breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

Farmers Protest:कृषि कानून पर नहीं झुकेगी सरकार,किसानों के साथ आज बैठक रद्द

इसलिए, बुधवार,9 दिसंबर को प्रस्तावित किसानों और सरकार के बीच अब कोई बैठक नहीं होगी....

Farmers Protest latest:Govt will not withdraw new farm laws

नई दिल्ली:भारत बंद(Bharat Bandh) के दौरान गृहमंत्री अमित शाह(Amit Shah) ने किसान नेताओं को मीटिंग के लिए 8 दिसंबर की शाम को बुलाया था

किसानों के साथ मंगलवार देर रात तक चली इस बैठक में भी कोई बीच का रास्ता नहीं निकला।

बैठक के बाद अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हनन मुला ने बताया कि सरकार नए कृषि कानून (New farm laws) वापस लेने को तैयार नहीं है।

Farmers Protest latest:Govt will not withdraw new farm laws

इसलिए, बुधवार,9 दिसंबर को प्रस्तावित किसानों और सरकार के बीच अब कोई बैठक नहीं होगी।

किसान सभा के महासचिव हनन मुला ने आगे कहा कि अमित शाह बुधवार को किसानों को एक प्रस्ताव देंगे। इस प्रस्ताव पर दोपहर 12 बजे सिंघु बॉर्डर (दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर) पर किसान संघ विचार-विमर्श के लिए एक बैठक करेंगे।

इस बैठक में शामिल नेताओं के अनुसार,गृहमंत्री अमित शाह के साथ किसानों की मीटिंग में कोई निष्कर्ष नहीं निकला।

किसान नए कृषि कानून रद्द करवाने की मांग करते रहे जबकि सरकार ने फिर से संशोधन करने के अपने प्रस्ताव को दोहराया है।

अब किसानों के साथ 9 दिसंबर को प्रस्तावित बैठक नहीं होगी(meeting with farmers cancel today) बल्कि सरकार अपना प्रस्ताव लिखित में किसानों को बुधवार को देगी और तब किसान संयुक्त किसान मोर्चा में उस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे।

गौरतलब है कि मंगलवार शाम को अमित शाह के साथ बैठक के लिए किसान नेताओं को इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च (Indian Council of Agricultural Research) के इंटरनेशनल गेस्ट हाउस (International Guest House) ले जाया गया था।

जब किसानों को बताया गया कि मीटिंग वर्चुअल होगी तो उन्होंने इसका विरोध किया।

एक किसान इस बात से नाराज होकर सिंघु बॉर्डर के लिए भी निकल गए। इसके बाद अफसरों ने शाह को पूरी जानकारी दी।

बाद में किसानों के साथ गृह मंत्री की बैठक शुरू हुई।

FarmersProtest latest:Govt will not withdraw new farm laws

 

नए कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए, बीच का कोई रास्ता नहीं

भारतीय किसान सभा के महासचिव हनन मुला ने कहा, ” गृह मंत्री ने यह साफ किया कि सरकार कृषि कानूनों को रद्द नहीं करेगी।

अमित शाह जी ने कहा कि सरकार जिन संशोधनों के पक्ष में हैं उन्हें कल लिखित में देगी। हम लिखित संशोधनों को लेकर सभी 40 किसान यूनियन से चर्चा करने के बाद बैठक में शामिल होने के बारे में फैसला लेंगे।’

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘ हम संशोधन नहीं चाहते। हम चाहते हैं कि इन कानूनों को निरस्त किया जाए। यहां बीच का कोई रास्ता नहीं है। हम कल की बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे।’

 

आज होगा फैसला छठे दौर की वार्ता पर

FarmersProtest latest:Govt will not withdraw new farm laws

हनन मुला ने कहा है कि बुधवार की दोपहर को सिंघु बॉर्डर पर किसान नेताओं के साथ होने वाली बैठक में छठे दौर की वार्ता में शामिल होने को लेकर अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

इससे पहले, 13 किसान नेताओं को शाह के साथ इस बैठक के लिए बुलाया गया था। बैठक रात आठ बजे शुरू हुई।

किसान नेताओं में 8 पंजाब से थे जबकि पांच देश भर के अन्य किसान संगठनों से जुड़े थे।

 

किसान और अमित शाह के साथ बैठक में शामिल थे ये नेता

सरकार की ओर से आंदोलनकारी किसानों से जारी वार्ता का नेतृत्व करने वाले केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, खाद्य मंत्री पीयूष गोयल और उद्योग एवं वाणिज्य राज्य मंत्री सोम प्रकाश भी राष्ट्रीय कृषि विज्ञान परिसर, पूसा में हुई बैठक में मौजूद रहे।

प्रदर्शन कर रहे किसानों का दावा है कि ये कानून उद्योग जगत को फायदा पहुंचाने के लिए लाए गए हैं और इनसे मंडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की व्यवस्था खत्म हो जाएगी।

Farmers Protest latest:Govt will not withdraw new farm laws

 

किसानों का धरना-प्रदर्शन 12 दिनों से चल रहा है

बीते 12 दिनों से सिंघु बार्डर पर किसान धरना-प्रदर्शन(Farmers Protest)कर रहे हैं। नए कृषि कानूनों (new farm laws 2020) को वापस लेने की मांग को लेकर मंगलवार को किसान संगठनों के ‘भारत बंद’(Bharat Bandh) का आह्वान किया था।

इस दौरान देश के कई हिस्सों में दुकानें एवं वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों के बंद रहने, यातायात बाधित होने से जनजीवन प्रभावित हुआ।

बंद के दौरान प्रदर्शनकारियों ने मुख्य सड़क एवं रेल मार्गों को बाधित किया। हालांकि बंद लगभग शांतिपूर्ण रहा और किसानों ने अपनी ताकत दिखाई।

Farmers Protest latest:Govt will not withdraw new farm laws

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen + twenty =

Back to top button