breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

Budget 2021-22Live update:मोबाइल हो सकता है महंगा,कुछ पार्ट्स पर टैक्स बढ़ा

मिडिल क्लास के लिए टैक्स स्लैब में कोई नई छूट या कोई बदलाव नहीं किया गया....

Budget 2021-22: budget 2021 highlights in Hindi

नई दिल्ली: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण कोरोना काल में पहला और अपना तीसरा बजट 2021-22 पेश कर रही है।

सीतारमण ने हाथ में बही खाता लेकर संसद में प्रस्थान किया है। उन्होंने बजट(Union Budget) पढ़ना शुरु कर दिया है।

इस वर्ष बजट पूरी तरह से पेपरलेस रखा गया है। चलिए बताते है बजट के प्रमुख एलान:

Budget 2021-22: budget 2021 highlights in Hindi:

-इसके साथ ही निर्मला सीतारमण ने बजट का समापन कर दिया। मिडिल क्लास के लिए टैक्स स्लैब में कोई नई छूट या कोई बदलाव नहीं किया गया।

सोना-चांदी पर कस्ट्म ड्यूटी घटाई गई। तांबे पर कस्टम ड्यूटी में कमी करके अब 2.5% कर दी गई है।

-मोबाइल के कुछ हिस्सों को अब कर के दायरे मे्ं लाया जाएगा। इससे मोबाइल महंगा हो सकता है। कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 2.5फीसदी कर दी गई है।

-2 महीनों में रिकॉर्ड जीएसटी कलेक्शन हुआ।

-3 साल पुराने टैक्स मामले अब नहीं खुलेंगे। स्टार्टअप के लिए टैक्स छूट एक साल आगे बढ़ी।कैपिटल गेन शूट एक साल बढ़ी।

-अफोर्डेबल हाउसिंग सोसाइटी पर ब्याज छूट सीमा सालभर तकबढ़ी।

-75वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को अब इनकम टैक्स रिटर्न भरने की जरूरत नहीं अगर उनकी आय का स्रोत सिर्फ पेंशन है।

-निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि एनआरआई लोगों को टैक्स भरने में काफी मुश्किलें होती थीं, लेकिन अब इस बार उन्हें डबल टैक्स सिस्टम से छूट दी जा रही है।

प्रत्यक्ष कर में बड़े सुधार के एलान वित्तमंत्री ने किए।

-डिजिटल इंडिया के लिए 37000 करोड़ का एलान।

-राजस्व घाटे के लिए वित्तमंत्री ने कहा कि  21-22 में वित्तीय घाटा 6.8% का अनुमान। 20-21 में वित्तीय घाटा 9.5% रहा।

डिजिटल पेमेंट पर 15000 करोड़ इंसेंटिव देंगे। नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को स्वीकार किया।

-पहली बार डिजिटल जनगणना होगी। जनगणना के लिए 3760करोड़ रुपये खर्च होंगे। नेशनल रिसर्च फाउंडेशन पर 50,000करोड़ खर्च होंगे। 

-उच्च शिक्षा के लिए कमीशन बनाया जाएगा। आदिवासी इलाकों में एकलव्य स्कूल खुलेंगे। चार करोड़ दलित छात्रोंं को योजना का लाभ होगा।

-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया है कि न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड इस बार PSLV-CS51 को लॉन्च करेगा. गगनयान मिशन का मानव रहित पहला लॉन्च इसी साल दिसंबर में होगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया कि ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत एक टर्बियूनल बनाया जाएगा, जो कंपनियों के विवादों का जल्द निपटारा करेगा।

-100 नए सैनिक स्कूल खोले जाएंगे। हायर एजुकेशन कमीशन का जल्द गठन होगा। लेह मे्ं केंद्रीय विश्वविद्यालय खुलेगा। 

वित्त मंत्री ने बताया कि अनुसूचित जाति के 4 करोड़ विद्यार्थियों के लिए 35 हजार करोड़ रुपये का ऐलान किया गया. इसी क्षेत्र में संयुक्त अरब अमीरात के साथ मिलकर स्किल ट्रेनिंग पर काम किया जा रहा है, जिससे लोगों को काम मिल सके। इसी में भारत और जापान मिलकर भी एक प्रोजेक्ट को चला रहे हैं।

-सभी मजदूरों को न्यूनतम वेतन दिया जाएगा। आदिवासी इलाकों में बुनियादी सुविधाएं। इन इलाकों में विद्यालय खुलेंगे।

-MSME की मजबूती के लिए 15000करोड़ का एलान। माइक्रो इरिगेशन फंड के लिए 5000 करोड़ की घोषणा।

