breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबिजनेसमार्केट

Stock Market : सेंसेक्स में करीब 600 तो निफ्टी 165 अंक गिरकर बंद हुए

शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुए,

stock-market close down sensex nifty banknifty close down

मुंबई (समयधारा) : बड़ी गिरावट के बाद बाजार थोड़ा सा संभला और पर फिर भी शेयर मार्केट गिरावट के साथ बंद हुआ l 

बाजार बीच में थोड़ा संभला था पर अंत में फिर गिरावट का दौर जारी रहा l 

बाजार के अंत में BSE का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेसेंक्स 598.57अंक यानी 1.16 फीसदी की गिरावट के साथ 50,846.08 के स्तर पर बंद हुआ है।

वहीं NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 164.85 अंक यानी 1.08 फीसदी टूटकर 15,080.75 के स्तर पर बंद हुआ है।

MCX पर चांदी 67,500  रुपये प्रति 10 किलोग्राम के स्तर के करीब पहुंच गया है। डॉलर में मजबूती से चांदी में गिरावट आई है।

US में बॉन्ड यील्ड बढ़ने से चांदी पर दबाव दिखा है। stock-market close down sensex nifty banknifty close down

सोने में बड़ा ब्रेकडाउन दिखा है। MCX पर सोना 45 हजार के नीचे फिसल गया है जो 10 महीने का निचला स्तर है।

डॉलर में मजबूती और अमेरिका में बॉन्ड यील्ड बढ़ने से सोने पर दबाव बढ़ा है।

यहां से सोने में और कितनी गिरावट देखने को मिलेगा। वैक्सीन रोलआउट में तेजी से कमजोरी देखने को मिल रही है।

आज सुबह, 

WEEKLY EXPIRY के दिन बाजार की शुरुआत कमजोरी के साथ हुई है।

BSE का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेसेंक्स करीब 696 अंक यानी 1.35 फीसदी की गिरावट के साथ 50,749.20 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।

वहीं NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी  222.15 अंक यानी 1.46 फीसदी टूटकर 15023 के स्तर पर नजर आ रहा है।

stock-market close down sensex nifty banknifty close down

शेयर बाजार में तीन दिनों की तेजी के बाद आज बाजार में दबाव, सेंसेक्स निफ्टी और बैंक निफ्टी नीचे (9.15am)

देश के शेयर बाजारों में गिरावट का रुख है l तीन दिनों की तेजी के बाद आज बाजार में जबरदस्त गिरावट देखने को मिल रही है l

सेंसेक्स करीब 700 अंक से ज्यादा तो निफ्टी भी करीब 200 अंक से ज्यादा नीचे गिरकर ट्रेड कर रहा है l

बैंक निफ्टी  भी पीछे नहीं है l बैंक निफ्टी में भी 700 अंक से ज्यादा की गिरावट है l

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + 8 =

Back to top button