breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

74वीं मन की बात में PM मोदी के संबोधन की सभी ख़बरें विस्तार से

प्रधानमंत्री मोदी ने बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहीं छात्रों और छात्राओं को संदेश देते हुए कहा कि आप सब को याद है ना Warrior बनना है worrier नहीं, हंसते हुए परीक्षा देने जाना है.

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

नई दिल्ली (समयधारा) 74th Mann ki Baat : एक तरफ देश भर में कोरोना का कहर फिर से सर उठाने लगा है l 

दूसरी तरफ एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी ने 28 फरवरी को 11 बजे मन की बात रेडियो कार्यक्रम में संबोधित किया।

प्रधानमंत्री मोदी  हर महीने इस रेडियो प्रोग्राम के जरिए देश को संबोधित करते हैं।

यह उनका लगातार 74वां “मन की बात” रेडियो प्रोग्राम है। 

इस महीने की शुरुआत में पीएम मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से सुझाव मांगे थे कि उन्हें इस बार किस विषय पर बात करना चाहिए ।

इसके साथ ही उन्होंने लोगों से आर्ट, कल्चर और टूरिज्म के क्षेत्र से जुड़े लोगों से उनकी प्रोत्साहित करने वाली कहानियां भी शेयर करने को कहा था ।

74वीं मन की बात में PM मोदी के संबोधन की सभी ख़बरें विस्तार से
74वीं मन की बात में PM मोदी के संबोधन की सभी ख़बरें विस्तार से

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

प्रधानमंत्री मोदी ने बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहीं छात्रों और छात्राओं को संदेश देते हुए कहा कि आप सब को याद है ना Warrior बनना है worrier नहीं,

हंसते हुए परीक्षा देने जाना है और मुस्कुराते हुए लौटना है। किसी और से नहीं, अपने आप से ही स्पर्धा करनी है।

पीएम मोदी ने कोरोना काल में लोगों को सावधानी बरतने के लिए कहा है। उन्होंने कहा है कि किसी तरह की लापरवाही ना करें।

74वीं मन की बात में PM मोदी के संबोधन की सभी ख़बरें विस्तार से
74वीं मन की बात में PM मोदी के संबोधन की सभी ख़बरें विस्तार से

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

पीएम मोदी ने कहा कि असम में हमारे मंदिर प्रकृति के संरक्षण में अपनी अलग ही भूमिका निभा रहे हैं।

आप हमारे मंदिरों को देखेंगे तो पाएंगे कि हर मंदिर के पास तालाब होता है। इनका उपयोग विलुप्त होते कछुओं की प्रजातियों को बचाने के लिए किया जा रहा है।

असम में कछुओं की सबसे अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं।

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भरता की पहली शर्त होती है– अपने देश की चीजों पर गर्व होना, अपने देश के लोगों द्वारा बनाई वस्तुओं पर गर्व होना।

जब प्रत्येक देशवासी गर्व करता है, प्रत्येक देशवासी जुड़ता है, तो आत्मनिर्भर भारत, सिर्फ एक आर्थिक अभियान न रहकर एक नैशनल स्प्रिट बन जाता है।

आज आत्मनिर्भर अभियान एक भाव बन चुका है। जो आम लोगों के दिलों में बस चुका है।

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

मेरी एक कमी ये रही कि मैं दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा – तमिल सीखने के लिए बहुत प्रयास नहीं कर पाया, मैं तमिल नहीं सीख पाया।

जब हम आसमान में अपने देश में बने लड़ाकू विमान तेजस को कलाबाजियां खाते देखते हैं, जब भारत में बने टैंक, मिसाइलें हमारा गौरव बढ़ाते हैं।

जब हम दर्जनों देशों तक मेड इन इंडिया कोरोना वैक्सीन को पहुंचते देखते हैं तो हमारा माथा और ऊंचा हो जाता है।

आज नेशनल साइंस डे है। आज का दिन भारत के महान वैज्ञानिक, डॉक्टर सी.वी. रमन जी द्वारा की गई रमन इफेक्ट खोज को समर्पित है।

हम जैसे दुनिया के दूसरे वैज्ञानिकों के बारे में जानते हैं, वैसे ही हमें भारत के वैज्ञानिकों के बारे में भी जानना चाहिए।

जब हम विज्ञान की बात करते हैं तो कई बार इसे लोग भौतिक विज्ञान और रसायन विज्ञान या फिर लैब तक ही सीमित कर देते हैं, 

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

विज्ञान का विस्तार इससे कहीं ज़्यादा है और आत्मनिर्भर भारत अभियान में विज्ञान की शक्ति का बहुत योगदान है।

आत्मनिर्भर का मतलब अपनी किस्मत का फैसला खुद करना है।

पीएम मोदी ने कहा कि ये मेरा सौभाग्य है कि मैं संत रविदास जी की जन्मस्थली वाराणसी से जुड़ा हुआ हूं।

संत रविदास जी के जीवन की आध्यात्मिक ऊंचाई को और उनकी ऊर्जा को मैंने उस तीर्थ स्थल में अनुभव किया है।

हम अपने सपनों के लिए किसी दूसरे पर निर्भर रहें ये बिलकुल ठीक नहीं है। जो जैसा है वो वैसा चलता रहे,

रविदास जी कभी भी इसके पक्ष में नहीं थे और आज हम देखते है कि देश का युवा भी इस सोच के पक्ष में बिलकुल नहीं है।

मन की बात में पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कोई ऐसा दिन नहीं होगा जब देश के किसी-न-किसी कोने में पानी से जुड़ा कोई उत्सव न हो।

narendra modi radio programme 74th mann ki baat all updates in hindi

माघ के दिनों में तो लोग अपना घर-परिवार, सुख-सुविधा छोड़कर पूरे महीने नदियों के किनारे कल्पवास करने जाते हैं।

माघ पूर्णिमा का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा- हमारे देश में पानी से जुड़े कई सारे उत्सव हो रहे हैं।

जल हमारे लिए जीवन भी और आस्था भी है। पानी एक तरह से पारस से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण है।

पानी के संरक्षण के लिए हमें अभी से ही प्रयास शुरू कर देने चाहिए, 22 मार्च को विश्व जल दिवस भी है।

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 16 =

Back to top button