breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबीमारियां व इलाजराजनीतिहेल्थ
Trending

Big News: DRDO की कोरोना दवा ‘2 DG’ आज हुई लॉन्च,मानी जा रही है असरदार!

इस कोरोना रोधी दवा से कोरोना संक्रमित मरीजों की ऑक्सीजन पर निर्भरता काफी कम हो जाती है...

DRDO’s anti-COVID-19 drug 2-DG launched today

नई दिल्ली: देश में कोरोना(Corona)की दूसरी लहर बहुत खतरनाक और जानलेवा साबित हो रही है। ऐसे में DRDO की कोरोना रोधी दवा ‘2 डीजी’ सोमवार,17 मई लॉन्च को लॉन्च हो गई (DRDO’s anti-COVID-19 drug 2-DG launched today)है।

इसे कोरोना मरीजों पर काफी असरदार बताया जा रहा है।

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने इस कोविड रोधी दवा को तैयार किया है।

कोरोना वैक्सीन के साथ-साथ कोविड-19रोधी दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-DG) के 10 हजार पैकेट सोमवार को बांटे जाएंगे जोकि रक्षामंत्री कुछ चुनिंदा अस्पताल के डॉक्टरों को सौंपा।

कोविड-19 रोधी दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-DG) की लॉन्चिंग का कार्यक्रम दिल्ली के डीआरडीओ भवन में आयोजित हुआ।

कहा जा रहा है कि देश की इस कोरोना रोधी दवा से कोरोना संक्रमित मरीजों की ऑक्सीजन पर निर्भरता काफी कम हो जाती है।

ऐसे में देश में बढ़ते कोरोना केसों के मद्देनजर इस दवा की लॉन्चिंग काफी राहतभरी खबर है।

 

DRDOकी COVID-19 रोधी दवा  2-DG का कैसे किया जाएगा सेवन?

DRDO के ट्रायल में पता चला  है कि यह दवा कोरोनावायरस(Coronavirus) से लड़ने बहुत असरदार है। इसके उपयोग से मरीज जल्द ठीक हो जाता है।

यह दवा एक तरह का सूडो ग्लूकोज है, जो वायरस की बढ़ने की क्षमता को रोकता है।

दरअसल,यह दवा एक पाउडर की तरह होती है, जिसे आसानी से पानी में घोलकर पिया जा सकता है। कोरोना से मचे हाहाकर के बीच यह दवा मरीजों के लिए रामबाण साबित हो सकती है।

गौरतलब है कि देश के दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने आपात इस्तेमाल के लिए इस दवा को मंजूरी दी है।

डीआरडीओ के इनमास लैब के वैज्ञानिकों ने यह दवा डाक्टर रेड्डी लैब्स के साथ मिलकर बनाई है।

इस दवा के मरीजों पर इस्तेमाल को डीसीजीआई(DCGI) ने भी मंजूरी दे दी है। इस दवा का डीआरडीओ ने करीब 110 मरीजों पर ट्रायल किया है और सभी के परिणाम काफी बेहतर रहे हैं।

DRDO द्वारा विकसित कोविड रोधी दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-DG)((DRDO’s anti-COVID-19 drug 2-DG)की 10 हजार डोज का पहला बैच अगले सप्ताह की शुरुआत में लॉन्च किया जाएगा।

अधिकारियों ने बताया कि हम इसके उत्पादन को तेज कर रहे हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा कोविड मरीजों के लिए यह उपलब्ध हो सके।

इस दवा को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की लैब इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड अलाइड साइंस (INMAS) ने हैदराबाद के डॉ. रेड्डी लेबोरेटरी के साथ मिलकर तैयार किया है।

2-डीजी दवा पाउडर के रूप में पैकेट में आती है, इसे पानी में घोल कर पीना होता है.

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने पिछले हफ्ते बेंगलुरु में डीआरडीओ के कैंपस का दौरा किया, जहां वैज्ञानिकों ने उन्हें महामारी से निपटने में DRDO के प्रयासों के बारे में जानकारी दी.

2डीजी दवा कोविड के खिलाफ युद्ध में गेम चेंजर की भूमिका निभा सकती है। DRDO द्वारा विकसित 2-डीजी बड़ी उपलब्धि है और यह महामारी से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती।

इससे अस्पतालों में भर्ती मरीज तेजी से ठीक होंगे और चिकित्सकीय ऑक्सीजन पर भी निर्भरता घटेगी।

 

DRDO’s anti-COVID-19 drug 2-DG launched today

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + thirteen =

Back to top button