breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Hartalika Teej 2021:हरतालिका तीज का व्रत अगर रख रही है पहली बार,इन नियमों का रखें ध्यान

यदि आप उन महिलाओं में से है जो हरतालिका तीज का व्रत पहली बार धारण कर रही है,तो जरुरी है कि आप हरतालिका तीज व्रत के नियम-कायदों का जान लें।

hartalika-teej-2021-first-time-fasting-women-know the-niyam

नई दिल्ली:हरतालिका तीज (Hartalika Teej)शंकर भगवान और मां पार्वती को समर्पित त्यौहार है। इस वर्ष हरतालिका तीज का व्रत गुरुवार, 9 सिंतबर 2021(hartalika-teej-2021)को है। 

यदि आप उन महिलाओं में से है जो हरतालिका तीज का व्रत पहली बार धारण कर रही है,तो जरुरी है कि आप हरतालिका तीज व्रत के नियम-कायदों का जान(hartalika-teej-2021-first-time-fasting-women-know the-niyam) लें।

आपकी सुविधा के लिए हम लाएं है हरतालिका तीज व्रत से जुड़े विशेष नियम और उनका महत्व।

हरतालिका तीज व्रत भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को किया जाता है। इस व्रत को सुहागिनें और कुंवारी कन्याएं दोनों रखती हैं।

Hariyali Teej 2021: आज है हरियाली तीज, जानें शुभ-मुहूर्त पूजा-विधि

जहां शादीशुदा महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए इस व्रत को धारण करती है तो वहीं कुंवारी कन्याएं अच्छे वर की प्राप्ति के लिए हरतालिका तीज व्रत को रखती है।

चलिए अब आपको हरतालिका तीज व्रत के नियम बताते है।

हरतालिका तीज व्रत के नियम (Hartalika Teej Fasting Niyam)

hartalika-teej-2021-first-time-fasting-women-know the-niyam

यह व्रत बहुत जटिल होता है। इस व्रत को पूरा करने के लिए कुछ खास नियमों का पालन करना होता है।

-जैसे यह व्रत- निर्जला और निराहार होता है। इस व्रत को रखने वाले लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि, वे गलती से भी जल या अनाज का सेवन ना करें।

हालांकि हर जगह अलग-अलग मान्याताएं हैं। कुछ लोग व्रत पूर्ण होते ही जल ग्रहण कर लेते हैं, तो कहीं व्रत के अगले दिन जल ग्रहण किया जाता है।

-इस व्रत को कर रही सुहागिनें दुल्हन की तरह सजती संवरती हैं। वे अपने हाथों में मेहंदी और लाल-लाल चूड़ियां पहनती हैं।

सोलह श्रृंगार करती हैं। गहनों से सजी-धजी रहती हैं। पैरों में महावर, पायल, बिछिया पहनती हैं। वहीं इस व्रत को करने वाली कुंवारी कन्याएं भी सजती संवरती हैं।

Nag Panchami Special:नागपंचमी पर क्या आप भी सांप को पिलाते है दूध?,हो सकता है ये अनिष्ट

-इसके बाद शुभ मुहर्त के मुताबिक, विधि-विधान से भगवान शिव की पूजा की जाती है और पूरी रात बिना सोये भगवान शिव की भक्ति, कीर्तन-जागरण किया जाता है।

hartalika-teej-2021-first-time-fasting-women-know the-niyam

-जो भी इस व्रत को पहली बार करने जा रही हैं, वे महिलाएं ख्याल रखें कि रात में सोये ना और पूरा ध्यान भगवान शिव व माता पार्वती की पूजन में लगायें।

ऐसी मान्यता है कि यदि कोई व्रत के दिन सो जाता है,तो यह अशुभ होता है।

-मान्यता है कि हरतालिका तीज (Hartalika Teej) के व्रत को अगर आपने एक बार उठा लिया, तो इसे बीच में नहीं छोड़ते। हर वर्ष आपको इसे पूरे विधि-विधान से पूर्ण करना ही होगा।

-अगर आप इस व्रत को रखने जा रही हैं तो व्रत वाले दिन आपको अपने क्रोध पर काबू पाना आना चाहिए।

-इस व्रत को रखते समय मन शीतल और सुकून से भरा होना चाहिए। इस व्रत को करते समय खुद पर संयम रखना चाहिए।

हरतालिका तीज (Hartalika Teej) का व्रत रख रहीं महिलाएं या कुंवारी कन्याएं बुजुर्गों का खास ख्याल रखें। अपने से छोटे हो या बड़े उन्हें ऐसा कुछ ना कहें, जिससे उनका दिल दुखे।

हरतालिका तीज (Hartalika Teej) रख रहीं महिलाएं पति से किसी भी प्रकार का अपशब्द ना कहें। उनसे झगड़े ना। परिवार में किसी के भी साथ जाने-अनजाने बुरा बर्ताव न करें।

hartalika-teej-2021-first-time-fasting-women-know the-niyam

Watch This:

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 1 =

Back to top button