breaking_newsअन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

आखिकार अमेरिकी सेना ने छोड़ा अफगानिस्तान, 20साल का US मिशन खत्म, सैकड़ों लड़ाकू विमानों को किया बेकार

तालिबान ने भी अमेरिका को 31तक अफगानिस्तान छोड़ने का अल्टीमेटम दिया था,जिसे अमेरिका ने सिरे से खारिज कर दिया था। लेकिन अब ठीक 31अगस्त तक अमेरिका ने अफगानिस्तान पूरी तरह से छोड़ ही दिया।

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

नई दिल्ली/वाशिंगटन:अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के 20 साल बाद बाद आखिरकार आज अमेरिका सेना(US military)ने अफगानिस्तान(Afghanistan)छोड़ ही(us-military-left-Afghanistan)दिया

और इसके साथ ही अफगानिस्तान में चला अमेरिकी मिशन भी 20 साल बाद खत्म हो(ends 20 years US mission) गया है।

अमेरिका(US)ने सैनिकों,अफगानिस्तान में रह रहे अमेरिकी नागरिकों,राजदूतों, उनके स्टाफ और कुछ अफगान नागरिकों को काबुल से निकालने के लिए चलाएं गए अपने सैन्य मिशन की समाप्ति की घोषणा मंगलवार 31अगस्त तक कर दी।

us-military left Afghanistan finally-ends 20 years US mission-2

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

भारतीय समयानुसार अमेरिकी सेना का अफगानिस्तान पूरी तरह से छोड़ने(us-military-evacuation-inAfghanistan) का मिशन देर रात तकरीबन एक बजे तक चला।

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

एक बजे अंतिम अमेरिकी विमान ने काबुल एयरपोर्टKabul Airport) से उड़ान भरी।

अब काबुल पर कब्जे की तैयारी में Taliban,बोला- भारतीयों को हमसे खतरा नहीं

अब अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के बाद अफगानिस्तान के भविष्य पर सवाल खड़े हो गए है।

तालिबान का नया राज अफगान महिलाओं के लिए क्या कहर ढाहेगा,इसकी बानगी अब देखने को मिलेगी।

चूंकि अमेरिका ने अफगानिस्तान छोड़ने के बाद यह घोषणा कर दी है कि अब उसका डिप्लोमेटिक मिशन भी काबुल में नहीं रहेगा, इसे कतर शिफ्ट कर दिया गया है।

अफगानिस्तान से अमेरिका के जाने के बाद पूरे विश्व के मन में एक ही सवाल उठ रहा है कि अब अफगानिस्तान में क्या होने वाला है?

अफगानिस्तान में  अपने 20 साल पुराने सैन्य अभियान का अमेरिकी सेना (US military) ने (US Afghanistan Mission Ends) मंगलवार को अंत कर दिया।

Breaking News : अमेरिका ने लिया काबुल ब्लास्ट का बदला, IS पर ड्रोन स्ट्राइक

लेकिन काबुल एय़रपोर्ट (Kabul Airport) से  अंतिम उड़ान भरने से पहले ही अमेरिकी फौज ने बहुत चतुराई से अपने सभी लड़ाकू विमानों,हेलीकॉप्टरों और हथियारबंद वाहनों (Military Aircraft, Armored Vehicles) को निष्क्रिय कर दिया(destroys-hundreds-of-aircraft-armed-vehicles) है।

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

जिससे कि तालिबान (Taliban) उनका गलत इस्तेमाल न कर सकें।

गौरतलब है कि अमेरिकी सेना ने काबुल पर 15 अगस्त को तालिबान के कब्जे के बाद सिर्फ 15 दिनों में अपने नागरिकों और मददगारों की सुरक्षित वापसी के साथ इस काम को पूरा किया।

तालिबान ने भी अमेरिका को 31तक अफगानिस्तान छोड़ने का अल्टीमेटम दिया था,जिसे अमेरिका ने सिरे से खारिज कर दिया था। लेकिन अब ठीक 31अगस्त तक अमेरिका ने अफगानिस्तान पूरी तरह से छोड़ ही दिया।

अमेरिका ने करीब सवा लाख लोगों को अफगानिस्तान (Taliban captured Afghanistan) से इन 15 दिनों में बाहर निकाला है।

उन्होंने कहा कि ये विमान अब कभी हवा में नजर नहीं आएंगे। इनका कोई भी इस्तेमाल नहीं कर पाएगा।

उनका कहना है कि इनमें से ज्यादा मिशन के काम के नहीं रह गए थे, फिर भी इन्हें बेकार कर दिया गया है।

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

मैकेंजी ने कहा कि पेंटागन (Pentagon) ने काबुल एयरपोर्ट के संचालन के लिए करीब 6 हजार सैनिकों की एक फोर्स तैयार की थी और 14 अगस्त को इसी के जरिये अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षित वापसी शुरू हुई थी

उन्होंने खुलासा किया कि अमेरिकी सेना 70 हथियारबंद वाहन (MRAP armored tactical vehicles) अफगानिस्तान में छोड़ गई है।

इनमें से हर एक वाहन की कीमत 10 लाख डॉलर है। इसके साथ 27 हमवी (Humvees) भी वहां रह गए हैं।

लेकिन अमेरिकी सेना ने इन्हें ऐसा बना दिया है कि ये कभी किसी के काम के नहीं होंगे।

काबुल ब्लास्ट : 13 अमेरिकी सैनिकों समेत मौत का आंकड़ा 100 के पार

अमेरिका ने काबुल एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए रॉकेट डिफेंस सिस्टम (C RAM system counter rocket) भी लगाया था, ताकि उसके सैनिकों और विमानों को रॉकेट हमलों से बचाया जा सके।

इसी सिस्टम ने सोमवार को काबुल हवाई अड्डे पर दागे गए 5 रॉकेट को निष्क्रिय किया था।

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

मैकेंजी ने कहा कि अमेरिका के आखिरी विमान के रवाना होने तक इसे चालू रखा गया। उन्होंने माना कि इस रॉकेट डिफेंस सिस्टम को निष्क्रिय करने में बहुत ज्यादा वक्त लगा।

इन्हें तोड़ने और डिएक्टिवेट करने के बाद इनका दोबारा इस्तेमाल संभव नहीं होगा।

us-military-left-Afghanistan-finally-ends-20-years-US-mission-destroys-armed-vehicles

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + 10 =

Back to top button