-ग्रामीण इंफ्रां फंड के लिए 40,000करोड़ का एलान। मछली कारोबार के लिए पांच नए बंदरगाह। 71करो़ड़ लोगों को तक वन नेशन वन राशन कार्ड योजन लागू होगी।। 32 राज्यो में वन नेेशन वन राशन योजना।

-E-NAM के लिए 1000नई मंडियां। किसानों के लिए कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर लागू होगी।मंडियों को इंटरनेट से जोड़ा जाएगा।

20-21 में कपास के लिए हजार करोड़ दिए। गेहूं की खरीदारी बढ़कर 75हजार करोड़ होगी। 

किसानों के लिए बजट में बड़ा एलान। लागत से डेढ़ गुना ज्यादा देने का प्रयास। किसान हित के लिए सरकार काम कर रही है। यह कहते ही संसद में हंगामा हुआ। किसानों को 75हजार करोड़ से ज्यादा दिए।किसानों को MSP डेढ़ गुना ज्यादा दी गई।

किसानों से सरकारी खरीद पर जोर,किसानों की आय दोगुनी करना लक्ष्य- FY-20 में गेहूं पर किसानों को 62,802करोड़। वित्तमंत्री

निर्मला सीतारमण की ओर से कहा गया कि यूपीए सरकार से करीब तीन गुना राशि मोदी सरकार ने किसानों के खातों में पहुंचाई है. वित्त मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार की ओर से हर सेक्टर में किसानों को मदद दी गई है, दाल, गेंहू, धान समेत अन्य फसलों की एमएसपी बढ़ाई गई।

-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि विनिवेश के लिए सरकार लगातार काम कर रही है, कई कंपनियों की प्रक्रिया इस साल पूरी हो जाएगी। वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि इसी वर्ष LIC के आईपीओ को बाजार में लाया जाएगा।

-अगले साल कई PSU में विनिवेश।

-MSME के लिए विशेष व्यवस्था।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने स्टार्ट अप कंपनियों के लिए ऐलान किया। इसके तहत करीब एक फीसदी कंपनियों को बिना किसी रोक-टोक के शुरुआत में काम करने की मंजूरी दी जाएगी।

-डूबे कर्जों को लेकर सरकार का बड़ा एलान। बैंकों के डूबे कर्जे की ज्यादा से ज्यादा उगाही। डूबे कर्जों पर बनेगी मैनेजमेंट कंपनी। सरकारी बैंकों को 22000 करोड़ की मदद।

-सौर ऊर्जा कॉरपोरेशन के लिए 1000करोड़ का एलान।

-FDI की सीमा बढ़ाई जाएगी। बीमा क्षेत्र में FDI अब 74फीसदी होगा।बीमा कंपनियों पर भारतीयों का ही नियंत्रण।

-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया किया कि उज्ज्वला योजना के तहत एक करोड़ और लाभार्थियों को जोड़ा जाएगा, अभी तक 8 करोड़ लोगों को ये मदद दी गई। जम्मू-कश्मीर में भी गैस पाइपलाइन योजना की शुरुआत की जाएगी।

-बंगाल-तमिलनाडु-केरल में बनेंगे इकॉनोमिक कॉरिडोर।

-बिजली क्षेत्र में सुधार की नई योजना।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से बिजली क्षेत्र के लिए भी ऐलान किया गया।

-सरकार की ओर से 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक लागत की स्कीम लॉन्च की जा रही है, जो देश में बिजली से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने का काम करेगा।

-सरकार की ओर से हाइड्रोजन प्लांट बनाने का भी ऐलान किया गया है। बिजली क्षेत्र में PPP मॉडल के तहत कई प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा।

-2021-22 का बजट 6 स्तंभों पर टिका है। पहला स्तंभ है स्वास्थ्य और कल्याण, दूसरा-भौतिक और वित्तीय पूंजी और अवसंरचना, तीसरा-अकांक्षी भारत के लिए समावेशी विकास, मानव पूंजी में नवजीवन का संचार करना, 5वां-नवाचार और अनुसंधान और विकास, 6वां स्तंभ-न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन।

-मेट्रो के लिए 11हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है। दो तरह की मेट्रो सेवा शुरु होगी-मेट्रो लाइट-मेट्रो नियो।

-कोच्चि, बेंगलुरु, चेन्नई, नागपुर, नासिक में मेट्रो प्रोजेक्ट को बढ़ावा देने का ऐलान किया गया।

-2030 से नई रेल योजना शुरू होगी। परिवहन मंत्रालय को एक लाख 10हजार 55 करोड़ दिए जाएंगे।

-रेलवे को एक लाख करोड़ से ज्यादा की रकम दी जाएगी। पब्लिक बस के लिए 1.18लाख करोड़ का लक्ष्य। 

