breaking_newsअन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

अब काबुल पर कब्जे की तैयारी में Taliban,बोला- भारतीयों को हमसे खतरा नहीं

तालिबान(Taliban) ने कहा है कि अफगानिस्तान( Afghanistan) में रहने वाले भारतीयों को उनसे कोई खतरा नहीं है। तालिबान ने भरोसा दिलाया है कि वो अफगानिस्तान में मौजूद भारतीय दूतावासों को निशाना नहीं बनाएगा।

Taliban-near-to-Kabul-says-Indians-no-threat-from-US-in Afghanistan

काबुल:तालिबान(Taliban)अबलगभग पूरे अफगानिस्तान(Afghanistan)पर कब्जा करने की फिराक में है।

शुक्रवार को तालिबान ने हेरात, कंधार सहित अफगानिस्तान के आधे से ज्यादा शहरों को अपने कब्जे में ले(Taliban captured Kandahar)लिया।

अब तालिबान राजधानी काबुल के दरवाजे तक जा(Taliban-near-to-Kabul)पहुंचा है और इस बात की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता कि अब तालिबान जल्द ही काबुल को भी अपने नियंत्रण में ले लेगा।

इन सबकी आशंका के बीच जहां अमेरिका अपने लोगों को एयरलिफ्ट कराने में जुट गया है तो वहीं तालिबान(Taliban) के प्रवक्ता ने एक भारतीयों के लिए एक बड़ा बयान दे डाला है।

तालिबान(Taliban) ने कहा है कि अफगानिस्तान( Afghanistan) में रहने वाले भारतीयों को उनसे कोई खतरा(Indians-no-threat-from-US-in Afghanistan) नहीं है।

चीन में एक फिर बढ़ा कोरोना का कहर,Delta Variant तेजी से पसार रहा पांव

तालिबान ने भरोसा दिलाया है कि वो अफगानिस्तान में मौजूद भारतीय दूतावासों को निशाना नहीं बनाएगा।

Taliban-near-to-Kabul-says-Indians-no-threat-from-US-in Afghanistan

शुक्रवार तक आतंकी संगठन तालिबान अब अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की चौखट तक जा पहुंचा है। हालात कभी भी और ज्यादा खराब हो सकते है।

अमेरिका राजधानी काबुल से एक दिन में हजारों लोगों को एयरलिफ्ट करने की तैयारी कर रहा (US-Evacuated-their-people)है।

तालिबान द्वारा अपने आध्यात्मिक गढ़ कंधार, जो अफगानिस्तान का दूसरा सबसे बड़े शहर है, पर नियंत्रण करने के बाद भी सरकार के नियंत्रण में कुछ शहर बचे हुए हैं।

तालिबानी हमले के पैमाने और स्पीड ने अफगानों और अमेरिका के नेतृत्व वाले गठबंधन को झकझोर दिया है, जिसने लगभग 20 साल पहले 11 सितंबर के हमलों के मद्देनजर तालिबान पर अंकुश लगाने के बाद देश में अरबों का निवेश किया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी के अंतिम आदेश से कुछ दिन पहले, व्यक्तिगत सैनिकों, इकाइयों और यहां तक ​​​​कि पूरे डिवीजनों ने अपने हथियार डाल दिए थे।

इससे विद्रोहियों को और तेजी से आगे बढ़ने में मदद मिली।

तालिबानियों ने शुक्रवार को लोगहर प्रांत की राजधानी पुल-ए-आलम पर भी कब्जा कर लिया। अब यहां से काबुल(Kabul) सिर्फ 50 किलोमीटर (30 मील) दूर है। राजधानी के निवासी खैरदीन लोगारी ने भ्रम की स्थिति बताई है।

भारत को झटका,मेहुल चोकसी को डोमिनिका कोर्ट से सशर्त जमानत,एंटीगा जाने की छूट

समाचार एजेंसी  AFP से कहा, “हम नहीं जानते कि क्या हो रहा है?” 

Taliban-near-to-Kabul-says-Indians-no-threat-from-US-in Afghanistan

वहीं अभी फिलहाल तालिबान का रुख भारतीयों के लिए नरम दिख रहा है। तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद सुहैल शाहीन ने कहा, “हम भारतीय राजनयिकों और दूतावास को आश्वास्त करना चाहते हैं कि हमारी तरफ से उन्हें खतरा नहीं है।

हम दूतावासों को खतरा नहीं बनाएंगे। ये बात हमने अपने बयान में एक नहीं बल्कि कई बार कही है। ये हमारा वादा है जो मीडिया में भी है।”

तालिबान के प्रवक्ता से पूछा कि वह भारत(India) को आश्वस्त कर सकता है कि उसके खिलाफ अफगान धरती का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

Taliban-near-to-Kabul-says-Indians-no-threat-from-US-in Afghanistan

इसपर प्रवक्ता ने कहा, ‘हमारी एक सामान्य नीति है कि हम किसी भी पड़ोसी देश के खिलाफ अफगान धरती का इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’

अफगानिस्तान में भारत की सहायता से चल रही परियोजनाओं पर तालिबान ने कहा, ‘हम अफगान के लोगों के लिए किए गए हर काम की सराहना करते हैं जैसे बांध, इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट और जो भी अफगानि के विकास, पुनर्निर्माण और आर्थिक समृद्धि के लिए किया गया है।

तालिबान ने अफगानिस्तान के समूचे दक्षिणी हिस्से पर कब्जा किया

Taliban Captured Afghanistan all southern parts

तालिबान ने शुक्रवार को चार और प्रांतों की राजधानियों पर कब्जा करते हुए देश के समूचे दक्षिणी भाग पर अपना नियंत्रण स्थापित कर लिया और धीरे-धीरे काबुल की तरफ बढ़ रहा है।

काबुल के लोग डर और दहशत के साएं में है।

अफगान के दूसरे और तीसरे सबसे बड़े शहर पर नियंत्रण के बाद तालिबान ने हेलमंद प्रांत की राजधानी लश्करगाह पर कब्जा कर लिया है।

लगभग दो दशक के युद्ध के दौरान हेलमंद में सैकड़ों की संख्या में विदेशी सैनिक वहां मारे गए थे।

दक्षिणी क्षेत्र पर कब्जे का मतलब है कि तालिबान ने 34 प्रांतों में से आधे से ज्यादा की राजधानियों पर नियंत्रण बना लिया है।

ऐसे में जब अमेरिका कुछ सप्ताह बाद अपने आखिरी सैनिकों को वापस बुलाने वाला है तालिबान ने देश के दो-तिहाई से अधिक क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है।

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

 

Taliban-near-to-Kabul-says-Indians-no-threat-from-US-in Afghanistan

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 1 =

Back to top button