा गया है कि नोवेल कोरोनावायरस एक जोखिम पैदा करता है,

क्योंकि यह ACE2 रिसेप्टर को कोरोनावायरस पैथोजन से अलग तरीके से बांधता है।

चीनी शोधकर्ताओं के अनुसार, NeoCoV MERS-Hig CoV की मृत्यु दर बेहद ज्यादा है।

इसी ऐसे समझिए कि तीन संक्रमित व्यक्ति में से एक की मौत हो जाती है।

Friday Thoughts-खेल तो चलता रहेगा सवाल यह है कि, जीवन तुमसे खेल रहा है, या तुम जीवन से…? 

रिपोर्ट में कहा गया है कि NeoCoV पर एक ब्रीफिंग के बाद,

रूसी स्टेट वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर के विशेषज्ञों ने गुरुवार को एक बयान जारी किया।

इसमें कहा गया है कि इसमें बताए गए संभावित खतरों का अध्ययन करने और आगे जांच करने की जरूरत है।

उन्होंने आगे कहा, “वेक्टर रिसर्च केंद्र चीनी शोधकर्ताओं की तरफ से NeoCoV कोरोनावायरस पर मिले आंकड़ों से अवगत है।

फिलहाल, खतरा मनुष्यों के बीच सक्रिय रूप से फैलने में सक्षम एक नए कोरोनावायरस के उभरने का नहीं है।”

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button