-बंगाल में नई सड़क पर 25,000करोड़ का खर्च किया जाएगा-वित्तमंत्री

-भारत माला प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाया जाएगा।

-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि हमने पिछले बजट में 4.21 लाख करोड़ कैपिटल एक्सपेंडीचर के लिए दिए थे। इस बार 4.39 लाख करोड़ रुपए खर्च होंगे। अगले साल 5.54 लाख करोड़ रुपए खर्च का प्रावधान है। 

-रेलवे डेडिकेटेड फ्रंट कॉरिडोर, NHAI के टोल रोड, एयरपोर्ट जैसे संसाधनों को असेट मोनेटाइजेशन मैनेजमेंट के दायरे में लाया जाएगाः वित्त मंत्री

-प्रोडक्शन लिंक्ड इनसेंटिव स्कीम- 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनने के लिए मैन्युफैक्चरिंग पर फोकस जरूरी है। ग्लोबल सप्लाई चेन में शामिल करना हमारा लक्ष्य है जिससे ग्लोबल चैंपियन बन सकें। सरकार ने इसके लिए 1.5 लाख करोड़ रुपए का ऐलान किया थाः वित्त मंत्री

-35 हजार करोड़ कोविड वैक्सीन के लिए होगा। जरूरत हुई तो और फंड दिया जाएगा। 2 लाख 32 हजार करोड़ रुपए का हेल्थ बजट। पिछली बार 92 हजार करोड़ का था। इस बार 137 फीसदी की बढोतरी हुई हैः वित्त मंत्री

-पुरानी कारों को स्क्रैप किया जाएगा। इससे प्रदूषण कंट्रोल होगा। तेल आयात बिल भी घटेगा। ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर बनाए जाएंगे। निजी गाड़ी 20 साल बाद इन सेंटर ले जाने होंगेः वित्त मंत्री

शहरी स्वच्छ भारत मिशन 2.0 पर एक लाख 41 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। अगले पांच साल में दो हजार करोड़ रुपए क्लीन एयर पर खर्च होंगेः वित्त मंत्री

-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की घोषणा की है।

-सरकार की ओर से 64180 करोड़ रुपये इसके लिए दिए गए हैं और स्वास्थ्य के बजट को बढ़ाया गया है. इसी के साथ सरकार की ओर से WHO के स्थानीय मिशन को भारत में लॉन्च किया जाएगा।

-कोरोना के कारण बजट की कॉपी की छपाई नहीं हुई है। देश में बजट(Budget) किसान आंदोलन के दौरान पेश हो रहा है। इस वर्ष बजट सत्र(Budget 2021) छोटा रखा गया है। इसका समापन 13फरवरी को हो जाएगा।

-राज्यसभा ने भी अपनी बैठक में बदलाव कर 13 फरवरी को बजट सत्र के पहले चरण का समापन करने का फैसला किया है।

-विभिन्न दलों के नेताओं ने एक सर्वदलीय बैठक के दौरान कृषि कानूनों को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन का मुद्दा उठाया था और कहा कि इस मुद्दे पर वे चर्चा चाहते हैं।

 

बजट पढ़ते हुए निर्मला सीतारमण नेकहा है कि हम मुश्किल हालातों में बजट पेश कर रहे है। लॉकडाउन के दौरान हमनें लोगों को खाने-पीने की चीजें दी। इस दौरान सफाई,रेलवे और बैंक के कर्मचारियों को एक सामान्य समय की तरह काम किया और हम इसकी सराहना करते है। 

मैं आभार व्यक्त कर रही हूं। सभी विधायकों ने अपने वेतन से भी योगदान किया। लॉकडाउन में हमने प्रधानमंत्री जन-कल्याण योजना का एलान किया और 2.76 लाख करोड़ का आवंटन किया।

कुल आत्मनिर्भर भारत पैकेज 27.1लाख करोड़ हमने आवंटित किया। उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया है। 

सरकार के आर्थिक पैकेज से आर्थिक हालात सुधरे। किसानों की आय दोगुनी होगी। देश में कोरोना मृत्यु दर भारत में सबसे कम। युवा शक्ति भारत को आगे ले जाएगी। हमारी GDP का 13% है आत्मनिर्भर भारत का पैकेज। आत्मनिर्भर पैकेज से भारत के हालात सुधरेंगे।

निर्मला सीतारमण की ओर से कोरोना वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ रुपये का ऐलान किया गया। वित्त मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य क्षेत्र के बजट को 137 फीसदी तक बढ़ाया गया है।

 

Budget 2021-22: budget 2021 highlights in Hindi

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty + nine =

Back to top button