breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति

83वीं मन की बात : आयुष्मान योजना सहित स्टार्टअप सहित जाने सब कुछ

Mann Ki Baat में प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन

83rd mann ki baat live news updates in hindi

नयी दिल्ली (समयधारा) : मोदी एक बार फिर अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात (Mann Ki Baat) के जरिये देशवासियों को संबोधन कर रहे हैl

पीएम मोदी ने कहा, दिसंबर महीने नेवी डे (Navy Day) और आर्म्ड फोर्स फ्लैग डे (Armed Forces Flag Day) भी देश मनाता है।

हम सबको मालूम है 16 दिसम्बर को 1971 के युद्ध का स्वर्णिम जयन्ती वर्ष भी देश मना रहा है।

मैं इन सभी अवसरों पर देश के सुरक्षा बलों का स्मरण करता हूं, हमारे वीरों का स्मरण करता हूं।

Live Score INDvsNZ – भारत की हालत ख़राब, जडेजा 0 पर आउट, आधी टीम पवेलियन में

पीएम मोदी ने कहा, आजादी में अपने जनजातीय समुदाय के योगदान को देखते हुए देश ने जनजातीय गौरव सप्ताह भी मनाया है।

देश के अलग-अलग हिस्सों में इससे जुड़े कार्यक्रम भी हुए। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में जारवा और ओंगे,

ऐसे जनजातीय समुदायों के लोगों ने अपनी संस्कृति का जीवंत प्रदर्शन किया।

पीएम मोदी ने कहा कि साथियो, अमृत महोत्सव, सीखने के साथ ही हमें देश के लिए कुछ करने की भी प्रेरणा देता है,

और अब तो देश-भर में आम लोग हों या सरकारें, पंचायत से लेकर पार्लियामेंट तक,

अमृत महोत्सव की गूंज है और लगातार इस महोत्सव से जुड़े कार्यक्रमों का सिलसिला चल रहा है।

83rd mann ki baat live news updates in hindi

टमाटर है सेहत का खजाना, रोज खाना कैंसर को भगाना

इससे पहले, Mann ki Baat : 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (28 नवंबर ) को आकाशवाणी पर मन की बात कार्यक्रम में देश-विदेश के लोगों के साथ अपने विचार शेयर करेंगे।

पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) का यह खास कार्यक्रम सुबह 11 बजे प्रसारित किया जाएगा।

यह मन की बात कार्यक्रम का 83वां एपिसोड होगा। यह कार्यक्रम साल 2021 में 11वीं बार प्रसारित होगा।

इस कार्यक्रम का प्रसारण ऑल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन, ऑल इंडिया रेडियो न्यूज और मोबाइल एप पर किया जाएगा।

वक्त और किस्मत पर कभी घमंड मत करों 

बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर महीने के आखिरी रविवार को इस कार्यक्रम में संबोधित करते हैं।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कृषि कानूनों को लेकर बात कर सकते हैं।

वहीं इसके अलावा कोरोना के नए स्वरूप अमिक्रॉन, जलवायु परिवर्तन, वायु प्रदूषण, रोजगार आदि विषयों पर बोल सकते हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button