breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति

कच्छ में पीएम मोदी Live: कृषि कानूनों पर विपक्ष किसानों को भ्रमित कर रहा है

मोदी ने आज कच्छ में कई परियोजनाओं का उद्धघाटन किया और साथ ही सोलर पार्क की आधारशिला रखी...

PM Modi visit kutch in Gujarat to meet sikh farmers amid farmers protest

नई दिल्ली/कच्छ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) मंगलवार को गुजरात में कच्छ के एक दिवसीय दौरे पर किसानों से मिलने (PM Modi visit kutch in Gujarat) पहुंचे।

दिल्ली और देशभर में नए कृषि कानूनों का विरोध-प्रदर्शन (Farmers Protest) कर रहे किसानों के बारे में पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें विपक्ष कृषि कानूनों पर भ्रमित कर रहा है।

उन्होंने आगे कहा कि कच्छ(kutch) में सिंगापुर से भी बड़ा सोलर पार्क है। पीएम मोदी ने कच्छ के सिख किसानों से मंगलवार को बातचीत की।

एक किसान ने बताया कि हमारी मुलाकात गुरुद्वारे के मुद्दे पर हुई। कृषि बिल के आंदोलन को लेकर हमारी कोई बातचीत नहीं हुई।

गौरतलब है कि कच्छ जिले में भारत-पाकिस्तान सीमा के निकट करीब पांच हजार से अधिक सिख परिवार रहते हैं। इनमें से ही कुछ किसानों ने पीएम मोदी से मुलाकात की।

मोदी ने आज कच्छ में कई परियोजनाओं का उद्धघाटन किया और साथ ही सोलर पार्क की आधारशिला रखी।

कच्छ को परियोजनाओं की सौगात के अलावा पीएम मोदी कच्छ के सिख मूल के किसानों से मिले और माना जा रहा है कि उनकी गुजरात यात्रा का यही मुख्य मकसद था।

PM Modi visit kutch in Gujarat to meet sikh farmers amid farmers protest

इस अवसर पर अपने संबोधन में पीएम मोदी ने जमकर विपक्ष को कोसा और कहा कि आज जो विपक्ष नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहा है। सत्ता में रहते हुए उन्होने भी इस संशोधन को लाने की तैयारी की थी

लेकिन इच्छा शक्ति मजबूत नहीं थी। हमारी सरकार की ईमानदार नियत,हमारी सरकार के ईमानदार प्रयास और जिसको देश के हर कोने के किसान ने आशीर्वाद दिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली में किसानों को डराया जा रहा है।

मुझे विश्वास है कि देशभर के किसानों के आशीर्वाद की ताकत देश को भ्रमित करने वालों को मुहंतोड़ जवाब देंगे। देश के जागरुक किसान गुमराह किसानों को जवाब देंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली के बॉर्डर पर हजारों किसान नए कृषि बिलों को लेकर बीते 20 दिनों से आंदोलन कर रहे है।

सरकार इस आंदोलन को राजनीति से प्रेरित बता रही है जबकि सीमा पर डटे हजारों बुजुर्ग और मध्यम आयु वर्गीय किसानों ने अपने आंदोलन(Kisan andolan) से सभी राजनीतिक दलों को एकदम दूर रहने को कहा है।

इनमें से कई किसान ऐसे है जिन्होंने आजादी की लड़ाईयां लड़ी है,तो कई किसानों के बेटे सरहद पर तैनात जवान है।

PM Modi visit kutch in Gujarat to meet sikh farmers amid farmers protest

दरअसल, सरकार का आरोप है कि कृषि बिलों का विरोध करने वाले ज्यादातर किसान पंजाब-हरियाणा के सिख किसान है जबकि ग्राउंड रिपोर्ट से स्पष्ट है कि इस आंदोलन से जुड़े किसान उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान और देश के कई अन्य राज्यो से भी आएं है।

किसान दिल्ली की हाड कंपाती ठंड में शांतिपूर्ण बैठकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे है और केंद्र से नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे है लेकिन सरकार लगातार इन कृषि बिलों को किसानों का हितैषी बता रही है

और अपना रुख साफ कर चुकी है कि वह बातचीत को तैयार है लेकिन किसी भी हालत में इन कानूनों को वापस नहीं लेगी। जबकि किसानों ने भी अपने आंदोलन को तेज करते हुए साफ कह दिया है कि नए कृषि कानूनों(New farm laws 2020) को रद्द करने से लेकर उन्हें कुछ मंजूर नहीं।

इस तरह किसान आंदोलन पर सरकार और किसानों के बीच गतिरोध बरकरार है।

ऐसे में पीएम मोदी अपने गृह राज्य गुजरात के कच्छ में सिख किसानों से मिलने पहुंचे है। इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे है। इस अवसर पर मोदी ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की सर्वोपरि हितैषी है।

PM Modi visit kutch in Gujarat to meet sikh farmers amid farmers protest

खेती में कई बरसों से सुधार की मांग की जा रही थी और उनकी सरकार ने नए कृषि बिल किसानों की आय दोगुना करने के लिए ही लाएं है।

पीएम मोदी ने यहां किसान विकास योजना के अंतर्गत कच्छ जिला सहकारी दूध उत्पादन संघ लिमिटेड द्वारा 129 करोड़ रुपए से अधिक के खर्च से तैयार होने वाले डेरी प्लांट का भूमि पूजन भी किया।

ये परियोजना भी किसानों के लिए ही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब राज्य सरकार की ओर से 8.37 करोड़ रुपए की सहायता से कच्छ जिले में वर्ष 2013-14 में 2 लाख लीटर की क्षमता के मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट की शुरुआत की गई थी।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि वक्त के साथ बदलाव करना गुजरात की ताकत है, यहां की खेती को आधुनिकता से जोड़ा गया. गुजरात में किसान डिमांड वाली फसलों की पैदावार करता है. पीएम मोदी ने कहा कि डेयरी और अन्य सेक्टरों में सरकार टांग नहीं अड़ाती है।

PM Modi visit kutch in Gujarat to meet sikh farmers amid farmers protest 

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि दिल्ली के आसपास आजकल किसानों को डराने की साजिश चल रही है। क्या अगर कोई आपसे दूध लेने का कॉन्ट्रैक्ट करता है, तो क्या भैंस लेकर चला जाता है?

जैसी आजादी पशुपालकों को मिल रही है, वैसी ही आजादी हम किसानों को दे रहे हैं। कई वर्ष से किसान संगठन इसकी मांग करते थे, विपक्ष आज किसानों को गुमराह कर रहा है लेकिन अपनी सरकार के वक्त ऐसी ही बातें करता था.।

कृषि कानून के मसले पर दिल्ली की सीमाओं पर करीब बीस दिन से किसान डटे हुए हैं। किसानों की मांग है कि कृषि कानूनों को वापस ले लिया जाए और पुराना सिस्टम ही चालू रखा जाए। अगर बदलाव करना है तो MSP को कानून का हिस्सा बना दिया जाए।

हालांकि, सरकार की ओर से लगातार कृषि कानूनों को किसानों के हित के लिए बताया जा रहा है। किसानों की मांग को देखते हुए सरकार कुछ हद तक संशोधन को राजी हुई है लेकिन किसान पीएम मोदी(PM Modi) से मुलाकात कर कृषि कानूनों को रद्द करवाने पर अड़े हैं।

PM Modi visit kutch in Gujarat to meet sikh farmers amid farmers protest

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × four =

Back to top button